Tuesday, March 31st, 2020

जो भारत माता की जय कहेंगे यहां वही रहेंगे 

पुणे । केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा है कि नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर(एनआरसी) के विरोध करने वाले समझ ले कि हम इस देश को हम धर्मशाला नहीं बनने देंगे। प्रधान ने कहा, 'क्या भगत सिंह और नेता जी सुभाष चंद्र बोस का बलिदान बेकार जाएगा? क्या लोगों ने स्वतंत्रता के लिए इसलिए लड़ाई की ताकी आजादी के 70 साल बाद देश इस पर विचार करेगा कि नागरिकता गिनें या न गिनें? क्या इस देश को हम धर्मशाला बनाएंगे?'


केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) का विरोध कर रहे लोगों पर शनिवार को निशाना साधा। धर्मेंद्र प्रधान ने विरोध करने वालों से सवाल किया कि क्या वे देश को ‘धर्मशाला' बनाना चाहते हैं। उन्होंने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के एक समारोह में कहा कि भगत सिंह और सुभाष चंद्र बोस जैसे लोगों ने देश की आजादी के लिए अपना जीवन कुर्बान कर दिया।

धर्मेंद्र प्रधान ने सवाल किया, ‘क्या अब हम हमारे देश को धर्मशाला बनाने जा रहे हैं, जहां कोई भी बिना रोक-टोक के घूम सके।' भाजपा नेता ने कहा, ‘इसलिए हमें यह चुनौती स्वीकार करनी होगी और हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि केवल वे लोग ही यहां रह सकें जो ‘भारत माता की जय' कहने के लिए तैयार हैं।'
 

Comments

CAPTCHA code

Users Comment