Tuesday, December 10th, 2019

केदारनाथ त्रासदी का उत्तराखण्ड के अन्दर नदियों मे हो रहे विकास कार्यो का प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से कोई ताल्लुक नहीं है : रावत

Harish Rawat INVC NEWSआई एन वी सी न्यूज़ नई दिल्ली, नई दिल्ली स्थित इण्डिया इन्टरनेशल सेन्टर में “हिलमेल” द्वारा केदारनाथ टूरिज्म समिट-2016 में “केदारनाथ-द न्यू इंजन फाॅर टूरिज्म ग्रोथ” विषय पर आयोजित सेमिनार का मुख्यमंत्री हरीश रावत तथा केन्द्रीय राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री डाॅ0महेश शर्मा ने दीप प्रज्ज्वलित कर उद्घाटन किया। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि सर्वप्रथम केदारनाथ पुनर्निर्माण पर सहयोगी पत्रकार मित्रों का उनके प्रयासो और बेहतर जानकारी देने के लिये धन्यवाद देता हँू। ऐसे विषयों पर सेमिनार करने से उत्तराखण्ड की समस्या और समाधान के प्रति लोगो के दृष्टिकोण के बारे में पता चल जाता है। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि केदारनाथ त्रासदी का उत्तराखण्ड के अन्दर नदियों मे हो रहे विकास कार्यो का प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से कोई ताल्लुक नहीं है। बल्कि इसका एक कारण ग्लोबल वार्मिंग भी है। कुछ वैज्ञानिकों ने यह भी कहा कि केदारनाथ त्रासदी जंगलों के कटान के कारण हुआ है, जबकि यह तथ्य गलत है। उत्तराखण्ड का ग्रीन कवरेज नेशनल औसत से काफी ज्यादा है। हमने ग्रीन कवर को लगभग 6 प्रतिशत बढ़ाया है। उत्तराखण्ड ने अपने 70 प्रतिशत हिस्से में जंगलों को बचा कर रखा है। उत्तराखण्ड देश का पहला राज्य है, जो पेड़ लगाने के लिये बोनस दे रहा है। हमारा वृक्ष हमारा धन एक अनूठी योजना शुरू की गई है, जोकि गांव के लोगो को आर्थिकी से जोड़ने की अभिनव पहल है। इस योजना से गांव में विकास के साथ-साथ पलायन की समस्या भी कम होगी। राज्य सरकार द्वारा जल संबद्र्वन के लिए जल संचय पर बोनस देने की योजना शुरू की गयी है। उन्होेनंे कहा कि इसके अतिरिक्त रेशे आधारित भीमल, कन्डाली, आदि पौधों के माध्यम से भी सीमान्त क्षेत्रों में आजीविका के संसाधन में वृद्वि करने की पहल की गई है। हिलमेल पत्रिका द्वारा आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने हिलमेल पत्रिका तथा केदारनाथ पुनर्निर्माण पर निर्मित लघु फिल्म का भी विमोचन किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री रावत ने आयोजन संस्था की ओर से मुख्य प्रधान सचिव(मुख्यमंत्री) राकेश शर्मा, सचिव अमित नेगी, सचिव शैलेश बगोली, जिलाधिकारी रूद्रप्रयाग डाॅ0 राघव लंगर, निम के कर्नल अजय कोठियाल, अभिनेता हेमन्त पाण्डेय, पत्रकार सुशील बहुगुणा, पत्रकार विकास भदौरिया आदि को हिल रत्न पुरस्कार तथा उत्तराखण्ड की पारम्परिक टोपी पहनाकर सम्मानित किया। कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ पत्रकार मनजीत नेगी द्वारा किया गया।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment