Saturday, October 19th, 2019
Close X

गायब आज़म खान पर तोड़फोड़ और लूट के आरोप में FIR दर्ज

रामपुर. समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के सांसद और उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री आजम खान (Azam Khan) की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. भूमाफिया घोषित होने और कई मुकदमे दर्ज होने के बाद समाजवादी पार्टी नेता के खिलाफ एक और मुकदमा दर्ज किया गया है. रामपुर (Rampur) से लोकसभा सदस्य आजम खान पर तोड़फोड़ करने और लूट के आरोप में सिविल लाइन थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है.

साल 2013 का है मामला

इस बार सपा नेता पर साल 2013 के एक मामले में दुकान में घुसकर तोड़फोड़ करने और 16,500 रुपए लूटने का मुकदमा दर्ज हुआ है. मामले में तत्कालीन इंस्पेक्टर आलेहसन, तत्कालीन जिला सहकारी संघ के चेयरमैन मास्टर जाफर और तत्कालीन सहकारी संघ के सचिव कामिल खां पर भी मुकदमा दर्ज हुआ. घटना 13 फरवरी 2013 की है. गगन लाल की शिकायत पर धारा 392, 427 और 448 के तहत सिविल लाईन थाने केस दर्ज किया गया.

आजम खान पर 12 सितंबर तक 82 केस हो चुके हैं दर्ज


आजम खान ने अपने नाम एक ऐसा रिकॉर्ड दर्ज करवाया है जिसे वो याद रखना भी मुनासिब नहीं समझेंगे. उन पर पुलिस ने अब तक 82 मुकदमे दर्ज किए हैं. इसके साथ ही आजम देश के पहले सांसद बन गए हैं जिनके खिलाफ इतनी संख्या में मुकदमे दर्ज हैं. इनमें से अधिकांश मुकदमे उनके हाल ही में सांसद बनने के बाद दर्ज हुए हैं.

जमीनों पर कब्जे के 28 मुकदमे

मौलाना जौहर अली यूनिवर्सिटी के लिए आलियागंज के किसानों की जमीन कब्ज़ा करने के आरोपों में उनके खिलाफ 28 मुकदमे दर्ज हैं. यतीमखाना में भैंस चोरी प्रकरण में 9 मुकदमा दर्ज हो चुका है. शत्रु संपत्ति के मामले में दो मुकदमे दर्ज हैं. किताबों की चोरी, शेर की मूर्ति चुराने, 2700 खैर के पेड़ों की चोरी का भी मुकदमा दर्ज है. इसके अलावा बेटे अब्दुल्ला आज़म के दो-दो जन्म प्रमाणपत्र के आरोपों में दो मुकदमे दर्ज हैं.

13 को पहुंचे थे अखिलेश

आज़म खान के समर्थन में राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव 13 सितंबर को रामपुर पहुंचे थे. बताया जा रहा है कि आज़म खान काफी समय से गायब हैं. लोगों का कहना है कि वो दो महीने में सिर्फ एक बार ईद पर आए थे. सपा कार्यकर्ताओं के सम्मेलन में आज़म खान नहीं पहुंचे. यहां अखिलेश यादव भी मौजूद थे इसके बावजूद आज़म खान ने जाना जरूरी नहीं समझा.PLC.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment