Close X
Friday, August 6th, 2021

जल्द हो किसानों की समस्याओं का समाधान

आई एन वी सी न्यूज़
लखनऊ,
उत्तर प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि विगत माह मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा यह इच्छा व्यक्त की गई थी कि किसानों से संबंधित कल्याणकारी योजनाओं का क्रियान्वयन सभी विभागों द्वारा सुनिश्चित किया जाए। इसके लिए किसान कल्याण मिशन के रूप में कार्यक्रमों का संचालन किये जाने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि किसान कल्याण मिशन कार्यक्रम का शुभारंभ आगामी बुधवार (06 जनवरी) से प्रदेश में किया जा रहा है। यह कार्यक्रम जनवरी माह के प्रत्येक बुधवार को आयोजित किया जाएगा। किसान कल्याण मिशन कार्यक्रम के अंतर्गत प्रदेश के सभी विकास खंडों पर एक दिवसीय मेला आयोजित किया जाना है।


श्री शाही आज कालिदास मार्ग स्थित अपने आवास पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जनपदीय कृषि अधिकारियों को निर्देशित कर रहे थे। उन्होंने बताया कि मुख्य सचिव, कृषि उत्पादन आयुक्त एवं अपर मुख्य सचिव, कृषि द्वारा इस कार्यक्रम के आयोजन के बारे में निर्देश पूर्व में जारी किए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम में कृषि विभाग के साथ-साथ उद्यान विभाग, गन्ना विभाग, पशुपालन विभाग, रेशम विभाग, मत्स्य विभाग, सिंचाई-लघु सिंचाई विभाग, पंचायती राज विभाग, सहकारिता विभाग, बाल विकास एवं पुष्टाहार तथा अन्य विभाग अपने-अपने स्टॉल लगाएंगे तथा विभागीय योजनाओं से संबंधित लोगों को जानकारी देंगे। इस अवसर पर सभी संबंधित विभागों द्वारा योजनाओं के लाभार्थियों को योजनान्तर्गत स्वीकृति प्रदान की जाएगी और जिन्हें योजना का लाभ दिया जा रहा है, उन्हें प्रमाण पत्र भी प्रदान किए जाएंगे।

कृषि मंत्री ने बताया कि जिन लोगों द्वारा कृषि यंत्रों का क्रय किया गया है, उन्हें कृषि विभाग द्वारा कृषि यंत्रों का वितरण किया जाएगा। इस अवसर पर किसानों की आय को दोगुना किए जाने के संबंध में गोष्ठियां भी आयोजित की जाएंगी। साथ ही किसानों की समस्याओं का समाधान भी इस गोष्ठी के माध्यम से किया जाएगा। उन्होंने बताया कि यह कार्यक्रम किसानों की समस्याओं के समाधान की दृष्टि से तथा किसानों की आय को दोगुना किए जाने की दृष्टि से एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम होगा।  उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम प्रत्येक विधानसभा के कम से कम एक ब्लॉक पर अवश्य आयोजित किया जाए, जिससे प्रत्येक विधान सभा पर इस कार्यक्रम का आयोजन सुनिश्चित किया जा सके।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment