Close X
Thursday, January 20th, 2022

गहलोत ने रखी शिक्षा की आधार शिला

ashok gehlotआई एन वी सी,, जयपुर,, मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने सोमवार को जोधपुर के लोरड़ी पंडितजी में सरदार पटेल सुरक्षा और दंाडिक न्याय विश्वविद्यालय के स्थाई परिसर की धार्मिक संस्कारों के साथ विधिवत आधारशिला रखी। इसके बाद दईजर ग्रामीण पुलिस लाइन में अस्थाई परिसर का शिलान्यास भी किया। मुख्यमंत्री ने दईजर में आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि देश के प्रथम गृहमंत्री सरदार पटेल का राज्यों के एकीकरण में नाम रहा है तथा यह नाम उपयुक्त होने के साथ ही विश्वविद्यालय से आने वाली पीढिय़ों में संदेश देगा। उन्होंने कहा कि पूर्व गृहमंत्री शिवराज पाटिल की सोच से आया लीक से हटकर यह विश्वविद्यालय एशिया में दूसरे स्थान पर होगा। उन्होंने बताया कि आने वाले सत्र जुलाई-13 में यह विश्वविद्यालय शुरू हो जाएगा तथा यहंा के पाठ्यक्रम भी शानदार होंगे। इनमें एम एस सी, एम ए, पी जी डिप्लोमा फोरेंसिक, साइबर, मानवाधिकार, जेंडर, रोड सेफ्टी व आर्थिक अपराधों के साथ विशिष्ट विषय समाहित होंगे। गहलोत ने कहा कि वे केन्द्र से अधिकाधिक मदद के लिए प्रयास करेंगे मगर इस पुलिस विश्वविद्यालय के लिए आने वाले बजट में जितना मांगेंगे उतना ही राज्य सरकार प्रदान कर देगी। वर्तमान में इसे छ: रुपये करोड़ दिए गए हैं। उन्होंने वी सी के रूप में एम एल कुमावत की सराहना करते हुए कहा कि यह बेहतर निर्णय है।

पुलिस व्यवस्था में सुधार :-  मुख्यमंत्री ने बताया कि पुलिस रिफॅार्मस् में भी राज्य पीछे नहीं है तथा केन्द्र की इमदाद के अलावा अपने संसाधनों से भी इस दिशा में हम आगे बढ़ रहे हैं। पिछले 35 वर्षो का सपना जयपुर-जोधपुर में कमिश्नरेट स्थापित हुआ है। उन्होंने कहा कि असामाजिक तत्वों से, महिला सुरक्षा व शंाति अमन के लिए हम केवल मुस्तैद ही नहीं हैं बल्कि एस पी-कलेक्टर्स को भी यह संदेश दे दिया गया है कि इसमें किसी प्रकार का समझौता नहीं किया जाए।

नए विश्वविद्यालय :- गहलोत ने बताया कि राज्य सरकार ने 8 नए विश्वविद्यालय घोषित किए तथा उन पर काम चल रहा है। धौलपुर, अलवर, सीकर और उदयपुर विश्वविद्यालय तथा जयपुर में हरिदेव जोशी पत्रकारिता विश्वविद्यालय का काम भी तेजी से चल रहा है। उन्होंने बताया कि चितौड़ की तर्ज पर झुंझनंू में सैनिक स्कूल भी बनाया जाएगा।

जोधपुर-नागौर रोड संस्थागत एरिया के रूप में रिजर्व :-  मुख्यमंत्री ने बताया कि जोधपुर में अच्छे संस्थान आए हैं तथा मंडोर से नागौर रोड तक संस्थागत एरिया के रूप में मास्टर प्लान में रिजर्व रखा जाएगा। अन्य मार्गों पर कॅालोनियां व इंडस्ट्रीज होने से इसी एरिया में अनुकूलता सर्वाधिक है। उन्होंने खुशी जाहिर की 55 सालों के बाद यहंा आई. आई. टी. व एम्स आए। इसके अलावा एन आई एफ टी, लेदर डिजाइयनिंग, राधाकृष्ण आयुर्वेद विश्वविद्यालय व एन एल यू जैसे इंस्टीट्यूट्स आए।

केयर्न एनर्जी का प्रशिक्षण केन्द्र :- उन्होंने बताया कि केयर्न एनर्जी की रिफायनरी के लिए हम पूरे प्रयास कर रहे हैं तथा पी एम से भी लगातार सम्पर्क में हैं। इसके लिए 30 से 35 हजार करोड़ का निवेश होगा। संभागीय मुख्यालय का मुख्य प्रशिक्षण केन्द्र यहंा 45 करोड़ की लागत से यहंा शुरू होगा।

शिक्षा के लिए संकल्पबद्घ राज्य सरकार :- मुख्यमंत्री ने इस मौके पर शिक्षा के प्रति संकल्पबद्घता दोहराते हुए लोरड़ी पंडितजी मिडिल तथा राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय जाजीवाल जाखड़ान को क्रमोन्नत करने की घोषणा की। राज्य में स्कूली बच्चों को मैरिट में 10 हजार तक आने पर तथा विश्वविद्यालय स्तर पर भी लैपटाप दिए जा रहे हंै। उन्होंने अनेक फ्लेगशिप योजनाओं तथा रोजगार के लिए किए जा रहे प्रयासों की भी विस्तृत चर्चा की। समारोह में गृह राज्य मंत्री श्री वीरेन्द्र बेनीवाल ने कहा कि न्याय की अलख जगाने वाले इस विश्वविद्यालय की स्थापना नौजवानों के लिए वरदान साबित होगी।सरदार पटेल सुरक्षा और दंाडिक न्याय विश्वविद्यालय के वी सी एम एल कुमावत ने कहा कि महानिदेशकों के सुझावों तथा पुलिस के कौशल व बौद्घिक ज्ञान पर आधारित इस विश्वविद्यालय से युवाओं को सम्मान एवं ज्ञान की प्राप्ति होगी। इससे अपराधों पर नियंत्रण, समाज में सुरक्षा तथा नीति निर्धारण में सहयोग बढ़ेगा। इस एक्ट के उद्देश्यों के तहत वैज्ञानिक ज्ञान व पब्लिक सेफ्टी, क्षमताओं का विकास, नवीन ज्ञान के सृजन तथा फील्ड प्रेक्टिस एवं अन्य समाधान होंगे। 21 वीं सदी में युवाओं की दक्षता और प्रोफेशनलिज्म विकसित होगा। डी जी पी हरीशचंद्र मीणा ने कहा कि प्रगतिशील निर्णय, दूरगामी परिणाम, दक्षता, कार्यकुशलता व विज्ञान व विषय के रूप में यह विश्वविद्यालय खुलना मुख्यमंत्री की उत्कृष्ट सोच का परिणाम है। इसके बाद पुलिस छवि और बेहतर होगी और इससे समाज को लाभ होगा। आर. पी.ए.के. निदेशक डॉ. भूपेन्द्रसिंह यादव ने आभार व्यक्त किया। समारोह में पुलिस विश्वविद्यालय की रजिस्ट्रार निर्मला मीणा, संासद बद्रीराम जाखड़, विधायक ओम जोशी, जेडीए चेयरमेन राजेन्द्र सोलंकी, महापौर रामेश्वर दाधीच, जिला प्रमुख दुर्गादेवी बलाई विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित थे। इस मौके पुलिस कमिश्नर भूपेन्द्र कुमार दक, आई. जी. पुलिस डी. के. जैन, जिला कलेक्टर गौरव गोयल सहित पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी एवं गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment