Close X
Monday, June 14th, 2021

कोविड के बाद शिक्षा, संचार और प्रबंधन को नवीन तरीक़े से डिजाइन करना होगा: डॉ डीपी शर्मा

आई एन वी सी न्यूज़
नई दिल्ली,  
जीएल बजाज इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड रिसर्च ने शनिवार, 08 मई, 2021 को "कोविड के बाद शिक्षा, संचार और प्रबंधन का एक नया प्रतिमान" पर ग्लोबल टॉक सीरीज़ का आयोजन किया।

ग्लोबल टॉक सीरीज़ की शुरुआत सरस्वती वंदना से हुई।

डॉ अजय कुमार, निदेशक ने अतिथि वक्ता का स्वागत किया। उन्होंने संदेश दिया कि कोविड महामारी ने संचार, शिक्षा और प्रबंध के सभी पारंपरिक सोच को बदल दिया है। इसे अपनाने और लागू करने के लिए नीतियों के साथ आने की जरूरत है।

प्रो (डॉ) डी पी शर्मा, एक्सपैट इंटरनेशनल कंसल्टेंट एडवाइजर- आईटी, आईएलओ (यूएन) और नेशनल ब्रांड एंबेसडर, स्वच्छ भारत मिशन, ग्लोबल टॉक सीरीज़ के स्पीकर थे। प्रो शर्मा ने कहा कि महामारी के इन चुनौतीपूर्ण समय में सिस्टम नष्ट हो रहे हैं। उन्होंने पवित्र पुस्तक गीता से सीखने पर जोर दिया और यह भी साझा किया कि अमेरिका में 18 विश्वविद्यालयों, गीता के शिक्षण को सिखाया और चर्चा की जाती है। उन्होंने साझा किया कि यह अतीत से सीखने का समय है और इसके सीखने को वर्तमान कठिन समय के अनुकूल बनाना है। उन्होंने वर्तमान युग में प्रौद्योगिकी और संचार के महत्व पर प्रकाश डाला। पिछले दशक में सबसे महत्वपूर्ण नवाचार मोबाइल के रूप में संचार है। यह एक सहयोगी उपकरण के रूप में भी काम करता है जो अब बहुउद्देशीय डिवाइस के लिए काम करता है।

सत्र का उद्देश्य छात्रों को शिक्षा, संचार और प्रबंधन की दुनिया पर कोविड 19 के प्रभाव और महामारी के कारण नीतियों में हाल के बदलावों से अवगत कराना था। इसके अलावा ग्लोबल टॉक सीरीज़ ने भी शॉर्ट टर्म और लॉन्ग टर्म में Covid19 के बाद लाइफ को सपोर्ट करने के लिए री-ओरिएंटेशन की जरूरतों पर फोकस किया। छात्रों ने प्रोफ़ेसर शर्मा से प्रौद्योगिकी अपनाने से लेकर नौकरियों पर इसके प्रभाव तक के सवाल पूछे। ग्लोबल टॉक सीरीज़ डॉ सुचिता सिंह, प्रोग्राम चेयरपर्सन द्वारा धन्यवाद देने के साथ समाप्त हुई।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment