Close X
Sunday, January 24th, 2021

जल्द रोकूंगा अवैध खनन

रघुवर दास invc newsआई एन वी सी न्यूज़ राँची, मुख्यमंत्री रघुवर दास ने राज्य में हो रहे अवैध खनन की रोक थाम हेतु खान एवं भूतत्व विभाग को राज्य में खनन प्रक्रियायों के सरलीकरण एवं पारदर्षिता हेतु Jharkhand Integrated Mines and Minerals Management System  को विकसित करने का आदेष दिया तथा कहा कि सूचना पर आधारित इस व्यवस्था को लागू करने से खनन प्रक्रिया पर निगरानी रखना सरल हो जायेगा साथ ही राजस्व संग्रहण में सुविधा तथा अवैध खनन पर रोक लगाना आसान होगा। उन्होंने कहा कि इस सिस्टम के लागू करने से खनन पट्टेधारियों के द्वारा सभी सूचनाओं को कम्प्युटीकृत किया जा सकेगा तथा खनन से संबंधित सभी सूचनाओें को कम्प्युटरीकृत करने के उपरांत खनन पट्टेधारीगण इ-परमिट एवं ई-परिवहन चालान का उपयोग कर सकेंगें तथा परिवहन में होने वाली गड़बड़ी को भी इस सिस्टम से रोकने में आसानी होगी।

श्री दास ने कहा कि इस प्रणाली को लागू किये जाने से राज्य में खनिज प्रषासन में तीव्रता,पारदर्षिता एवं सुगमता आयेगी । राज्यान्तर्गत अवस्थ्ति सभी जिला खनन कार्यालय,उप निदेषक खान कार्यालय तथा मुख्यालय से संबंध होने के कारण कार्यों के सम्पादन पर निगरानी रखने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि इस प्रणाली के कारण खनन पट्टेधारियों खनन से संबंधित व्यवसाय करने वालों को ई-परमिट, ई परिवहन चालान आदि जेनरेट करने में सुविधा होगी तथा लोगों को खनन कार्यालयों सहित संबंधित अन्य कार्यालयों का चक्कर लगाने से छुटकारा मिल सकेगा। इसके साथ ही राजस्व संग्रहण में सुगमता तथा इससे संबंधित व्यवसाय करने वालों को घर बैठे राजस्व की राषि जमा करने में भी सुविधा होगी।

वर्तमान में खान एवं भूतत्व विभाग अन्तर्गत खनिजों के प्रषासन आदि से संबंधित कोई प्रणाली विकसित नहीं है। वाण्ज्यिकर विभाग से इन्टीग्र्रेट कर उनके वेबसाईट पर ऑनलान परिवहन चालान का जेनरेषन खनन पट्टेधारियों तथा खनिज व्यवसायियों द्वारा किया जा रहा है । मुख्यमंत्री ने कहा कि इस प्रणाली को अपनाये जाने से खनिज प्रषासन के कार्यों में कार्यक्षमता पारदर्षिता एवं सुगमता आयेगी तथा राज्य के अन्य विभागों वन विभाग,परिवहन विभाग,वाणिज्यकर विभाग,राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के अतिरिक्त भारत सरकार के विभागों से भी इन्टीग्रेट करने में सुविधा होगी। इसके विकास हेतु सूचना प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा जैप आई॰टी॰के माध्यम से आगे की कार्रवाई आरंभ कर दी गई है।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment