Sunday, July 5th, 2020

चार दिवसीस 25 वीं जिला स्तरीय फुटबाल एवं कब्बडी प्रतियोगिता का आगाज : किरण माहेश्वरी

किरण माहेश्वरी आई एन वी से न्यूज़आई एन वी सी न्यूज़ जयपुर, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी ने समस्त अभिभावकों, शिक्षकों एवं बालकों का आह्वान किया है कि विभिन्न खेलों के माध्यम से बालकों का सर्वांगीण विकास किया जाए। खेल जीवन में स्वस्थ रहने का मूलमंत्र है, इसलिए हर बालक-बालिका को अपने जीवन में एक न एक खेल के प्रति उत्साह से भाग लेना चाहिए और हमेशा उस खेल के महत्व को अपने जीवन में बनाए रखना चाहिए। श्रीमती माहेश्वरी रविवार को राजसमन्द पंचायत समिति के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय राज्यावास में 25 वीं जिला स्तरीय (छात्र एवं छात्रा) आयु वर्ग 17 व 19 फुटबॉल तथा राजकीय माध्यमिक विद्यालय देवपुरा में कब्बड़ी प्रतियोगिता में खेल ध्वज फहरा प्रतियोगिता शुभारंभ की घोषणा करने के पश्चात आयोजित समारोह को मुख्य अतिथि पद से सम्बोधित कर रही थीं। जलदाय मंत्री ने कहा कि हमारे क्षेत्र की जिन बालिकाओं ने राष्ट्रीय लेवल पर खेलकर पुरस्कार प्राप्त किया है, वह हमारे लिए पे्ररणास्त्रोत है। सब खिलाड़ी खेलों मे अपना कमाएं, यही हमारी कामना है। उन्होंने कहा कि श्रेष्ठ खिलाड़ी केवल अपना ही नाम नही करता है, बल्कि गांव, जिले, राज्य एवं देश का नाम भी गौरवान्वित करता है। इसके लिए खिलाड़ी को हमेशा अनुशासन एवं खेल की भावना से खेलना चाहिए। उन्होंने खेल प्रभारियों का भी आह्वान किया कि वे भी खेल को बिना किसी भेदभाव के खेल भावना से खिलाएं और अच्छे खिलाडिय़ों का प्रतियोगिता में चयन करें ताकि उन्हें उनके खेल के अनुरूप आगे आने का मौके मिले। उन्होंने जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक एवं प्रारम्भिक को निर्देश दिए कि जिले के प्रत्येक विद्यालय में खेल मैदान हो, यह आवश्यक है। यदि किसी विद्यालय में खेल मैदान नहीं है तो वहां के संस्था प्रधान प्रस्ताव बनाकर तत्काल उच्चाधिकारियों को पे्रषित करें ताकि प्रत्येक विद्यालय में खैल मैदान बनाया जा सके। उन्होंने कहा कि चारागाह भूमि को रूपान्तरित करके भी खेल मैदान विद्यालय को आवश्यक रूप से उपलब्ध कराया जाएगा। श्रीमती किरण ने समस्त खिलाडिय़ों का आह्वान किया कि सरकारी नौकरियों में खिलाडिय़ों के लिए दो प्रतिशत का आरक्षण होता है इसलिए हर बालक-बालिका को एक न एक खेल में महारत हासिल होनी चाहिए ताकि आरक्षित कोटे से भी भविष्य में सरकारी नौकरी प्राप्त करने का अवसर मिले सके। उन्होंने गांव के सभी बड़े बुजुर्गों का भी आह्वान किया कि उन्हें भी खेलों के प्रति उत्साह रखते हुए अपने बालकों को इसके प्रति जागरूक करने की जरूरत है ताकि खेल के महत्व को बालक समझ सके। उन्होंने शिक्षकों को निर्देशित किया कि यदि कोई अभिभावक खेलों में रूचि नही लेते हैं तो उन्हें भी समझाइश कर खेलों के महत्व को समझाएं और खेलों के प्रति उनका उत्साहवर्धन करें ताकि वे अपने बालकों में खेलों के प्रति आकर्षण पैदा कर सकें। समारोह में उप जिला प्रमुख सफलता गुर्जर, राजसमन्द प्रधान रीना कुमावत, उप प्रधान भरत पालीवाल, पूर्व प्रधान भानु पालीवाल, पूर्व विधायक बंशीलाल खटीक, महेश आचार्य ,जिला शिक्षा अधिकारी प्रारम्भिक युगल बिहारी दाधीच, तहसीलदार हंसमुख कुमार सहित जनप्रतिनिधिगण एवं अधिकारी उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment