Saturday, August 15th, 2020

कार्यों की ड्रोन कैमरों से होगी निगरानी 

आई एन वी सी न्यूज़
लखनऊ ,

उ0प्र0 के जल शक्ति मंत्री डाॅ0 महेन्द्र सिंह ने प्रदेश की 45 हजार किमी0 नहर प्रणालियों को आगामी 15 दिसम्बर 2019 तक सौ फीसदी सिल्ट सफाई कार्य पूरा करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा है कि निर्धारित डेडलाइन 15 दिसम्बर के बाद कोई भी नहर, माइनर तथा राजवाहा अवशेष रहता है तो सम्बन्धित अधिकारी के खिलाफ कठोर कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने डिसिल्टिंग कार्य पूरी गुणवत्ता तथा पारदर्शिता के साथ निर्धारित अवधि में पूरा करने के सख़्त निर्देश दिये।
 जलशक्ति मंत्री आज जनपद बाराबंकी में मजीठा नहर के सिल्ट सफाई के कार्य का शुभारम्भ करने के पश्चात बोल रहे थे। उन्होंने सांसदों, विधायको तथा अन्य जनप्रतिनिधियों से अनुरोध किया कि वे अपने क्षेत्र में नहरों, राजवाहों तथा माइनरों के सिल्ट सफाई के कार्य की शुरूआत करायें तथा कार्यों पर नज़र भी रखें।
डाॅ0 महेन्द्र सिंह ने बताया कि किसान राज्य सरकार की प्राथमिकता में हैं, उन्हें सिंचाई के लिए भरपूर सिंचाई का पानी उपलब्ध कराकर उनकी आमदनी दोगुनी करनी है। यही मा0 प्रधानमंत्री तथा मुख्यमंत्री जी का संकल्प भी है। उन्होंने सांसदों, विधायकों, जनप्रतिनिधियों मीडिया तथा आमजनता का आवाह्न किया हैै कि 15 दिसम्बर 2019 के बाद यदि कोई नहर, माइनर अथवा राजवाहा डिसिल्टिंग कार्य से अवशेष रहता है तो उन्हें सूचित करें।
जलशक्ति मंत्री ने कहा कि सिल्ट सफाई के कार्य की ड्रोने कैमरों से वीडियोग्राफी करायी जायेगी, साथ ही नहरों पर डिस्प्ले बोर्ड लगाये जायेंगे और इस डिस्प्ले बोर्ड में नहर का पूरा विवरण सिल्ट सफाई कराने वाले अधिकारी का नाम व मोबाइल नम्ब्र भी दर्ज कराया जायेगा। फिर किसानों तथा ग्राम प्रधानों से इस आशय की सर्टिफिकेट लिया जायेगा कि उनके क्षेत्र में नहर सफाई कार्य अन्तिम छोर तक पूरा कर लिया गया है।
उन्होंने यह भी कहा कि नहरों माइनरों तथा राजवाहों की जीयोटैगिंग भी करायी जायेगी, जिससे सिल्ट सफाई कार्य पर नजर रखी जा सके। उन्होंने जोर देकर कहा कि 15 दिसम्बर 2019 तक कोई भी नहर प्रणाली सफाई के लिए बाकी नहीं रहेगी। उन्होंने निकाली गयी सिल्ट की नीलामी कराने के निर्देश दिये ताकि नहर सफाई का खर्च पूरा किया जा सके।
 मौके पर मौजूद मुख्य अभियन्ता शारदा नहर श्री ए0के0 गुप्ता ने बताया कि इस माइनर की लम्बाई 60.02 किमी0 है और अब तक 07 किमी सफाई हो चुकी है।अन्तिम डेडलाइन तक कार्य पूरा कर लिया जायेगा। उन्होंने कहा कि गतवर्ष  सिल्ट की नीलामी से 1.24 करोड़ रूपये की धनराशि मिली थी।
इस अवसर पर स्थानीय सांसद श्री उपेन्द्र सिंह रावत, विधायक श्री सतीश चन्द्र शर्मा तव श्री शरद कुमार अवस्थी, पूर्व एम0एल0सी0 श्री हरगोविन्द सिंह व प्रमुख सचिव सिंचाई व जल संसाधन श्री टी0 वेंकटेश तथा मुख्य अभियन्ता  श्री डी0के0 मिश्रा मौजूद थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment