Wednesday, June 3rd, 2020

कोरोना वायरस : सऊदी अरब में मस्जिदों में नमाज पढ़ने पर रोक

कोरोना वायरस का कहर दुनियाभर बढ़ता ही जा रहा है। फिलहाल इसका सबसे ज्यादा कहर इटली में है, जहां एक ही दिन में 475 लोगों की मौत हो गई। इसके साथ ही वहां मृतकों की संख्या 2,978 हो गई। वहीं, 24 घंटे के दौरान 4,207 नए मरीज सामने आने से कुल मरीजों की संख्या 35,713 पहुंच गई है। दूसरी ओर ब्रिटेन में एक दिन में 33 मौत व 676 नए मरीज मिलने के बाद देश के सभी शिक्षण संस्थान बंद कर दिए गए। राहत की खबर चीन से है, जहां केवल 13 नए मरीज मिले हैं और 11 लोगों की मौत हुई है। चीन में कुल संक्रमित लोगों की संख्या 80,894 पहुंच गई है। इटली के बाद कोरोना का सबसे ज्यादा कहर ईरान पर है, जहां एक दिन में 147 लोगों की मौत के साथ मृतकों का आंकड़ा 1,135 पहुंच गया। ईरान में एक दिन में 1192 नए मरीज सामने आए हैं।कोरोना वायरस मानवता का दुश्मन: डब्ल्यूएचओ प्रमुख
विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के प्रमुख टेड्रोस अदनोम गेब्रेयसस ने बुधवार को कहा कि कोरोना वायरस 'मानवता का दुश्मन' है, जिसकी चपेट में दो लाख से अधिक लोग आ गए हैं। गेब्रेयसस ने कहा, 'कोरोना वायरस के चलते हम अभूतपूर्व खतरे का सामना कर रहे हैं।'

ईरान में एक हजार से अधिक की मौत
ईरान ने 147 लोगों की और मौत हो गई है। इससे देश में कोरोना की वजह से मरने वालों का आंकड़ा 1,135 हो गया है। ईरान इस समय पश्चिम एशिया में इस बीमारी का केंद्र बना हुआ है और आसपास के कई देशों जैसे पाकि स्तान, यूएई, बहरनी और कुवैत में कई मामले ईरान की वजह से ही सामने आए हैं। देश के उपस्वास्थ्य मंत्री अलीरजा रईसी ने लोगों को सलाह दी है कि वे अगले दो सप्ताह तक घरों में रहें। यहां संक्रमण के 1,192 मामले सामने आए हैं और कुल पीड़ित लोगों की संख्या 17,361 हो गई है।  

ऑस्ट्रेलिया में इमरजेंसी का एलान
ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरीसन ने बुधवार को देश में मानव जैव सुरक्षा आपातकाल की घोषणा कर दी है। इसके साथ ही देश में नए प्रतिबंध लागू कर दिए गए हैं। इस इमरजेंसी के लागू होने से सरकार को कर्फ्यू लगाने की शक्ति मिल गई है और वह अब, अगर जरूरी लगे तो लोगों के लिए अलग थलग रहने का आदेश जारी कर सकती है। ये नए प्रतिबंध अब यहां के स्तर चार के आ गए हैं। 

इसका मुख्य असर यात्रा करने पर है। नए कानून के तहत सरकार को यह शक्ति मिल गई है कि वह लोगों से कह सके कि वे यात्रा न करें। देश में ऐसा पहली बार हुआ है जब स्तर चार के प्रतिबंध को लागू कर दिया गया है। यहां करीब साढ़े चार सौ पुष्ट मामले सामने आ चुके हैं, इनमें से पांच की मौत हो चुकी है और 43 लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं। 

सऊदी अरब में मस्जिदों में नमाज पढ़ने पर रोक
सऊदी अरब ने देश की सभी मस्जिदों में नमाज अदा करने पर रोक लगा दी है। शासकीय मीडिया में जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि हालांकि ये प्रतिबंध इस्लाम की दो सबसे पवित्र जगहों मक्का और मदीना की मस्जिदों पर लागू नहीं होगा। सऊदी प्रेस एजेंसी के अनुसार मस्जिदें पांचों वक्त की नमाज के लिए बंद रहेंगी। इसके अलावा जुमे की नमाज भी अदा नहीं की जा सकेगी। 

हालांकि, मस्जिदों से अजान को नहीं रोका गया है। आदेश के अनुसार अब लोग घरों में ही नमाज अदा करेंगे। सऊदी अरब में कोरोना के करीब 170 मामले हैं और यहां सिनेमाहॉल, मॉल और रेस्त्रां बंद किए जा चुके हैं। यहां उमरा पर भी रोक लग चुकी है। इसके अलावा 15 दिन के लिए निजी क्षेत्र के कर्मचारियों को काम पर नहीं आने का आदेश दिया गया है। 

रक्षा उत्पादन अधिनियम लागू करेगा अमेरिका
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को कहा कि उनका प्रशासन रक्षा उत्पादन अधिनियम लागू करेगा। इस कदम के जरिए कोरोना वायरस प्रकोप से निपटने के लिए मास्क और दस्ताने समेत प्रमुख चिकित्सा आपूर्ति और उपकरणों के घरेलू निर्माण में तेजी आएगी।

अमेरिका में संक्रमित मामलों की संख्या 6500 के पार, 115 की मौत
अमेरिका में कोरोना वायरस संक्रमण के पुष्ट मामलों की संख्या 6500 के पार चली गई है जबकि 115 लोगों की जान जा चुकी है। कोरिया से युद्ध शुरू होने पर 1950 में इस अधिनियम को कांग्रेस ने पारित किया था। इसके तहत राष्ट्रपति राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित औद्योगिक उत्पादन को बढ़ाने का आदेश दे सकते हैं।

दुनियाभर में 85 करोड़ बच्चों की पढ़ाई बंद : यूएन
संयुक्त राष्ट्र के अनुसार इस समय विश्व में करीब 85 करोड़ बच्चे, किशोर और युवा  स्कूल नहीं जा पा रहे हैं। संयुक्त राष्ट्र की संस्था यूनेस्को ने बुधवार को एक रिपोर्ट जारी करके यह जानकारी दी। इसमें कहा गया है कि 113 देशों ने शैक्षिक संस्थानों को एहतियात के तौर पर बंद कर दिया है।

बांग्लादेश में कोरोना से पहली मौत
कोरोना की वजह से देश मे बुधवार को एक व्यक्ति की मौत हो गई है। इस बीमारी की वजह से होने वाली मौत का यह पहला मामला है। अधिकारियों ने बताया कि उक्त शख्स की उम्र 70 साल थी और वह पहले से कई बीमारियों से जूझ रहा था। 

ब्रिटेन में सुपरमार्केट में राशनिंग से मिलेंगे मास्क, सैनेटाइजर
यूनाइटेड किंगडम में मास्क, सैनेटाइजर की भारी मांग, लेकिन कम आपूर्ति को देखते हुए राशनिंग के जरिए ही इन्हें बेचा जाएगा। देश की सबसे बड़ी सुपरमार्केट चेन बूट्स सहित दूसरी चेनों ने तय किया हे कि जरूरी सामान केवल राशन प्रणाली के जरिए ही बेचा जाएगा। एक रिपोर्ट में कहा गया हे कि थर्मामीटर, पैरासीटामॉल और हाथ धोने का साबुन बाजार में मुश्किल से मिल रहा है। साबुन की बिक्री में एक हजार गुने का इजाफा हो गया है। 

विश्व में 3.4 खरब डॉलर  की आय का नुकसान : यूएन 
संयुक्त राष्ट्र ने कोरोना वायरस के चलते लाखों लोगों के बेरोजगार होने का अंदेशा जताया है, जिससे दुनियाभर के कामगारों को 3.4 अरब डॉलर से ज्यादा की आय का नुकसान होगा। संयुक्त राष्ट्र ने बुधवार को चेतावनी जारी करते हुए कहा, महामारी से दुनिया भर में बेरोजगारी और कामकाजी गरीबी बढ़ेगी। लाखों लोग रोजगार गंवाएंगे, जिसका सीधा मतलब है कि एक बड़ी राशि का नुकसान होगा। 2020 के अंत तक कामगारों के 860 बिलियन या 3.4 ट्रिलियन डॉलर गंवाने का खतरा है।

‘कोरोना वायरस सूचना केंद्र’ बनाएगा व्हाट्सएप
कोरोना वायरस के खिलाफ वैश्विक मुहिम के समर्थन में व्हाट्सएप ने दो अहम एलान किए। व्हाट्सएप विश्व स्वास्थ्य संगठन, यूनिसेफ और यूएनडीपी के साथ मिलकर ‘कोरोना वायरस सूचना केंद्र’ बनाने और इंटरनेशनल फैक्ट चेकिंग नेटवर्क को एक मिलियन डॉलर देने की घोषणा की। 

व्हाट्सएप ने बताया, whatsapp.com/coronavirus पर मौजूद सूचना केंद्र सभी स्वास्थ्य कर्मियों, शिक्षकों, सामुदायिक नेताओं, गैर लाभकारी संगठनों, स्थानीय सरकारों और कंपनियों को कोरोना से जंग में सरल व क्रियात्मक मार्गदर्शन प्रदान करेगा।

इसके अलावा, दुनिया भर के यूजर्स को अफवाहों से बचने और सटीक स्वास्थ्य जानकारी से जुड़ी आम जानकारी भी मुहैया कराएगा। इसके अलावा लोगों की सहायता के लिए हॉटलाइन भी स्थापित की जा रही हैं। 

श्रीलंका को चीन देगा 50 करोड़ डॉलर का ऋण
श्रीलंका की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए मदद के तौर पर चीन अपने विकास बैंक से 50 करोड़ डॉलर का ऋण देगा। श्रीलंका के वित्त मंत्रालय ने कहा कि देश के आधिकारिक भंडार को बढ़ाने के लिए अगले सप्ताह की शुरुआत में 50 करोड़ डॉलर का ऋण जारी किया जाएगा।

एक बयान में कहा गया कि यह सुविधा श्रीलंका सरकार द्वारा चीन सरकार और चीन विकास बैंक को दिए गए अनुरोध पर देश के विकास के लिए उपलब्ध कराई गई है। चीन के केंद्रीय बैंक ने इस सप्ताह प्रत्याशित कोरोना वायरस प्रभाव को देखते हुए नीतिगत ब्याज दरों को कम कर दिया है। 

बयान में कहा गया कि सेंट्रल बैंक ने कोविड-19 महामारी के वैश्विक प्रसार और श्रीलंका में इसके संभावित प्रसार के साथ आर्थिक गतिविधियों को समर्थन देने की तुरंत जरूरत महसूस की है। श्रीलंका में विभिन्न बुनियादी ढांचा परियोजनाओं में चीन पहले से ही सबसे बड़े निवेशकों में से एक है।PLC.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment