Close X
Wednesday, September 23rd, 2020

क्या है बेबू, लीलू और सर जी का कनेक्शन

पटना ।  सुशांत सिंह राजपूत ने खुद आत्महत्या की थी या उसे इसके लिए उकसाया गया था या फिर उसकी हत्या हुई थी। रिया चक्रवर्ती और उसके भाई शौविक का इस केस में क्या कनेक्शन है इन सब बातों को तलाशने में अब सीबीआई जुट चुकी है। उम्मीद है वह इस मामले की तह तक पहुंच कर सबने सामने सच्चाई ले आएगी। वहीं पटना में सुशांंत के पिता केके सिंह द्वारा रिया चक्रवर्ती सहित कई लोगों पर मुकदमा दर्ज कराने के बाद बिहार से एक टीम जांच के लिए मुंबई पहुंची थी। उसकी जांच पड़ताल में भी कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं।

डायरी की तलाश :

सूत्रों के अनुसार सुशांत की गर्लफ्रेंड और केस की मुख्य आरोपित रिया चक्रवर्ती ने खुद के पास सुशांत की एक डायरी होने का दावा किया है। डायरी सुशांत ने अलग-अलग सात लाइनों में रिया और उनके परिवार के बारे में अपनी बात रखी है। इन सात लाइनों में उन्होंने कई तरह की बातें लिखी हैं। दावा है कि उन्होंने रिया के परिवार का आभार जताया है। डायरी में सुशांत ने रिया को बेबू लिखा है। जबकि उनके भाई को लीलू, मां को मैम और पिता को सर कहकर लिखा है। एक कुत्ते को वे फज कहकर बुलाते थे। रिया का दावा है कि उनके पास सुशांत की एक बोतल है जिस पर उनकी आखिरी फिल्म छिछोरे लिखा है। सुशांत की यही संपत्ति उनके पास है। सुशांत ने डायरी में अंग्रेजी में सात लाइनें लिखी है। हालांकि उस डायरी के पन्ने पर तारीख नहीं लिखा। न ही समय लिखा है। इसके अलावा उस पर सुशांत का हस्ताक्षर भी नहीं है।

डायरी के पन्ने जलाने पर हुई थी जांच

सूत्रों की मानें तो पटना पुलिस की टीम सुशांत की इसी डायरी की तलाश में थी लेकिन वह नहीं मिली। खबर थी कि डायरी में सुशांत कई तरह की बातें लिखते थे। उस डायरी को जला देने की बात भी सामने आयी थी। डायरी को लेकर कई तरह की जांच हो सकती है।

ये लाइनें डायरी में लिखी गई हैं :

- मैं अपने जीवन के प्रति आभार व्यक्त करता हूं

- मैं अपने जीवन में लीलू के प्रति आभारी हूं

- मैं अपने जीवन में बेबू के प्रति आभारी हूं

- मैं अपने जीवन में सर के प्रति आभारी हूं

- मैं अपने जीवन में मैम के प्रति आभारी हूं

- मैं अपने जीवन में फज के प्रति आभारी हूं

- मैं अपने जीवन में हर तरीके के प्यार के लिये आभारी हूं

जिन लोगों का एसआईटी ने लिया बयान वह आएगा सीबीआई के काम
पटना पुलिस की एसआईटी के द्वारा जुटाये गये कई सबूत सीबीआई के लिये इस जांच में तुरूप का पत्ता साबित हो सकते हैं। दरअसल मुंबई जांच करने गयी पुलिस टीम ने कई लोगों से बातचीत की। उनका बयान दर्ज किया। पुलिस टीम सुशांत के घर गयी जहां उनका शव मिला था। इन सभी बातों का जिक्र केस के आईओ ने अपनी डायरी में किया था। यहां तक कि उन्होंने कई सबूत भी जुटाये थे। दिशा सलियान के साथ हुई घटना का जिक्र भी किया था। खासतौर से जो बयान पटना पुलिस की टीम ने लिये हैं उन पर सीबीआई की नजर रहेगी। सूत्रों की मानें तो जिस वक्त पटना पुलिस की टीम केस से जुड़े सारे कागजात सीबीआई को सौंपने के लिये गयी थी उसी समय वहां के अफसरों ने आईओ से कई तरह की जानकारियां भी ली थीं। हालांकि इन बातों को बेहद गोपनीय रखा गया है। सूत्र बताते हैं कि पटना पुलिस ने इस मामले में बिलकुल सटीक जांच की थी। एसआईटी की जांच को देखकर ही मुंबई पुलिस तिलमिला गयी और उसने पटना पुलिस के काम में बाधा डालना शुरू कर दिया।PLC.

 

Comments

CAPTCHA code

Users Comment