Sunday, January 19th, 2020

किसी प्रकार की असुविधा न होने पाए

आई एन वी सी न्यूज़  
लखनऊ,
प्रधानमंत्री जी द्वारा आयुष चिकित्सा पद्वति को अपनाने पर बल दिया जा रहा है जिसके कारण आज होम्योपैथी विद्या द्वारा विदेशों में मरीजों का इलाज किया जा रहा है। इसके द्वारा असाध्य बीमारियों का भी इलाज किया जा रहा है। प्रधानमंत्री जी के ही प्रयास से योग को देश के साथ ही अन्य देशों में भी महत्वपूर्ण स्थान प्राप्त हुआ है।
यह विचार प्रदेश के आयुष राज्य व खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डाॅ0 धर्म सिंह सैनी ने आज लखनऊ स्थित राजकीय नेशनल होम्योपैथिक मेडिकल काॅलेज में प्रान्तीय होमियोपैथिक सेवा संघ द्वारा आयोजित प्रान्तीयकरण दिवस समारोह में व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार बनने के बाद आयुष विभाग को अलग किया गया। इसलिए इतना विकास संभव हो पाया। उन्होंने कहा कि इलाज कराने आये मरीजों को किसी प्रकार की कठिनाई नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि वर्तमान में प्रदेश सरकार के अथक प्रयासों से नेशनल होम्योपैथिक मेडिकल काॅलेज, लखनऊ को हर्बल गार्डेन हेतु 05 एकड़ जमीन की बाउण्ड्रीवाल का कार्य पूर्ण कराया गया
श्री सैनी ने कहा कि स्नातक पाठ्यक्रम में इस काॅलेज में 50 सीटों को बढ़ाकर 100 सीटों की मांग भी इस वर्ष पूर्ण की गयी है तथा 25 सीटें ई0डब्ल्यू0एस0 (आर्थिक रुप से) लोगों के लिए स्वीकृत की गयी है। इस प्रकार कुल 125 सीटों पर इस वर्ष प्रवेश की प्रक्रिया लागू की गयी है। उन्होंने कहा कि पी0जी0 (स्नातकोत्तर) पाठ्यक्रम की मांग वर्षों से की जा रही थी, वह भी राज्य सरकार द्वारा वर्ष 2018 में नेशनल होम्योपैथिक मेडिकल कालेज, लखनऊ में तीन विषयों में 18 सीटों तथा होम्योपैथिक मेडिकल कालेज, इलाहाबाद को भी 10 सीटों की स्वीकृति प्रदान करते हुए पी0जी0 काउन्सिलिंग के माध्यम से प्रवेश ले लिया गया है। इस प्रकार लखनऊ में दोनों वर्षों को मिलाकर कुल 36 छात्र तथा इलाहाबाद में दोनों वर्षों को मिलाकर कुल 20 छात्र पी0जी0 पाठ्यक्रम में अध्ययनरत हैं, जो प्रदेश सरकार की उपलब्धि है।
आयुष राज्यमंत्री ने निर्माणाधीन भवन व गल्र्स हाॅस्टल का निरीक्षण भी किया। उन्होंने प्रशिक्षणरत (होम्यो0) छात्राओं से उनका हाल-चाल भी लिया। इस दौरान छात्राओं द्वारा हास्टल में कुछ समस्याओं से मंत्री जी को अवगत कराया गया। मंत्री जी छात्राओं की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए उसे सम्बंधित अधिकारियों को निर्देश दिये कि छात्राओं को प्रशिक्षण के दौरान किसी प्रकार की असुविधा न होने पाये इसका विशेष ध्यान दिया जाय।
उक्त समारोह में आयुष राज्यमंत्री को प्रान्तीय होम्योपैथिक शिक्षक संघ द्वारा रिक्त पदों के सापेक्ष भर्ती किये जाने, पदोन्नति सहित अन्य समस्याओं के बारे में अवगत कराया गया, जिस पर मंत्री जी द्वारा कहा गया कि संघ द्वारा बताई गई समस्याओं पर सहानुभुतिपूर्वक विचार करते हुए निराकरण कराये जाने का आश्वासन दिया गया।
इस अवसर पर निदेशक होम्योपैथी प्रो0 ए0के0 चतुर्वेदी, प्राचार्य राजकीय नेशनल होम्योपैथिक मेडिकल काॅलेज प्रो0 अरविन्द वर्मा, संयुक्त निदेशक डाॅ0 विजय पुष्कर, प्रान्तीय होमियोपैथिक शिक्षक सेवा संघ के महासचिव डाॅ0 आर0सी0 यादव, शिक्षक तथा छात्र एवं छात्राएं उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment