आई एन वी सी न्यूज़
जयपुर,
शिक्षा राज्य मंत्री गोविन्द सिंंह डोटासरा ने  कहा कि प्रत्येक जिलें में माध्यमिक शिक्षा बोर्ड का एक विधार्थी सेवा केन्द्र  खुलेगा जिससे विद्यार्थियों को अपने  कार्य के लिए माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अजमेर में नहीं जाना पड़ेगा जिससे उन्हें समय, धन की बचत होगी। श्री डोटासरा गुरूवार को सीकर के  सर्किट हाउस में आयोजित कार्यक्रम में बोल रहे थे। उन्होंने बताया कि महात्मा गांधी की 150 वीं जयन्ती पर राज्य सरकार ने निर्णय लिया है कि प्रत्येक जिले पर महात्मा गांधी के नामकरण से एक से आठवीं तक का विद्यालय संचालित किया जावें।  
                                                                       
प्रदेश में गरीब बच्चों के लिए इंग्लिश मीडियम स्कूलों की उपयोगिता को देखते हुए सरकार ने हर जिलें में एक -एक इंग्लिश मीडियम स्कूल खोली जायगी जिससे कि गरीब व निर्धन बच्चें पढ़-लिखकर आगे बढ़ सके। शिक्षा विभाग की यह मांग थी कि सरकारी स्कूलों में जो बच्चें खेल में रूचि रखते है उन्हें अच्छे खिलाडी के रूप मेें विकसित करने के लिए प्रयास  किया जाये, अब इस दिशा  मे ओर आगे बढ़ने की जरूरत है कि  विद्यालय में खेल मैदान बने व विधार्थियों को आवश्यक सुविधायें उपलब्ध करवाई जाये। उन्होंने कहा कि जो शिक्षण संस्थान बच्चों को शिक्षा देने में असमर्थ है शिक्षा विभाग उस संस्थान की सहायता करेगा तथा जो शिक्षण संस्थान मनचाही फीस लेते है व शिक्षा विभाग के नियमों की पालना नहीं करते है उनके खिलाफ आवश्यक कार्यवाही की जायेगी। माध्यमिक शिक्षा बोर्ड का प्रत्येक जिलें में विद्यार्थी सेवा केन्द्र बनायेंगे जिसे डाईट में संचालित किया जायेगा जिसमें सभी प्रकार विद्यार्थियों को सुविधायें उपलब्ध करवाई जायेगी व जितनी सुविधाएं बोर्ड में मिलती है वों सभी जिला स्तर पर ही उपलब्ध करवाई जायेगी। उन्होंने बताया कि सरकारी विद्यालयों के संबंध में कभी भी कोई परेशानी हो तो शिक्षा विभाग को अवगत करवायें जिससे कि समस्या का निवारण हो सके साथ ही बेहतर शिक्षा परिणाम लाने वाले बच्चों के रिकार्ड विभाग को भिजवायें ताकि उन्हें उनकी योग्यता के अनुसार सम्मानित करवाया जा सके ताकि बच्चों में शिक्षा के प्रति रूझान बढे़गा व शिक्षा के क्षेत्र का विकास होगा।