वाशिंगटन । फेसबुक को मैसेजिंग एप व्हाट्सएप और फोटो-शेयरिंग एप इंस्टाग्राम को बेचना पड़ सकता है। दरअसल, फेसबुक पर बाजार की प्रतिस्पर्ध को खत्म करने के लिए अपनी शक्ति का दुरुपयोग करने का आरोप लगा है, उस पर केस दर्ज किया गया है। अगर फेसबुक की केस में हार होती हैं तब व्हाट्सएप और इंस्टाग्राम को बेचना पड़ा सकता हैं। यूस फेडरल ट्रेड कमीशन ने फेसबुक पर लैंडमार्क एंटीट्रस्ट कानून के तहत केस दर्ज किया है। इसमें फेसबुक पर आरोप लगा है कि वह अपने प्रतिद्वंद्वियों को खरीदकर सोशल नेटवर्किंग की दुनिया में अपना एकाधिकार जमाना चाहता है।
बता दें कि फेसबुक ने मैसेजिंग एप व्हाट्सएप और फोटो-शेयरिंग एप इंस्टाग्राम को खरीदने के लिए मोटी रकम खर्च की थी। कंपनी ने साल 2012 में इंस्टाग्राम को 5362 करोड़ रुपए और साल 2014 में व्हाट्सएप को 1.65 लाख करोड़ रुपए में खरीदा था। एफटीसी ने कोर्ट से मांग की है कि फेसबुक को अपने बिजनेस के कुछ हिस्से बेचने के लिए कहा जाए, भविष्य में सभी डील्स के लिए रेग्युलेटरी अप्रूवल को अनिवार्य हो और थर्ड पार्टी डेवलपर्स पर लगी पाबंदियों को हटाया जाए। साथ ही अटॉर्नी जनरल चाहते हैं कि फेसबुक 10 मिलियन डॉलर से बड़ी डील्स के बारे में राज्यों को एडवांस में नोटिस दे। उनकी मांग है कि इंस्टाग्राम और वॉट्सएप को एंटीट्रस्ट लॉज का उल्लंघन करने के कारण अवैध माना जाए। इस मामले में कानूनी लड़ाई लंबी चलने की उम्मीद है क्योंकि फेसबुक आसानी से मानने वाली नहीं है। वह एफटीसी की दो साल तक चली जांच के आगे नहीं झुकी है और एजेंसी को कोर्ट में अपनी बात को साबित करना होगा। PLC.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here