Friday, August 14th, 2020

कोरोना के सच को झुठलाकर चुनाव में व्यस्त हो गई भाजपा

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि जनता को धोखा देने और बहकाने में भाजपा का कोई मुकाबला नहीं कर सकता। दावा किसानों के बैंक खातों में पैसे भेजने का किया जा रहा है पर वास्तव में 20 लाख करोड़ के महापैकेज से किसानों के खाते में एक रुपये भी नहीं आया है। उल्टे किसान के जमा खाते से कर्ज अदायगी के लिए दबाव बनाया जा रहा है। कन्नौज में एक प्रवासी मजदूर के परिवार में जब खाने के लाले पड़ने लगे तो महिला ने अपना जेवर बेच दिया। उसको न राशन मिला और नहीं काम।

अखिलेश ने पूछा लघु एवं मध्यम श्रेणी के उद्योगों के लिए 3 लाख करोड़ के बंटवारे में उत्तर प्रदेश को कितना मिला। उसका कहां और कब इस्तेमाल होगा। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में आज बेरोजगारी आत्महत्याओं के रूप में एक भयावह समस्या बन गई है। कोरोना के सच को झुठलाकर चुनाव में व्यस्त हो गई भाजपा बेकारी और भुखमरी को समस्या ही नहीं मान रही है तो समाधान क्या करेगी। उन्होंने कहा कि बिहार में चुनाव आते ही कुछ दिनों बाद तो प्रदेश के स्टार प्रचारक भी उड़ जाएंगे।

सपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा लोकतंत्र को कमजोर करने की साजिश में जुटी है। सौ करोड़ से ज्यादा खर्च एक वर्चुअल रैली पर करके जनता से छल किया जा रहा है। बिहार के बाद बंगाल और अब किसी अन्य राज्य में भी यही कहानी दुहराई जाएगी। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के समय अन्य असाध्य बीमारियों के इलाज के लिए विधायक निधि से कम से कम 50 लाख देने की व्यवस्था होनी चाहिए। भाजपा सरकार ने विधायक निधि से सहायता देने की व्यवस्था बंद कर दी है। एक संवेदनहीन सरकार ही ऐसा अमानवीय कार्य कर सकती है। PLC.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment