Close X
Saturday, November 27th, 2021

ग्रामीण मार्गों पर विशेष रूप से फोकस किया जाय

आई एन वी सी न्यूज़
लखनऊ,
उ0प्र0 के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि बाईपास व रिंग रोड के कार्यों को शीघ्रातिशीघ्र पूरा किया जाय तथा अधूरे व जर्जर पुलों के निर्माण कार्य में और अधिक तेजी लाई जाय। उन्होने कहा कि विभाग में नवनियुक्त सहायक अभियन्ताओं की क्षमता व प्रतिभा का भरपूर लाभ लिया जाय। उन्होने निर्देश दिये कि अवशेष वित्तीय स्वीकृतियां तत्काल जारी की जांय। उन्होने कहा कि बिना किसी भेदभाव के सभी क्षेत्रों में समान रूप से कार्य कराये जांय। श्री केशव प्रसाद मौर्य आज लोक निर्माण विभाग स्थित तथागत सभागार में लोक निर्माण विभाग व सेतु निगम के कार्यों की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे।

उन्होने योजनावार व मदवार बजट की जानकारी हासिल की और अब तक जारी की गयी वित्तीय स्वीकृतियों की जानकारी हासिल करते हुये कहा कि शेष वित्तीय स्वीकृतियां अविलम्ब जारी की जांय। उन्होने कहा कि फाइनेन्शियल मैनेजमेन्ट सिस्टम को और मजबूत किया जाय। अभियन्ताओं व कार्मिकों को कार्यों के प्रति प्रेरित करने वाले स्लोगन कार्यालयों में लिखे जांय। श्री मौर्य ने कहा कि अच्छा कार्य करने वाले अभियन्ताओं को प्रोत्साहित किया जाय तथा जिनका परफार्मेन्स ठीक नहीं है उन्हे सचेत किया जाय और कार्यों के प्रति उदासीनता बरतने वाले अधिकारियों के विरूद्ध कार्यवाही की जाय।

उन्होने निर्देश दिये कि चौधरी चरण सिंह, कांवड़ पथ, ब्रज 84 कोसी परिक्रमा, अयोध्या 84 कोसी परिक्रमा, अन्तर्राष्ट्रीय/अन्तर्राजीय सीमाओं पर बनने वाले द्वार जैसी प्रक्रियाधीन परियोजनाओं को धरातल पर उतारने के लिये सभी औपचारिकताएं सम्बन्धित अधिकारियों से समन्वय व तारतम्य बनाकर पूरी की जांय। उन्होने कहा कि रू0 50 करोड़ के उपर की लागत की व रू0 50 करोड़ से कम लागत वाले, विभिन्न विभागों के भवनों के निर्माण कार्य में और अधिक तेजी लाई जाय। अभियन्तागण लगातार कार्यों की समीक्षा, अनुश्रवण व निरीक्षण अनिवार्य रूप से करें। विभाग में कार्यों के लिये नई सोच व आधुनिकतम टेक्नॉलॉजी का प्रयोग कर लोक निर्माण विभाग को एक मॉडल विभाग के रूप में प्रतिस्थापित करने का भरपूर प्रयास किया जाय, इसके लिये विभाग में बनाये गये थिंकटैंक व विदेशों की सफलतम टेक्नॉलाजी का भरपूर इस्तेमाल किया जाय। उन्होने कहा कि बुन्देलखण्ड विकास निधि, पूर्वांचल विकास निधि, नाबार्ड, एशियन डेवलप्मेन्ट सहायतित, विश्व बैंक सहायतित व राज्य सड़क निधि पर विशेष रूप से फोकस किया जाय तथा ग्रामीण सम्पर्क मार्गों को पूरा करने में विशेष प्राथमिकता दी जाय।

श्री मौर्य ने कहा कि वर्तमान सरकार के कार्यकाल में सड़कों व पुलों के क्षेत्र में बहुत ही
उत्कृष्ट व उल्लेखनीय कार्य किये गये हैं। उन्होने कहा कि लघु सेतुओं व दीर्घ सेतुओं के नये कार्यों की स्वीकृृतियां तत्काल जारी करायी जांय। डॉ0 ए0पी0जे0 अब्दुल कलाम गौरव पथ, जय हिन्द वीर पथ, मेजर ध्यानचन्द्र विजय पथ की योजनाओं में जिनके घरों और गांवों तक सड़कें बनायी गयी हैं, वहां पर उन टॉप-20 छात्र/छात्राओं, शहीद वीरों व खिलाड़ियों के चित्र व उनका विवरण बड़े बोर्ड पर आकर्षक ढंग से लिखवाया जाय। उन्होने राष्ट्रीय राजमार्गों के कार्यों में भी तेजी लाने के निर्देश दिये।

बैठक में प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग श्री नितिन रमेश गोकर्ण, सचिव लोक निर्माण विभाग श्री समीर वर्मा, प्रमुख अभियन्ता (विकास) एवं विभागाध्यक्ष श्री राकेश सक्सेना, प्रमुख अभियन्ता श्री मनोज गुप्ता, मुख्य अभियन्ता (रा0मा0) श्री अशोक कनोजिया, मुख्य अभियन्ता श्री संजय श्रीवास्तव, मुख्य अभियन्ता श्री अशोक अग्रवाल, सहित लोक निर्माण विभाग के अन्य अभियन्ता व अधिकारी प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment