Saturday, October 19th, 2019
Close X

चहुमुखी विकास की हकीकत को स्वीकारे अखिलेश

आई एन वी सी न्यूज़
लखनऊ,
भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि ढाई वर्षो में योगी सरकार ने जनकेन्द्रित उपलब्धियों के जो कीर्तिमान स्थापित किये है वह पन्द्रह वर्षो में भी नहीं हुए। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव जी को प्रदेश में हो रहे चहुमुखी विकास की हकीकत को स्वीकार करना चाहिए। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि दरसल हार की हताश से घर में बैठे पूर्व मुख्यमंत्री ढाई साल में पहली बार अपने महल से बाहर भी निकले तो सीधे गरीबों की जमीन कब्जाने वाले भूमाफिया को बचाने के लिए निकले। ऐसे में उन्हें सही तस्वीर कहा समझ आयेगी। श्री सिंह ने कहा कि सपा प्रमुख को यकीन नहीं हो रहा है कि इतने अल्पसमय में कोई सरकार इतने बड़े विजन और ईमानदारी के साथ के साथ इतना विकास भी कर सकती है। इस हताशा और निराशा में ही वे ऐसे बयान दे रहे हैं जिनमें ना तो कोई तथ्य हैं ना ही भरोसे लायक कोई बात। प्रदेश की जनता समाजवादी पार्टी की सरकार का भ्रष्टाचार ओर अराजकता अभी भूली नहीं है।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि अगर लोकतांत्रिक परिक्रमा में अपनी टीम  चुनना, भ्रष्टाचार है तो अखिलेश बताये अपने चाचा को किस भ्रष्टाचार में उन्हें उनके पद से बेदखल किया ? उन्होंने कहा कि सपा प्रमुख शायद भूल गये है कि जियाउल हक से लेकर जवाहर बाग तक उनके राज में पुलिस अधिकारियों की कैसे दुर्दान्त हत्याएं हुई। आज अपराधी या तो सलाखों के पीछे है या दुनिया छोड़ चुके है। विकास के नाम पर अखिलेश ने मैनपुरी और इटावा को ही प्रदेश समझा और निवेश के नाम पर सरकारी धन की लूट कर अपने परिवार में उसकी बंदरबांट की।

श्री सिंह ने कहा कि पांच सालो में गन्ना किसानों के बकाये से अपना घर भरने वालो को मालूम होना चाहिए कि पिछले दस सालों में जितना गन्ना मूल्य का भुगतान नहीं हुआ उससे ज्यादा 2.5 वर्ष में हुआ है। पूरे प्रदेश में खुलेआम गौकशी कराने वाले आज गौमाता की चिंता कर रहे है। ये हृदय परिवर्तन भी योगी सरकार की ही देन है।

उन्होंने कहा कि मुजफ्फरनगर दंगे से लेकर दर्जनों मामलों में मा. सुप्रीम कोर्ट ने सपा सरकार के बारे में क्या टिप्पणी की थी, इसके पन्ने अखिलेश को पटलने चाहिए। युवाओं को भी सबसे ज्यादा अखिलेश सरकार ने ठगा। भर्ती आयोग को भ्रष्टाचार आयोग में बदल डाला और स्वास्थ्य योजनाओं में केवल खुली लूट हुई। सपा सरकार के भ्रष्टाचार व कुशासन की वजह से टी.सी.एस. जैसी बड़ी कंपनियां यू.पी. छोडकर जा रही थी। योगी सरकार ने उन्हें तो रोका ही 4.68 लाख करोड़ के निवेश की भी जमीन तैयार की।

श्री सिंह ने कहा कि अखिलेश जी की सरकार में प्रदेश में बिजली भी जाति और धर्म देखकर दी जाती थी। कुछ खास शहरों को छोड़ बाकी प्रदेश अंधेरे में डूबा रहता था। स्वास्थ्य सेवाएं बदहाल थीं। आज योगी जी के नेतृत्व में सबका साथ सबका विकास की नीति के साथ हर तबके का विकास किया जा रहा है। आर्थिक तौर पर कमजोर लोगों को प्रधानमंत्री आवास देने, चैबीस घंटे बिजली देने, सौभाग्य योजना को शत प्रतिशत लागू करने और चीनी उत्पादन में आज प्रदेश पहले स्थान पर है। प्रदेश में बन रहे नए एक्सप्रेस वे, एम्स और मेडिकल कालेजों व डिंफेंस कारीडोर से ना सिर्फ प्रदेश के विकास का नया इतिहास लिखा जा रहा है बल्कि रोजगार के बड़े अवसर भी मुहैया हो रहे हैं।            

प्रदेश अध्यक्ष श्री सिंह ने कहा कि योगी जी की सरकार में उत्तर प्रदेश का चैतरफा विकास हुआ है। कानून व्यवस्था से लेकर सड़क, बिजली, पानी और रोजगार के साथ ही साथ प्रदेश में ऐतिहासिक निवेश को लेकर भी सरकार ने प्रतिबद्धता से साथ वो कर दिखाया है जो सपा बसपा की सरकारों के लिए अकल्पनीय था। खासतौर पर सपा सरकार में प्रदेश ना सिर्फ पीछे गया बल्कि देश और दुनिया में प्रदेश की छवि ऐसी बन गई थी कि कोई यूपी में निवेश नहीं करना चाहता था। तमाम लोग यूपी से बाहर जाने लगे थे। पश्चिमी यूपी में तो लोग पलायन ही करने लगे थे। लोकसेवा आयोग जैसी सम्मानित और पुरानी संस्था नौकरी बेंचने के आरोपों से घिर गई थी। खनन घोटाले से लेकर जमीन घोटालों तक में सरकार सीधे शामिल थी।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि अखिलेश जी! यह सुशासन और जनता की सेवाओं से मिले आर्शीवाद का उत्सव है। आप ने तो समाजवाद के नाम पर सैफई में जिस तरह के जश्न आयोजित किये और जनता के पैसे को पारिवारिक जश्न का जरिया बनाया, आपको योगी सरकार में जनता के चेहरे पर आयी मुस्कान का उत्सव कैसे समझ में आयेगा। 2.5 सालों में योगी सरकार विकास सुशासन व सबकी खुशहाली की नींव तैयार की है। इस पर अगले 2.5 साल में उ0प्र0 सर्वोत्तम प्रदेश की यात्रा तय करेगा।



 

Comments

CAPTCHA code

Users Comment