आई एन वी सी न्यूज़
जयपुर,

कोरोना संक्रमण रोकने को लेकर हनुमानगढ़ जिले में अच्छा कार्य हो रहा है। जयपुर में हमें इसको लेकर बधाई मिल रही है। ये कहना है जिला प्रभारी और शिक्षा राज्य मंत्री श्री गोविंद सिंह डोटासरा का जो शनिवार को सीकर से वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए कलक्टर-एसपी समेत अन्य अधिकारियों से कोरोना रोकथाम को लेकर समीक्षा बैठक में मुखातिब थे।

श्री डोटासरा ने समीक्षा बैठक में जिले में जरूरतमंदों को राशन किट वितरण, होम आइसोलेशन, क्वारेंटाइन सेंटर, कोरोना सैंपलिंग, विधायक कोष से जारी राशि, जनसहयोग से इकट्ठा हुई राशि, मनरेगा में मजदूरों को काम देने, बाहर से आने वाले और जाने वाले मजदूरों, प्रवासियों की संख्या, मंडियों में फसल खरीद इत्यादि की पूरी जानकारी ली। साथ ही कहा कि जिले में जरूरतमंदों को राशन किट उपलब्ध करवाए ताकि कोई भूखा ना सोए। उन्होंने निर्देश दिए कि जिले में राशन की दुकानें समय पर खुलें और समय पर बंद हो ताकि जरूरतमंदों को कोई दिक्कत ना आए। उन्होंने जिले से ज्यादा से ज्यादा सैंपल भेजने की बात कही ताकि कोई संदिग्ध हो तो उसकी समय पर ही पहचान हो सके। साथ ही कहा कि बाहर से आए लोगों को लेकर गांवों में स्कूलों और सामुदायिक केन्द्रों में भी क्वारेंटाइन सेंटर बनाए जा सकते हैं, जिसमें शिक्षक इत्यादि की ड्यूटी लगाई जा सकती है। जिला प्रभारी मंत्री ने जिला कलक्टर और एसपी से इस बारे में सुझाव भी मांगा कि जिले में आर्थिक गतिविधियां कैसे शुरू करें ताकि लोग कम से कम संक्रमित हों।

समीक्षा बैठक में जयपुर से जुड़े देवस्थान विभाग के प्रमुख शासन सचिव और जिला प्रभारी सचिव श्री आलोक गुप्ता ने सरकार द्वारा गौशालाओं को जारी किए अनुदान को आगामी तीन दिन में जारी करने के निर्देश दिए। साथ ही कहा कि बाहर से जो लोग जिले में आ रहे हैं उनका होम क्वारेंटाइन अच्छे से करना और उन पर निगरानी रखना अति आवश्यक है। ताकि कोई कोरोना संक्रमित हो तो वो अपने आस पड़ौस के लोगों को संक्रमित ना कर पाए। वहीं जयपुर से ही जुड़े चिकित्सा शिक्षा विभाग के सचिव श्री वैभव गालरिया ने जिले में एग्रेसिव टेस्टिंग का सुझाव दिया। उन्होंने कहा कि राज्य की क्षमता अब प्रति दिन 10 हजार से ज्यादा सैंपलिंग की है। बीकानेर में भी प्रतिदिन 1 हजार सैंपल की क्षमता है लेकिन वहां प्रतिदिन करीब 500 सैंपल ही पहुंच रहे हैं।

जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने बताया कि जिले में कोरोना रोकथाम को लेकर जिले के विधायकों ने विधायक कोष से पैसा देने के अलावा जनसहयोग भी बहुत मिला है। विभिन्न सामाजिक संस्थाओं और लोगों ने मुख्यमंत्री राहत कोष में पैसा जमा करवाने के साथ साथ राशन किट बांटने में भी कोई कोर कसर नहीं छोड़ी है। विभिन्न रसोईयों, गुरूद्वारों ने भी लंगर के जरिए जरूरतमंद लोगों को भोजन उपलब्ध करवाने में बड़ी भूमिका निभाई। जिला कलक्टर ने बताया कि जिले में अब तक करीब 1700 लोगों के सैंपल बीकानेर भिजवाए जा चुके हैं और जिले के जो 11 पॉजिटिव आए थे, वह रिकवर होकर अपने घर जा चुके हैं। बैठक में पुलिस अधीक्षक श्रीमती राशि डोगरा ने बताया कि जिले में पुलिस का जाप्ता नाकों पर तैनात है। बाहरी लोगों को पूरी चैकिंग के बाद ही आने दिया जा रहा है। जिले में लॉ एंड ऑर्डर को लेकर कोई समस्या नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here