Thursday, December 5th, 2019

कुछ कम होगा प्रदूषण का प्रकोप

नई दिल्ली । दुनिया के सबसे प्रदूषित इलाकों में शुमार दिल्ली-एनसीआर पिछले चार दिनों से गैस चैंबर बना हुआ है। लेकिन अब इससे कुछ राहत मिलने के आसार हैं। शनिवार से इसकी शुरुआत भी होती दिखी। सुबह दिल्ली और एनसीआर दोनों ही जगहों पर आसमान कुछ हद तक साफ दिखा और एयर क्वॉलिटी इंडेक्स में पीएम 2.5 का लेवल भी नीचे आ गया है। लेकिन हवा अभी भी जहरीली बनी हुई है। इससे पहले शुक्रवार तक हवा का स्तर खतरनाक बना हुआ था। दिल्ली-एनसीआर में कहीं-कहीं एयर क्वॉलिटी इंडेक्स में पीएम 2.5 का लेवल 700 पार भी चला गया था।
तेज हवाओं के रुख से बदलेंगे हालात
एनसीआर में बढ़े प्रदूषण की मुख्य वजह हवाओं की स्पीड में कमी थी। मौसम विभाग के एक अधिकारी की मानें तो शनिवार से सोमवार तक तेज हवाएं चलेंगी, जिससे प्रदूषण के कणों का फैलाव होगा। हालांकि, मंगलवार से दोबारा हालात बिगडऩे के चांस हैं। हवा की गुणवत्ता पर नजर रखने वाले विभाग सफर का यह भी कहना है कि आने वाले दिनों में पराली जलने की घटनाओं में भी कुछ कमी आएगी। शुक्रवार को हुए प्रदूषण में इसकी हिस्सेदारी 10 प्रतिशत थी जो कि शनिवार तक 5 प्रतिशत पर आ सकती है।
सुप्रीम कोर्ट ने जताई चिंता
पलूशन के हाल पर सुप्रीम कोर्ट ने चिंता जाहिर करते हुए कहा है कि एयर इंडेक्स 600 के ऊपर है, आखिर लोग सांस कैसे लें? ऑड-ईवन स्कीम पर सवाल उठाते हुए कोर्ट ने कहा कि प्रदूषण से निपटने का यह स्थाई समाधान नहीं हो सकता। कोर्ट ने कहा कि ऑड-ईवन योजना आधी-अधूरी है और इस पर अमल अधकचरा है। सिर्फ प्राइवेट कारों पर बंदिश से असर लोअर मिडल क्लास पर ही होता है, क्योंकि अमीरों के पास तमाम (ऑड और ईवन) नंबरों की कारें होती हैं।
ऑड-ईवन पर फैसला सोमवार को
दिल्ली में ऑड-ईवन को और बढ़ाया जाए या नहीं, इस पर दिल्ली सरकार दो दिन बाद सोमवार को फैसला लेगी। 4 नवंबर से शुरू हुई इस योजना का 15 नवंबर को आखिरी दिन था, लेकिन दिल्ली में प्रदूषण के बढ़ते स्तर को देखते हुए दिल्ली सरकार ऑड-ईवन को आगे बढ़ाने पर विचार कर रही है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ऑड-ईवन पर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए कहा कि अगले दो दिनों में वायु गुणवत्ता में सुधार होने की उम्मीद है। सीएम ने कहा कि सरकार जबरदस्ती दिल्ली वालों पर ऑड-ईवन नहीं थोपना चाहती। अगले दो दिनों में स्थिति में कोई सुधार नहीं हुआ तो सोमवार को इस पर फैसला लिया जाएगा। PLC

Comments

CAPTCHA code

Users Comment