Close X
Friday, September 25th, 2020

केजरीवाल के खिलाफ सबसे अधिक प्रत्याशी

दिल्ली के चुनावी घमासान के लिए मैदान पूरी तरह तैयार है। वहीं सभी राजनीतिक पार्टियों और उम्मीदवारों ने भी कमर कस ली है। एक दूसरे को टक्कर देने के लिए बड़ी पार्टियों के अलावा क्षेत्रिय दलों और निर्दलीय उम्मीदवारों की संख्या भी अच्छी खासी है। दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों पर आठ फरवरी को मतदान होंगे, जिसके बाद 11 फरवरी को नतीजे आएंगे। 21 जनवरी को नामांकन दाखिल करने की अंतिम तारीख थी, जिसके बाद आयोग की तरफ से उम्मीदवारों की फाइनल लिस्ट जारी की गई। आंकड़ों के अनुसार इस बार सबसे ज्यादा पर्चे अरविंद केजरीवाल की सीट नई दिल्ली से भरे गए। 21 जनवरी तक नई दिल्ली से कुल 88 उम्मीदवारों ने पर्चा भरा, जिनमें से आठ उम्मीदवारों के पर्चे तुरंत रद्द कर दिए गए। वहीं 52 उम्मीदवारों के नामांकन पत्र में त्रुटियां पाई गईं।

इसके बाद 28 उम्मीदवारों के नामांकन को स्वीकार किया गया, जिनमें से 26 पुरुष और दो महिलाएं हैं। यानी केजरीवाल की सीट पर उनसे टक्कर लेने के लिए सबसे ज्यादा 27 उम्मीदवार खड़े हैं। वहीं, दूसरे स्थान पर बुराड़ी है, जहां 30 उम्मीदवारों ने पर्चा भरा था और 22 के बीच टक्कर होगी।

प्रत्याशीयों के मामले में सबसे हल्की लड़ाई पटेल नगर की है, जहां 12 उम्मीदवारों ने पर्चा भरा था, लेकिन केवल चार को ही स्वीकृति मिल पाई। पटेल नगर के अलावा कस्तूरबा नगर और अंबेडकर नगर से भी 12 लोगों ने पर्चा भरा था। अंबेडकर नगर से 6, कस्तूरबा नगर से 5 और पटेल नगर से सबसे कम चार उम्मीदवार लड़ रहे हैं।

वहीं 2015 में नई दिल्ली से 23 उम्मीदवारों ने पर्चा भरा था, जिनमें से 21 पुरुष और दो महिलाएं थीं। उस समय 10 लोगों के पर्चों को खारिज कर दिया गया था और 13 लोगों के बीच हार-जीत का फैसला हुआ था। इस बार यह संख्या बढ़कर दुगनी से भी ज्यादा हो गई है। PLC.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment