आई एन वी सी न्यूज़
जयपुर,
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने बताया कि प्रदेश ने 51 हजार 640 जांचें प्रतिदिन करने की क्षमता विकसित कर ली गई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के 22 जिलों में जांच की सुविधाएं उपलब्ध है और जल्द ही शेष सभी जिलों में कोरोना की जांच होने लगेगी।  
डॉ. शर्मा ने बताया कि कोरोना की जांचों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी की जा रही है। इसके लिए अमरीका से 2 कोबास-8800 मशीनें मंगवाने का ऑर्डर किया था। पहली मशीन अगस्त माह के अंत में और दूसरी मशीन अक्टूबर में पहुंच जाएगी। इन मशीनों के बाद राज्य में प्रतिदिन 60 हजार से ज्यादा जांचें हो सकेंगी। उन्होंने बताया कि वर्तमान मंो प्रतिदिन 34 हजार से ज्यादा जांचें प्रदेश भर में की जा रही हैं।

प्रत्येक विधानसभा क्षेत्रों में खोली जाएंगी सुविधायुक्त सीएचसी

चिकित्सा मंत्री ने कहा कि सभी विधानसभा क्षेत्रों में सभी सुविधाओं से युक्त सामुदायिक चिकित्सा केंद्र खोले जाएंगे। सीएचसी का चयन जन प्रतिनिधियों द्वारा किया जाएगा। इससे वहां के बाशिंदों को इलाज के लिए शहरों में नहीं आना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इसमें पूर्ण रूप से फोकस करके काम करेगी।

79 फीसद मरीज हो रहे हैं रिकवर

डॉ. शर्मा ने बताया कि प्रदेश में पॅजिटिविटी का प्रतिशत 3.4 प्रतिशत है, जो कि देश में सबसे कम है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 79 प्रतिशत लोग पॉजिटिव से नेगेटिव होकर अपने घर जा रहे हैं। यदि राज्य में पॉजिटिव केसेज में बढ़ोतरी हो रही है तो उसी अनुपात में मरीज ठीक भी हो रहे हैं। उन्होंने कहा सरकार का पूरा ध्यान रिकवरी रेशो में बढ़ोतरी और मृत्युदर को कम करने पर है। इसमें सरकार कामयाब भी रही है। वर्तमान में प्रदेश में मृत्युदर 1.3 प्रतिशत रह गई है और इसमें निरतंर कमी भी आ रही है।

2 मेडिकल कॉलेज और 3 सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक के शिलान्यास से आमजन को मिलेगी बेहतर चिकित्सा सुविधा

चिकित्सा मंत्री ने बताया कि बुधवार को 828 करोड़ रुपए की लागत से बने 2 मेडिकल कॉलेज (भीलवाड़ा, भरतपुर) और 3 सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक (बीकानेर, कोटा, उदयपुर) का शिलान्यास मुख्यमंत्री द्वारा किया गया। इस दौरान केंद्रीय चिकित्सा मंत्री व अन्य गणमान्य उपस्थित रहे। इन संभागों के बाशिंदो को सुपर स्पेशियलिटी की बेहतर चिकित्सा सुविधाएं मिलने लगेंगी। इस दौरान मुख्यमंत्री ने केंद्रीय चिकित्सा मंत्री को राज्य के 3 शेष रहे जिलों (राजसमंद, जालौर, प्रतापगढ़) में भी मेडिकल कॅलेज की स्वीकृति देने का आग्रह किया है। उन्होंने आग्रह किया कि कुछ जिलों में नियमों में शिथिलता दी जाएगी तो प्रदेश के सभी जिलों में सरकारी मेडिकल कॉलेज खोलने का सपना पूरा हो सकेगा।

2 हजार चिकित्सकों की भर्ती के लिए दोबारा होगी परीक्षा

डॉ. शर्मा ने कहा कि राज्य में 2 हजार चिकित्सकों की भर्ती प्रक्रियाधीन थी लेकिन परीक्षा में कुछ खामियों के चलते इसकी समीक्षा की गई। कमेटी ने 2 हजार चिकित्सकों की भर्ती दोबारा करना तय किया है। सभी पदों के लिए दोबारा विज्ञप्ति जारी कर परीक्षा ली जाएगी। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने कम से कम समय में इस भर्ती को पूरा करने के निर्देश दिए हैं। विभाग के अधिकारियों ने 1 से 1.5 महीने में यह प्रक्रिया पूरी करने के लिए आश्वस्त किया है।
 सभी मानकों पर है राजस्थान अव्वल

चिकित्सा मंत्री ने कहा कि प्रदेश में 75 हजार लोग अभी क्वारंटीन में है। राज्य में भले ही डबलिंग की बात हो या फिर मृत्युदर की या रिकवरी रेषो सभी मानकों में राजस्थान अव्वल खड़ा नजर आ रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार के माइक्रो लेवल के प्रबंधन की तारीफ प्रधानमंत्री भी कर चुके और आज केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने भी की है। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में इस चुनौती का सामना सरकार डटकर करेगी।

आपकी सावधानी से ही हारेगा कोरोना

डॉ. शर्मा ने कहा कि प्रदेश में अनलॉक होने में और भी रियायतें दी जाएंगी। ऎसे में आपकी सावधानी से कोरोना को हराया जा सकता है। राज्य सरकार पिछले एक महीने से प्रदेश भर में जागरूकता अभियान चला रही है। आमजन कोरोना प्रोटोकॉल जैसे बिना मास्क घर से नहीं निकलना, भीड़-भाड़ या समूह में नहीं जाना और बार-बार साबुन से हाथ धोना को अपना लेंगे तो कोरोना प्रदेश या देश में ज्यादा दिनों तक नहीं टिक पाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here