Close X
Wednesday, October 20th, 2021

छत्तीसगढ़ में प्राचीन आदिम सभ्यताएं आज भी जीवित

आई एन वी सी न्यूज़
रांची,  
मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने पत्र के माध्यम से आगामी 28 अक्टूबर से 1 नवंबर 2021 तक छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा आयोजित "राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव 2021" में सम्मिलित होने हेतु आमंत्रित किया है। कांके रोड रांची स्थित मुख्यमंत्री आवासीय कार्यालय में आज मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन से विधायक एवं संसदीय सचिव छत्तीसगढ़ शासन श्री विनोद चंद्राकर ने मुलाकात की तथा उक्त कार्यक्रम में सम्मिलित होने हेतु आमंत्रण पत्र दिया। विधायक एवं संसदीय सचिव छत्तीसगढ़ शासन श्री विनोद चंद्राकर ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि छत्तीसगढ़ में देश और विश्व की सबसे प्राचीन आदिम सभ्यताएं आज भी जीवित हैं। इन सभ्यताओं के संरक्षण तथा उनके मूल स्वरूप को अक्षुण्ण बनाए रखने की दिशा में छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा कार्य किए जा रहे हैं। आदिवासी संस्कृति, लोक नृत्य, और लोक संगीत तथा लोक कलाओं को भी बढ़ावा दिया जा रहा है। इसी कड़ी में आगामी 28 अक्टूबर से 1 नवंबर 2021 तक छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा "राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव 2021" का आयोजन किया जा रहा  है। इस महोत्सव में झारखंड सहित देश के विभिन्न राज्यों से पहुंचे आदिवासी लोक गीत-संगीत तथा नृत्य क्षेत्र के कलाकारों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी जाएगी। विधायक श्री विनोद चंद्राकर ने मुख्यमंत्री से कहा कि आपके गरिमामयी आगमन से छत्तीसगढ़ की धरा में आयोजित इस महोत्सव की शोभा बढ़ेगी। इस अवसर पर श्री विनोद चंद्राकर, संसदीय सचिव छत्तीसगढ़ शासन के द्वारा मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन को छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध आदिवासी लोक शिल्प बस्तर आर्ट से बनी स्मृति चिन्ह भेंट की। मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने श्री विनोद चंद्राकर को धन्यवाद दी तथा उक्त महोत्सव के सफल आयोजन हेतु छत्तीसगढ़ सरकार को अग्रिम शुभकामनाएं भी दीं। मौके पर मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री राजीव अरुण एक्का, राज्य प्रशासनिक सेवा छत्तीसगढ़ के अधिकारी श्री राकेश कुमार गोलछा एवं अन्य मौजूद थे।मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने पत्र के माध्यम से आगामी 28 अक्टूबर से 1 नवंबर 2021 तक छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा आयोजित "राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव 2021" में सम्मिलित होने हेतु आमंत्रित किया है। कांके रोड रांची स्थित मुख्यमंत्री आवासीय कार्यालय में आज मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन से विधायक एवं संसदीय सचिव छत्तीसगढ़ शासन श्री विनोद चंद्राकर ने मुलाकात की तथा उक्त कार्यक्रम में सम्मिलित होने हेतु आमंत्रण पत्र दिया। विधायक एवं संसदीय सचिव छत्तीसगढ़ शासन श्री विनोद चंद्राकर ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि छत्तीसगढ़ में देश और विश्व की सबसे प्राचीन आदिम सभ्यताएं आज भी जीवित हैं। इन सभ्यताओं के संरक्षण तथा उनके मूल स्वरूप को अक्षुण्ण बनाए रखने की दिशा में छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा कार्य किए जा रहे हैं। आदिवासी संस्कृति, लोक नृत्य, और लोक संगीत तथा लोक कलाओं को भी बढ़ावा दिया जा रहा है। इसी कड़ी में आगामी 28 अक्टूबर से 1 नवंबर 2021 तक छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा "राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव 2021" का आयोजन किया जा रहा  है। इस महोत्सव में झारखंड सहित देश के विभिन्न राज्यों से पहुंचे आदिवासी लोक गीत-संगीत तथा नृत्य क्षेत्र के कलाकारों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी जाएगी। विधायक श्री विनोद चंद्राकर ने मुख्यमंत्री से कहा कि आपके गरिमामयी आगमन से छत्तीसगढ़ की धरा में आयोजित इस महोत्सव की शोभा बढ़ेगी। इस अवसर पर श्री विनोद चंद्राकर, संसदीय सचिव छत्तीसगढ़ शासन के द्वारा मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन को छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध आदिवासी लोक शिल्प बस्तर आर्ट से बनी स्मृति चिन्ह भेंट की। मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने श्री विनोद चंद्राकर को धन्यवाद दी तथा उक्त महोत्सव के सफल आयोजन हेतु छत्तीसगढ़ सरकार को अग्रिम शुभकामनाएं भी दीं। मौके पर मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री राजीव अरुण एक्का, राज्य प्रशासनिक सेवा छत्तीसगढ़ के अधिकारी श्री राकेश कुमार गोलछा एवं अन्य मौजूद थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment