Sunday, January 19th, 2020

कुचेष्टा और बेइमानी कतई बर्दाश्त नहीं

आई एन वी सी न्यूज़
लखनऊ,
प्रदेश में राजस्व के दृष्टिगत आबकारी विभाग बहुत ही महत्वपूर्ण है। चालू वित्तीय वर्ष के लिए निर्धारित लक्ष्य को हर हाल में पूरा करने के लिए अथक प्रयास करने की आवश्यकता है। सभी लोग इस लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में पूर्ण सहयोग और समर्थन करने का प्रयास करेेगंे। आबकारी विभाग के समस्त अधिकारीगण अपने-अपने कार्य क्षेत्रों में कच्ची शराब के उत्पादन, अवैध मदिरा के व्यापार तथा अवैध मदिरा की अन्तर्राज्यीय तस्करी के विरूद्ध कठोर कार्यवाही करना सुनिश्चित करें।

  यह बातंे प्रदेश के आबकारी मंत्री श्री रामनेरश अग्निहोत्री ने आज यहां अन्तर्राष्ट्रीय बौद्ध शोध संस्थान के सभागार में विभागीय समीक्षा बैठक के दौरान कहीं।उन्होंने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये कि प्रवर्तन कार्य को और कारगर बनाया जाये तथा अवैध मदिरा के उत्पादन पर पूरी तरह से अंकुश लगाते हुए दोषियों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जाए। उन्होंने दूसरे राज्यों से बिना सीमा शुल्क दिये आ रही मदिरा के व्यापार पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाने के निर्देश दिये। साथ ही दुकानों की नियमित चेकिंग सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिये।

श्री अग्निहोत्री ने बताया कि जनपद मुजफ्फरनगर में पकड़े गये अवैध मदिरा का व्यापार करने वाले अन्र्तराज्यीय गिरोह द्वारा विभाग के राजस्व का बहुत बड़े स्तर पर नुकसान किया जा रहा था। इस केस को पकड़ने वाले अधिकारी बधाई के पात्र है। इस तरीके से बड़े स्तर पर अवैध शराब का व्यापार करने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध लगाये गये आरोपों की प्रभावी पैरवी की जाये, जिससे उनके द्वारा किये गये कार्यों के लिए उन्हें उचित दण्ड मिल सके। उन्होंने कहा कि प्रदेश में शीरे का उत्पादन, भण्डारण, वितरण एवं उपभोग अत्यंत महत्वपूर्ण है। इसके माध्यम से प्रदेश की चीनी मिलों को शीरे के अच्छे मूल्य प्राप्त होने पर गन्ना किसानों को गन्ना के मूल्य भुगतान करने पर सहुलियत मिलती है।

समीक्षा बैठक में प्रमुख सचिव आबकारी श्री संजय आर. भूसरेड्डी ने ओवर रेटिंग पर रोक लगाने के सख्त निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि कहीं पर भी किसी भी दशा में ओवर रेटिंग बर्दाश्त नहीं की जाएगी, अगर ऐसा होता है, तो सम्बंधित के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि सभी विभागीय अधिकारी एक टीम के रूप में सक्रिय होकर कार्य करना सुनिश्चित करें। उन्होंने राज्य सरकार की मंशा के अनुरूप दिये गये लक्ष्य को पूरा करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि कुचेष्टा और बेइमानी कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि सभी जनपदीय अधिकारी नियमित रूप से दुकानों का निरीक्षण करें, जिससे कि अवैध शराब व अन्य अवैध कार्यों पर तत्काल रोक लगायी जा सके।

बैठक के दौरान श्री भूसरेड्डी ने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये कि प्रवर्तन कार्य को और कारगर बनाया जाये और अवैध मदिरा के उत्पादन पर पूरी तरह से अंकुश लगाते हुए दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाये। उन्होंने कहा कि आबकारी विभाग के अन्तर्गत निर्धारित की गयी राजस्व प्राप्तियों की निर्धारित समय में प्राप्ति सुनिश्चित की जाये। प्रवर्तन कार्य की जानकारी देते हुए श्री भूसरेड्डी ने बताया कि अगस्त, 2019 तक कुल 20054 अभियोग पकड़े गये, जबकि गत वर्ष इस अवधि में कुल 13749 अभियोग पकड़े गये थे। उन्होंने बताया कि इसी अवधि में 9.29 लाख लीटर अवैध शराब व 357 वाहन पकड़े गये तथा 1857 व्यक्तियों को जेल भेजा गया।

श्री भूसरेड्डी ने कहा कि बरसात के मौसम में शीरे की गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाये। उन्होंने बताया कि वर्ष 2019-20 में अगस्त, 2019 तक 481.39 लाख कुन्टल शीरे का उत्पादन हुआ, जिसमें से इसी अवधि में 387.40 लाख कुण्टल शीरे का उपभोग प्रदेश मेें किया गया तथा 54.61 लाख कुण्टल शीरे का निर्यात अन्य प्रान्तों को भी किया गया।



 

Comments

CAPTCHA code

Users Comment