Close X
Tuesday, April 20th, 2021

गवरनिंग बाडी ने गंभीर कानूनी अपराध किया: सिरसा

​​आई एन वी सी न्यूज़ नई दिल्ली,
  • ​नाम बदलने के मामले पर मनजिंदर सिंह सिरसा ने दयाल सिंह कालेज गवरनिंग कौंसिल के खिलाफ  पुलिस को की शिकायत​
​​दिल्ली सि1ख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के जनरल सचिव मनजिंदर सिंह सिरसा ने आज दयाल सिंह कालेज ट्रस्ट सुसायटी के खिलाफ  पुलिस के पास शिकायत दर्ज करवाई जिसने कालेज का नाम बदलने का फैसला लिया है।
पुलिस स्टेशन लोधी रोड के पास दर्ज करवाई शिकायत में
​​
मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि ट्रस्ट की नियमावली में सपशय लिखा है कि इस संस्था को दिल्ली यूनिवर्सिटी की तरफ  से संभालने के बाद इसका नाम दयाल सिंह कालेज ही रहेगा। उन्होंने कहा कि गवरनिंग बाडी ने नाम बदली के मामले पर जो मता स्वीकृत किया है वह गंभीर गैर कानूनी, गैर संवैधानिक और गैर अपेक्षित है। उन्होंने कहा कि कहीं भी ऐसे हालात पैदा नहीं हुए कि कालेज का नाम बदलना पड़े। उन्होने कहा कि गवरनिंग बाडी की यह कारवाई न सिर्फ गैरकानून्नी है बल्कि इस के साथ भारत में और विदेशों में बसते लोगों के हृदय झिंझोड दिए हैं। उन्होंने कहा कि यह समझ नहीं आता कि गवरनिंग बाडी की तरफ  से 1यों और कौन से हालात में कालेज का नाम बदलने का फैसला लिया गया? श्री सिरसा ने कहा कि श्री दयाल सिंह मजीठिया ने आम व्यक्ति की दशा सुधारने के लिए अहम योगदान डाला था और उन्होंने दूारा स्थापित किए ट्रस्ट और संस्थाएं शिक्षित भारत के मिशन की पूर्ति के लिए काम कर रही हैं। उन्होंने कहा कि यह बहुत हैरानी वाली बात है कि जब पाकिस्तान ने दयाल सिंह मजीठिया के नाम पर कालेज और पुस्तकालय चलाने का फैसला किया है तो फिर दयाल सिंह कालेज दिल्ली की गवरनिंग बाडी को कौन से हालात में में इसका नाम बदलने का फैसला लेना पड़ा और एक राष्ट्रीय हीरो का नाम मिटाने के यत्न किए जा रहे है। श्री सिरसा ने स्पष्ट कहा कि किसी भी हालत में दिल्ली सि1ख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी और अन्य सि1ख संगठन इस नाम तबदीली की इजाजत नहीं देंगे। उन्होने कहा कि राजनीति या राजनैतिक पार्टियां एक अलग मुद्दा हैं परन्तु यह मामला उस व्यक्ति के साथ जुड़ा है जिसने राष्ट्र निर्माण में योगदान डाला कि संकुचित हितों के साथ जुड़े व्यक्तियों को किसी भी कीमत पर सफल नहीं होने दिया जाएगा।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment