Wednesday, February 26th, 2020

किसानों को चिंता करने की जरूरत नहीं, सरकार उनके साथ है : डॉ. रमन सिंह

Dr. Raman Singh INVC NEWSआई एन वी सी न्यूज़ रायपुर, मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि 12 वर्षों में छत्तीसगढ़ में पहली बार सूखा पड़ा है, लेकिन किसानों को चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। मैं और मेरी सरकार इस संकट की घड़ी में किसानों के साथ खड़ी है। उन्होंने कहा कि प्राकृतिक विपदाओं में किसी का जोर नहीं होता, लेकिन सरकार ने किसानों के हित में अनेक निर्णय लिए हैं। किसानों के कृषि ऋण को मध्यकालीन ऋण में परिवर्तित कर दिया गया है, जिससे उन्हें अगले वर्ष कृषि ऋण लेने में कोई दिक्कत नहीं होगी। मुख्यमंत्री ने आज जशपुर जिले के कुनकुरी विकासखण्ड के कण्डोरा में आयोजित रौतिया समाज के सम्मेलन में जशपुर जिले की जनता को कुल 85 करोड़ रूपये के विकास कार्यो की सौगात दी। मुख्यमंत्री द्वारा 7 करोड़ 71 लाख 46 हजार रूपये के 21 कार्यो का लोकार्पण किया गया। साथ ही 77 करोड़ 28 लाख 88 हजार रूपये के 13 कार्यो का भूमि पूजन किया गया। इस अवसर पर उन्होंने रौतिया समाज के बच्चों के लिए रायपुर में छात्रावास निर्माण हेतु 25 लाख रूपए देने की घोषणा की। उन्होंने तपकरा में समरसता भवन के लिए 20 लाख रूपये और अंकिरा में मिनी स्टेडियम निर्माण के लिए 40 लाख की घोषणा की । मुख्यमंत्री ने कहा कि कुनकुरी में इंडोर स्टेडियम के लिए बजट में मंजूरी दी जायेगी। उन्होंने दुलदुला के सकरडेगा पुलिस चौकी में स्टाफ की मंजूरी देने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने रौतिया समाज को अनुसूचित जनजाति वर्ग में शामिल किये जाने की मांग पर कहा कि इस संबंध मेें राज्य स्तरीय छानबीन समिति से सर्वे कराकर अनुशंसा सहित केन्द्र को प्रस्ताव भेजा जायेगा। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर सूखा राहत के तहत कृषक जगत, प्रेमकुमार, नरेन्द्र सहित 11 किसानों को आर.बी.सी. 6-4 के अंतर्गत 33 हजार रूपये की मुआवजा राशि प्रदान की । साथ ही प्रधानमंत्री जीवन ज्योति एवं सुरक्षा बीमा योजना के तहत श्रीमती पीको भगत एवं श्रीमती मंजूला मिंज को 4-4 लाख रूपये की दावा राशि का चेक प्रदान किया गया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर विशाल जनसमुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि जनता के आर्शीवाद से 12 साल की विकास यात्रा हमने पूरी कर ली है। गांव-गांव में सड़कों का जाल बिछाया गया है। बिजली का विस्तार किया गया है। उन्होंने कहा कि सरकार का लक्ष्य है कि समाज के अंतिम छोर के अंतिम व्यक्ति तक योजनाओं का लाभ पहुंचेे़। उन्हांेने कहा कि किसानों की मदद के लिए सूखा को आर.बी.सी. 6-4 में संशोधन करके प्राकृतिक आपदा में शामिल किया गया है। सूखे से प्रभावित लघु और सीमांत किसानों को खरीफ बोनी हेतु एक-एक क्विंटल तक बीज निःशुल्क दिया जायेगा। सिंचाई के लिए 7500 यूनिट को बढ़ाकर 9 हजार यूनिट किया गया है। सूखा प्रभावित तहसीलों में भू राजस्व और सिंचाई कर माफ कर दिया गया है। मनरेगा में लोगों को डेढ़ सौ दिन के बदले 200 दिन का रोजगार मिलेगा । पम्पो को ऊर्जीकृत करने के कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिये गये हैं। उन्होेंने रौतिया समाज को आगे बढ़ने की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि सामाजिक सम्मेलन, सांस्कृतिक कार्यक्रम, खेलकूद के माध्यम से समाज में एकजुटता व भाईचारा बढ़ती है। सरकार ने बेटियों को कालेज तक की शिक्षा निःशुल्क देने का प्रावधान किया है। उन्होंने पूर्व केन्द्रीय मंत्री स्व. श्री दिलीप सिंह जूदेव को याद करते हुए कहा कि उन्होने इस क्षेत्र में विकास कार्यो के लिए विशेष ध्यान दिया। इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे केन्द्रीय इस्पात एवं खनन राज्य मंत्री श्री विष्णुदेव साय ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में तेजी से विकास कार्य हो रहे हैं। शिक्षा, स्वास्थ सहित सभी क्षेत्रों में प्रगति हुई है। मुख्यमंत्री एक माह में दो बार जशपुर आ गये हैं। यह उनके इस क्षेत्र से विशेष लगाव को दिखाता है। राज्य सभा सांसद श्री रणविजय सिंह जूदेव ने कहा कि मुख्यमंत्री के प्रयासों से राष्ट्रीय राजमार्ग के उन्नयन के लिए केन्द्र से स्वीकृति मिल गई है। इस अवसर पर कुनकुरी विधायक श्री रोहित साय, श्री राम प्रताप सिंह सहित रौतिया समाज के पदाधिकारियों ने अपने विचार रखे। कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग द्वारा आयोजित स्वास्थ्य शिविर का 400 से अधिक लोगों ने लाभ उठाया इस अवसर पर राज्य खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड के अध्यक्ष श्री कृष्णा राय, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमति गोमती साय, जिला पंचायत उपाध्यक्ष श्री प्रबल प्रताप सिंह जूदेव, श्री ओमप्रकाश सिन्हा, श्री नरेश नंदे सहित गणमान्य नागरिक, जनप्रतिनिधि, वरिष्ठ अधिकारी और बड़ी संख्या में रौतियां समाज के लोग उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर 85 करोड़ रूपये के विकास कार्यो की सौगात दी। मुख्यमंत्री द्वारा लोकार्पण किये जाने वाले कार्याे में विकासखण्ड दुलदुला में कस्तुरा से शारदाधाम मार्ग पर कुम्बाझरिया नाला पर 1 करोड़ 17 लाख रूपये की लागत का पुल निर्माण, विकास खण्ड कुनकुरी के गड़ाकटा-चटकपुर दुलदुला मार्ग पर श्री नदी पर 1 करोड़ 62 लाख रूपये की लागत से उच्चस्तरीय पुल एवं पहुंच मार्ग निर्माण कार्य शामिल है। साथ ही तीन करोड़ 47 लाख रूपये की कुल लागत से 13 हाई स्कूलों का सुदृढ़ीकरण कार्य शामिल है। इसी तरह भूमिपूजन वाले कार्यो में लगभग 37 करोड़ रूपये की लागत से 8 सड़कों का निर्माण एवं उन्नयन कार्य शामिल है। साथ ही पत्थलगांव विकासखंड में लगभग 39 करोड़ रूपये की लागत से सुसडेगा डायवर्सन योजना और लगभग 13 करोड़ रूपये की लागत से कुल 4 मिनी स्टेडियम का निर्माण शामिल है। लोकार्पण किये जाने वाल कार्याे में जशपुर विकासखंड के ग्राम बोकी में 22 लाख 88 हजार रूपये की लागत से बोकी से बैगाटोली मार्ग के लिए आर.सी.सी. पुलिया निर्माण, मनोरा विकासखंड के ग्राम हर्री में 33 लाख 29 हजार रूपये की लागत से कोठाडीह से सरडीह मार्ग पर आर.सी.सी. स्लेब पुलिया निर्माण, बगीचा विकास खण्ड के ग्राम तोरा में पारासुरा मार्ग पर 29 लाख 52 हजार रूपये की लागत से आर.सी. सी. स्लेब पुलिया निर्माण, ग्राम सरईपानी में बोटमहुवा से रगरा पहुंच मार्ग पर 20 लाख रूपये की लागत से सिकरी नाला में आर.सी. सी. स्लेब पुलिया निमार्ण शामिल है। इसी तरह विकास खण्ड फरसाबहार में शासकीय उच्च. मा. विद्यालय लवाकेरा के सुदृढीकरण कार्य, विकास खण्ड कांसाबेल में शासकीय हाईस्कूल कन्या हथगढ़ा, विकास खण्ड कुनकुरी में शासकीय हाईस्कूल कन्या नारायणपुर, विकास खण्ड में शासकीय हाईस्कूल कन्या लुड़ेग, पत्थलगांव विकासखंड में शासकीय हाईस्कूल कन्या बागबहार हेतु प्रति स्कूल 30 लाख 80 हजार रूपये की लागत से सुदृढ़ीकरण कार्य, विकास खण्ड कांसाबेल के शासकीय हाईस्कूल देवरी के सुदृढीकरण कार्य पर 31 लाख 30 हजार रूपये,  विकास खण्ड कुनकुरी के शासकीय हाईस्कूल नारायणपुर, शासकीय उच्चतर मा.वि. सेन्द्रीमुण्डा, विकास खण्ड मनोरा के शासकीय उच्चतर मा.वि. अलोरी के सुदृढ़ीकरण के लिए प्रति स्कूल 21 लाख 55 हजार रूपये, विकास खण्ड जशपुर के शासकीय उच्चतर मा.वि. बरगांव, विकास खण्ड कुनकुरी के शासकीय उच्चतर मा.वि. कलिबा और विकास खण्ड कांसाबेल के शासकीय उच्चतर मा.वि. बरजोर के लिए प्रति स्कूल 22 लाख रूपये की लागत से सुदृढीकरण कार्य शामिल है। विकास खण्ड फरसाबहार के तपकरा और बगीचा विकासखंड के सन्ना में 20-20 लाख रूपये की लागत से परियोजना कार्यालय सह संशोधन केन्द्र भवन निर्माण कार्य शामिल है। विकास खण्ड दुलदुला में कस्तुरा से शारदाधाम मार्ग पर स्थित कुम्बाझरिया नाला पर 1 करोड़ 17 लाख रूपये की लागत से पुल का निर्माण कार्य, विकास खण्ड कुनकरी में गड़ाकटा से लोटापानी-चटकपुर-दुलदुला मार्ग पर 1 करोड़ 62 लाख रूपये की लागत से श्री नदी पर उच्चस्तरीय पुल एवं पहुंच मार्ग निर्माण कार्य शामिल है। भूमि पूजन के कार्याे में विकास खण्ड कुनकरी के ग्राम लोधमा, सेन्द्रीमुण्डा, विकास खण्ड पत्थलगांव के ग्राम बागबहार और विकास खण्ड फरसाबहार के ग्राम पमशाला में 31 लाख 61 हजार रूपये प्रति लागत से स्टेडियम निर्माण कार्य शामिल है। विकास खण्ड दुलदुला में पतराटोली से दुलदुला मुख्यालय के 4.40 किमी मार्ग का उन्नयन 9 करोड़ 25 लाख रूपये, 3. किमी कस्तुरा-जमाटोली 3 किमी मार्ग के निर्माण कार्य के लिए 4 करोड़ 24 लाख रूपये, ग्राम दुलदुला, सिरिमकेला के लिए पीएमजीएसवाई मार्ग से नगेरा दूकु 3 किमी मार्ग का उन्नयन कार्य के लिए 5 करोड. 45 लाख रूपये, विकास खण्ड कुनकुरी के घण्डुटोली से चराईखारा 1.60 किमी मार्ग का निर्माण कार्य के लिए 2 करोड़ 90 लाख रूपये, ग्राम उपरकछार के पहुंच मार्ग 4.50 किमी का निर्माण के लिए 3 करोड़ 60 लाख रूपये, ग्राम पंचायत सिंगीबहार से केछुआकानी पहंुच मार्ग 4 किमी का निर्माण के लिए 3 करोड़ 10 लाख रूपये, ग्राम पंचायत चराईखारा से बेलसोंगा पहंुच मार्ग 4 किमी का निर्माण के लिए 4 करोड़ 8 लाख रूपये, विकास खण्ड दुलदुला के एन.एच. 43 से दुलदुला मार्ग 4.60 किमी का निर्माण कार्य के लिए 4 करोड़ 53 लाख रूपये शामिल है। इसी तरह विकास खण्ड पत्थलगांव के ग्राम सुसडेगा में 38 करोड़ 84 लाख रूपये की लागत से व्यपवर्तन योजना का निर्माण शामिल है।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment