Tuesday, November 12th, 2019
Close X

खुफिया एजेंसियों ने जताया जान को खतरा

खालिस्तान आतंकवादियों का नेटवर्क और ड्रोन से हथियार गिराने की घटनाओं के बाद सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह की जान को भी खतरा है। ऐसा इनपुट केंद्रीय गुप्तचर एजेंसियों ने दिया है। इसके मद्देनजर कैप्टन की सुरक्षा की समीक्षा की जा रही है।
कैप्टन अमरिंदर सिंह पाकिस्तान पीएम इमरान खान और पाक आर्मी चीफ कमर जावेद बाजवा को चुनौती देने के बाद से पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के निशाने पर हैं।

पंजाब में ड्रोन से हथियार गिराने के मामले की जांच कर रही एनआईए ने भी जो इनपुट केंद्रीय एजेंसियों को दिए है उसमें भी कैप्टन पर खतरे की बात कही गई है। इसके चलते कैप्टन के काफिले में बुलेटप्रूफ गाड़ियों को बढ़ाने पर विचार शुरू हो चुका है। सीएम के काफिले में 15 गाड़ियां चलती हैं। इनकी संख्या बढ़ाई जा सकती है। इसके अलावा चार विधानसभा सीटों पर उप चुनाव में प्रचार के दौरान कैप्टन की सुरक्षा को लेकर भी रणनीति बनाई जा रही है।

क्या कहा था कैप्टन ने इमरान और बाजवा को
कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पुलवामा हमले के बाद पाक पीएम और कमर जावेद बाजवा को चुनौती दी थी। कैप्टन ने ट्वीट के जरिए इमरान से कहा था कि जैश प्रमुख बहावलपुर में बैठा है और आईएसआई की मदद से आतंकी गतिविधियां चला रहा है। जाओ और मसूद अजहर को पकड़ो। अगर तुम ऐसा नहीं कर पा रहे हो तो हमें बताओ, हम उसे पकड़ लेंगे। लेकिन हमें लेक्चर मत दो।

वहीं पिछले साल 26 नवंबर को कैप्टन ने पाक आर्मी चीफ बाजवा को खुलेआम स्टेज से चुनौती दी थी। कैप्टन ने कहा कि निरंकारी सत्संग पर ग्रेनेड फेंके गए। सत्संग करने वाले मासूमों का क्या कसूर था। शर्म आनी चाहिए बाजवा को, यह बुजदिली है . PLC

Comments

CAPTCHA code

Users Comment