Close X
Tuesday, October 26th, 2021

कोविड के कारण विदेशी पर्यटकों की तादाद घटी

आई एन वी सी न्यूज़
जयपुर,
पर्यटन राज्य मंत्री श्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा है कि राजस्थान को पर्यटन के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ बनाने के लिए सभी को मिलकर प्रयास करना होगा। इस कार्य में आमजन की सहभागिता भी महत्वपूर्ण सिद्ध होगी। श्री डोटासरा शुक्रवार को अपने आवास पर राजस्थान टूरिज्म एवं फिक्की राजस्थान स्टेट काउंसिल की ओर से आयोजित ‘राजस्थान कॉलिंग‘ वर्चुअल रोड शो को सम्बोधित कर रहे थे।

श्री डोटासरा ने कहा कि कोविड के कारण भारत आने वाले विदेशी पर्यटकों की तादाद घटी है लेकिन देशी पर्यटक जो विदेश जा रहे थे, वो भी देश में ही सुरक्षित पर्यटन स्थलों पर जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोविड के बाद नई पर्यटन नीति लागू करने वाला राजस्थान देश का पहला राज्य है। राज्य सरकार ने कोरोना काल के अनुभवों को सम्मिलित कर पर्यटन को नई दिशा प्रदान की है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में राज्य सरकार द्वारा कई नवाचार किये जा रहे हैं, जिससे पर्यटकों को राजस्थान भ्रमण के लिए आकर्षित किया जा सके। साथ ही राज्य सरकार द्वारा पर्यटकों की यात्रा को सुगम एवं सुरक्षित बनाने के लिए मोबाइल एप को विकसित किया गया है।

पर्यटन राज्य मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने बजट में संकट से जूझ रहे पर्यटन के विकास व ब्रांडिंग के लिये 500 करोड़ रुपये का प्रावधान किया। प्रदेश में शहरी के साथ-साथ ग्रामीण पर्यटन में विकास की व्यापक संभावनाएं हैं। पहचान कर इन क्षेत्रों का विकास किए जाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के प्रमुख शहर तो विश्व के पर्यटन मानचित्र में अंकित हैं ही, लेकिन यहां के गांव भी बहुमूल्य सांस्कृतिक और कला विरासत को सहेजे हुए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने पर्यटकों के साथ दुव्र्यवहार करने वालों एवं लपकों के खिलाफ कड़ी सजा का प्रावधान भी किया है, जिससे पर्यटकों के साथ होने वाले दुव्र्यवहार पर रोक लग सकेगी।

पर्यटन विभाग की प्रमुख शासन सचिव श्रीमती गायत्री राठौड़ ने बताया कि प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कई नवाचार किए जा रहे हैं। इस क्रम में उदयपुर, राजसमन्द और डूंगरपुर जिले को मानसून टूरिज्म डेस्टीनेशन के रूप में प्रचलित करने के लिए ब्लॉग्स एवं शॉर्ट वीडियोे के माध्यम से राजस्थान पर्यटन के सोशल मीडिया हैंडल्स पर प्रचारित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि पारम्परिक आकर्षणों के साथ नए आयाम जोड़ कर उन्हें ओर आकर्षित बनाया जा रहा है।

पर्यटन विभाग के निदेशक श्री निशांत जैन ने बताया कि राजस्थान पर्यटन महत्वपूर्ण सेक्टर बनकर उभर रहा है। राजस्थान में एडवेंचर टूरिज्म, नाइट टूरिज्म, रूरल टूरिज्म का दायरा बढ़ा है।

वेबिनार को फिक्की ट्रेवल, टूरिज्म एंड हॉस्पिटैलिटी कमेटी के को-चेयरमैन श्री दीपक देवा, फिक्की राजस्थान स्टेट काउंसिल को-चेयरमैन श्री रणधीर विक्रम सिंह और एसोसिएशन ऑफ डोमेस्टिक टूर ऑपरेटर्स ऑफ इंडिया (एडीटीओआई) के अध्यक्ष श्री पी पी खन्ना ने भी संबोधित किया।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment