Close X
Thursday, December 9th, 2021

खर्चा वसूलेगी सरकार   

प्रयागराज। उत्तरप्रदेश का सरकारी अमला अब पूर्व बाहुबली सांसद अतीक अहमद से उसकी बहुमजिला इमारतों को द्वस्त करने में हुए खर्चे की वसूली की तैयारी कर रहा है। दरअसल अतीक के खिलाफ कैंट थाने में दर्ज गैंगस्टर के मुकदमे के तहत बीस सम्पत्तियों की कुर्की की कार्रवाई 26 अगस्त से शुरु हुई थी। पांच सितम्बर को अतीक अहमद के रिश्तेदार इमरान की कब्जे वाली करोड़ों की बिल्डिंग पर सरकारी जेसीबी मशीनें लगाकर ध्वस्तीकरण की कार्रवाई हुई। 7 सितम्बर को बाहुबली पूर्व सांसद की सिविल लाइन के नवाब युसुफ रोड़ पर अवैध कब्जा कर बनायी गई करोड़ों की प्रापर्टी पर बुलडोजर चलाया गया। अतीक के कोल्ड स्टोरेज, कब्जे वाले दो बड़े प्लाट, आफिस के कुछ हिस्से और उसके पुश्तैनी आवास पर भी बुलडोजर चलाकर जमींदोज कर दिया गया। बाहुबली और उसके करीबियों की अवैध सम्पत्तियों के ध्वस्तीकरण की कार्रवाई पर सरकारी अमले ने अब तक करीब पचीस लाख रूपये खर्च किये हैं।


 बताय जा रहा है कि अलग अलग दिन हुई कार्रवाइयों में खर्च हुए करीब 50 लाख रूपयों का बिल जल्द ही अतीक और उसके करीबियों को सौंपा जाएगा। बाहुबली से ही आरसी जारी कर ध्वस्तीकरण पर हुए खर्च की रिकवरी भी की जाएगी। पीडीए के जोनल अधिकारी सत शुक्ला के मुताबिक अतीक अहमद के खिलाफ उत्तर प्रदेश नगर नियोजन एवं विकास अधिनियम 1973 की धारा 27 के तहत नोटिस जारी कर कार्रवाई की गई है। इसके तहत ध्वस्तीकरण में हुआ खर्च सम्बन्धित व्यक्ति से ही वसूले जाने का प्रावधान है। इस नियम के मुताबिक अगर माफिया अतीक अहमद ने इन खर्चों का निर्धारित समय सीमा में भुगतान नहीं किया तो डीएम के ज़रिये उसकी किसी संपत्ति को जब्त कर उसकी नीलामी की जाएगी और नीलामी से मिली रकम से ही खर्च की भरपाई की जाएगी। PLC.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment