Close X
Thursday, January 28th, 2021

चीन को मिला सबसे बड़ा दर्द

चीन के नेशनल हेल्थ कमीशन ने बताया कि हुबेई में कोरोना के 85 मामले आए हैं और इनमें से 82 मामले 10 जनवरी को रिपोर्ट हुए हैं। चीन के लायनिंग प्रांत में भी कोरोना के दो नए मामले आए हैं और बीजिंग में भी कोरोना का एक नया मामला मिला है। चीन में दूसरे देश से आने वाले 18 लोगों में भी कोरोना की पुष्टि हुई है।

बीते साल चीन से शुरू हुआ कोरोना वायरस पूरी दुनिया में फैल गया लेकिन बीजिंग ने इस वायरस पर काबू पा लिया। हालांकि, एक बार फिर यह वायरस चीन में कोहराम मचा रहा है। यहां पांच महीने बाद एक बार फिर कोरोना के सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं। देश के स्वास्थ्य विभाग ने बताया है कि हुबेई प्रांत में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए चीन के कई शहरों में एक बार फिर लॉकडाउन लगा दिया गया है और प्रतिबंधों का कड़ाई से पालन किया जा रहा है।  

इसके अलावा हीलोंगजियांग प्रांत में उत्तरपूर्वी काउंटी में भी कोरोना वायरस के नए मामले सामने आने के बाद सोमवार को लॉकडाउन लगा दिया गया है।


चीन में फिलहाल कोरोना के 103 नए मामले हैं, जो बीते साल 30 जुलाई को आए 127 मामलों के बाद से सबसे ज्यादा हैं। हुबेई प्रांत की राजधानी इस बार कोरोना का एपिकसेंटर है। यहां भी लॉकडाउन लगा दिया गया है और वाहनों को शहर के बाहर जाने की इजाजत नहीं है।  

हालांकि, बीते साल कोरोना के कहर की तुलना में चीन में अभी इस वायरस के काफी कम मामले हैं लेकिन प्रशासन ने सतर्क होते हुए प्रतिबंध लागू कर दिए हैं ताकि इसके प्रसार को रोका जा सके। हीलोंगजियांग प्रांत में वांगकुई काउंटी के अंदर कड़े प्रतिबंध लगाते हुए सभी गैर-जरूरी यात्राओं को रोक दिया गया है। यहां हर घर से सिर्फ एक शख्स तीन-तीन दिन के अंतराल पर जरूरी सामान खरीदने घर से बाहर निकल सकता है। PLC.

 

Comments

CAPTCHA code

Users Comment