‘चाय की टेक्नीकल चौपाल’ पर आपका स्वागत है, चाय से चाह बढ़ती है…. जपिये ‘नमो नमो’ और कीजिये सुशासन की चाह!!

0
56

images (27)आई एन वी सी,

दिल्ली,

भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी आज एक बार फिर एक इनोवेटिव आइडिया के साथ देश से मुखातिब हुए। उन्होने अहमदाबाद में एक चाय की दुकान पर बैठकर देश भर के लोगोँ के साथ चर्चा शुरू की। आज शाम करीब छह बजे के बाद अहमदाबाद के पश्चिमी हिस्से में एक चाय की दुकान पर नरेंद्र मोदी ने इस कार्यक्रम की शुरुआत की है।

इस मौके पर लोगों से चाय की चुस्कियोँ के बीच चर्चा करते हुए नरेंद्र मोदी ने कहा कि चाय की दुकान एक प्रकार से फुटपाथ पार्लियामेंट होती हैं। उन्होंने कहा कि आज उनकी तमाम पुरानी यादें ताज़ा हो गईं। इस मौके पर मोदी ने कहा कि वह ईमानदार लोगों को इनसेंटिव और भ्रष्ट लोगों को सज़ा का प्रावधान करेंगे।

गौर तलब है कि भारतीय जनता पार्टी का चाय का चौपाल अभियान बुधवार से से देश भर में शुरू हो गया। इस अभियान की शुरुआत आज अहमदाबाद से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिये हुई है। बीजेपी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने आज अहमदाबाद में चाय की चौपाल लगाकर 300 शहरों में लोगों से बात की शुरुआत करते हुए कहा कि चाय हर किसी से जुड़ी है। अब चाय की चौपाल पर सुशासन की बातें होंगी। मैंने चाय बेचते बेचते बहुत बात सीखी।

चायवालों से नरेंद्र मोदी ने वीडिया कान्‍फ्रेंसिेंग के ज़रिये कहा कि चाय की चुस्‍की पर हर तबका चर्चा करता है। चाय से चाह बढ़ती है। चाय का ठेला तो फुटपाथ की संसद है।

मोदी ने कहा कि आगामी चुनाव देश के लिए एक महाउत्‍सव है। इसलिए आज की चर्चा सुशसान पर हो रही है। हमारा स्‍वराज अब तक सुराज में नहीं बदल पाया। सरकार के खिलाफ लोगों में काफी नाउम्‍मीदी है। सवा सौ करोड़ लोगों का भरोसा टूट चुका है। भारत जैसे देश में सुशासन पर जोर होना चाहिए। मोदी ने खराब शासन को डायबिटीज के जैसा बताया। जो एक बार शरीर में घर कर जाए तो यह उसे अंदर से काफी कमजोर बना देता है। खराब शासन से सारी बीमारियां घर कर जाती हैं।

मोदी ने यह भी कहा कि चाय से बचपन की यादें ताज़ा हो जाती हैं और अब आधुनिक तकनीक के ज़रिये मैं सबसे जुड़ रहा हूं, अपने विचार साझा कर रहा हूं।

इस दौरान मोदी ने वहां मौजूद लोगों के साथ बातचीत भी की। सुरक्षा कारणों से चाय की दुकान का नाम आरंभ में नहीं बताया गया। मोदी के इस कार्यक्रम को ‘चाय पर चर्चा’ नाम दिया गया।

इस कार्यक्रम के तहत देशभर में एक हज़ार से ज़्यादा चाय दुकानों पर जुटने वाले अपने समर्थकों से सेटेलाइट, मोबाइल और इंटरनेट के ज़रिये बात की। इन सभी एक हज़ार चाय की दुकानों पर टीवी स्क्रीन भी लगाए गए हैं। चाय पे चर्चा कार्यक्रम मोदी का खास चुनावी कैंपेन है, जिसके ज़रिये वह लोगों से सीधे रूबरू होंगे। इस कार्यक्रम का आयोजन सिटीज़न फॉर एकाउंटेबल गवर्नेंस नाम के एनजीओ ने किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here