आई.एन.वी.सी,,

लखनऊ,,

मुख्यमंत्री के सरकारी आवास-5 कालिदास मार्ग और समाजवादी पार्टी के मुख्यालय 19, विक्रमादित्य मार्ग तक आज हजारों लोग की भीड़ उमड़ आई थी। चारों तरफ लोकतंत्र पसरा था। ऐसा लगा जैसे लोकतंत्र की बयार फिर बहने लगी हों। पिछले पांच सालों तक प्रतिबंध और आतंक भोग रहे लोगों के चेहरों पर आज कोई तनाव नहीं था। वे अपनी बात कह पाने से उल्लसित थे। कालिदास मार्ग पर बीस हजार लोगों ने मुख्यमंत्री से भेंट की तो श्री मुलायम सिंह यादव से भी लोगों ने मिलकर अपनी समस्याएं रखीं। समाजवादी पार्टी के राश्ट्रीय अध्यक्ष श्री मुलायम सिंह यादव से आज महाराश्ट्र के सात सदस्यीय प्रतिनिधि मण्डल ने भेंट की और संगठन के बारे में वार्ता की। प्रतिनिधि मण्डल में समाजवादी पार्टी राश्ट्रीय कार्यकारिणी के विशेश सदस्य एवं प्रदेश महासचिव श्री अन्ना खंदारे और समाजवादी युवजन सभा के प्रदेश अध्यक्ष श्री अफजल फारूख भी थे। उत्तर प्रदेश विधान सभा के सभी कई सदस्य उनसे मिलने आए।
श्री मुलायम सिंह यादव आज जब पार्टी कार्यालय पहुंचे तो वहां एकत्र सैकड़ों लोगों ने जिन्दाबाद के नारों के साथ उनका स्वागत किया। कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए श्री मुलायम सिंह यादव ने कहा कि सन् 2012 में विधान सभा चुनाव में बहुमत की सरकार बनाने का आपका सपना पूरा हो गया है। अब सन् 2014 की तैयारी करनी है। लोकसभा में इतनी सीटें जीतना है कि केन्द्र की सरकार समाजवादी पार्टी के बिना न बन सके।
श्री यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी एक राश्ट्रीय ताकत बन गई है। वह राश्ट्रीय राजनीति में विकल्प है। सबको मिलकर प्रदेश की सरकार भी चलानी है और संगठन को मजबूती देने में भी जुट जाना है। उन्होने कहा पिछले पांच वशZ बड़े संघशZ के रहे। लोगों पर फर्जी मुकदमे लाद दिए गए। समाज के हर वर्ग का उत्पीड़न हुआ। जनता ने समाजवादी पार्टी को अपना समर्थन और सहयोग दिया। हमें जनता से अपना संबंध और सम्पर्क बनाए रखना होगा।
पांच साल तक बसपा मुख्यमंत्री के सरकारी आवास 5, कालिदास मार्ग तक जानेवाली हर सड़क पर पुलिस का पहरा था। आतंक की छाया थी। आज कहीं कोई बंदिश नहीं थी। लोग अपने मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव से रूबरू हो रहे थे। मुख्यमंत्री जी ने आज से जनता से भेंट की नियमित व्यवस्था घोशित कर दी है। वे हर बुधवार को सबसे मिलेगें। आज उनसे मिलनेवालों में िशक्षा मि़त्र थे, वििशश्ट बीटीसी वाले थे, खिलाड़ी थे, भारी संख्या में महिलाएं, किसान स्वतंत्रता सेनानी, मुस्लिम और जयगुरूदेव के िशश्य भी थे। गरीब भी अपनी समस्याएं लेकर उनसे मिल रहे थे। कुछ ने गोपनीय पत्र भी मुख्यमंत्री को दिए।
अम्बेडकर से आए वििशश्ट आलोकरंजन त्रिपाठी, नेशनल प्लेयर और कोच ममतारानी शर्मा, जयगुरूदेव के िशश्य संत दया चौधरी और चित्रकूट हनुमान धारा मंदिर के महंत ने मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव से भेंट की। मुख्यमंत्री से मिलनेवालों में मोहम्मद नजर खुर्जा से आए थे, चन्द्रपाल यादव जेपीनगर से, सरदार सुरेन्द्र पाल सिंह चन्दौसी से, मुकेश यादव शाहजहॉपुर से, परमहंस यादव महाराजगंज से, वेदराम बरेली से, योगेश त्रिपाठी फतेहपुर से, सुरेश शर्मा स्याना से तो सैयद बदरूद्दीन बुखारी वाराणसी से आए थे। प्रदेश के कोने-कोने से आए सभी लोगों ने मुख्यमंत्री से मिलकर अपनी समस्याएं रखी और संतुश्ट भाव से प्रदेश में आए बदलाव की चर्चा करते रहे। उन्होने कुछ मामलों में अधिकारियों को तत्काल कार्यवाही करने के निर्देश भी दिए।

सुरेंदर अग्निहोत्री
न्यूज़ एडिटर
उत्तर प्रदेश

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here