नई दिल्ली: राजौरी और पुंछ के बाद रामबन, किश्तवाड़ और डोडा में टेलीफोन सेवा चालू कर दी गई है. जम्मू में इंटरनेट सेवा बहाल कर दी गई है. अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद, जम्मू और कश्मीर के 22 में से 12 ज़िलों में हालात पूरी तरह सामान्य हो गए हैं. पुंछ और राजौरी ज़िले में अब लैंड लाइन फोन ने काम करना शुरू कर दिया है. इन ज़िलों में लैंडलाइन ब्रॉडबैंड पर लगा प्रतिबंध भी हटा दिया गया है. लोग अपने इंटरनेट का इस्तेमाल कर पा रहे हैं. 

राज्य के प्रशासन ने आज घोषणा की है कि बाकी 10 ज़िलों में भी हालात धीरे धीरे सामान्य हो रहे हैं और जल्द ही यहां से भी प्रतिबंध हटा दिए जाएंगे. पाकिस्तान अब भी अफवाह फैलाने और आतंकी हमले की साजिश रच रहा है इसीलिए मोबाइल इंटरनेट पर लगे प्रतिबंध जारी हैं.
राज्य के सरकारी दफ्तरों में भी आज से कामकाज शुरू हो गया है. जम्मू के 5 ज़िलों में 5 दिन पहले ही स्कूल खोल दिए गए थे. कश्मीर घाटी के अलग-अलग इलाकों में अगले हफ्ते से स्कूलों को खोल दिया जाएगा.
मार्च 2019 तक जम्मू और कश्मीर में लैंडलाइन कनेक्शन की संख्या 1 लाख 20 हजार थी. इसके अलावा यहां 1 करोड़ 37 लाख मोबाइल कनेक्शन भी हैं. जम्मू और कश्मीर में 58 लाख इंटरनेट कनेक्शन हैं. जम्मू और कश्मीर में हालात सामान्य होने की खबरों से पाकिस्तान काफी परेशान है. भारत के लोगों को सुकून देने वाली है लेकिन पाकिस्तान को बहुत चुभने वाली है.