Close X
Saturday, September 25th, 2021

कोरोना की दूसरी लहर नियंत्रित हुई

आई एन वी सी न्यूज़ 
भोपाल,
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर नियंत्रित हुई है, परन्तु तीसरी लहर की संभावनाएँ अभी समाप्त नहीं हुई हैं। केरल एवं महाराष्ट्र राज्यों में अभी भी बड़ी संख्या में कोरोना के प्रकरण आ रहे हैं। अत: पूरी सतर्कता एवं सावधानियाँ रखें तथा तीसरी लहर संबंधी तैयारियाँ पूरी मुस्तैदी से करें। कार्य में थोड़ी भी लापरवाही नहीं होनी चाहिए।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में कोरोना टीकाकरण का कार्य तेज गति से किया जाए। केन्द्र से प्रदेश को पर्याप्त संख्या में वैक्सीन मिल रही है तथा आगे भी मिलती रहेगी। कोरोना टीकाकरण में देश में प्रदेश का चौथा स्थान है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति, तीसरी लहर की तैयारियों तथा टीकाकरण कार्य की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में लोक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री मोहम्मद सुलेमान, स्वास्थ्य आयुक्त श्री आकाश त्रिपाठी आदि उपस्थित थे।

121 एक्टिव एवं 10 नए प्रकरण
कोरोना की समीक्षा में बताया गया कि प्रदेश में कोरोना के 121 एक्टिव प्रकरण हैं। वहीं 10 नए प्रकरण आए हैं। प्रदेश में लगभग 70 हजार टेस्ट रोज हो रहे हैं। पॉजिटिविटी रेट 0.01 प्रतिशत है। कोरोना संक्रमण में प्रदेश देश में 30वें स्थान पर है।

कलेक्टर सुनिश्चित करें समय पर तैयारियाँ
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि सभी कलेक्टर अपने-अपने जिलों में तीसरी लहर की तैयारियों में अस्पतालों में बिस्तर बढ़ाने, ऑक्सीजन संयंत्रों की स्थापना, आईसीयू वार्डस, सिटीस्केन और अन्य जाँच व्यवस्थाएँ, आवश्यक दवाओं की व्यवस्था, विशेषज्ञ चिकित्सकों, पैरामेडिकल स्टाफ, तकनीशियन आदि की व्यवस्था समय पर सुनिश्चित करें।

47 प्रतिशत व्यक्तियों को पहला डोज़ लगा
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश के 47 प्रतिशत पात्र व्यक्तियों को कोरोना वैक्सीन का पहला डोज़ लग चुका है, वहीं 9 प्रतिशत को दूसरा डोज़ लगा है। दूसरा डोज़ लगाने पर विशेष ध्यान दें।

सेकेंड डोज़ के लिए अलग व्यवस्था करें
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि कोरोना वैक्सीन के दूसरे डोज़ के लिए टीकाकरण केन्द्रों पर अलग व्यवस्था करें। गर्भवती महिलाओं के टीकाकरण के लिए विशेष व्यवस्था को जारी रखें।

पन्ना, सीधी, अलीराजपुर ध्यान दें
समीक्षा में पाया गया कि पन्ना, सीधी एवं अलीराजपुर जिलों में तुलनात्मक रूप से वैक्सीनेशन का कार्य धीमा है। इन सभी जिलों में वैक्सीनेशन की गति बढ़ाने के निर्देश दिए गए। वैक्सीनेशन के लिए लोगों को जागरूक किया जाए।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment