Close X
Friday, October 23rd, 2020

किसानों को खाद की उपलब्धता निरन्तर सुनिश्चित

आई एन वी सी न्यूज़
लखनऊ ,

 
उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी ने आज यहां लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री जी ने बताया कि कोविड-19 के संक्रमण को नियंत्रित करने में टेस्टिंग की महत्वपूर्ण भूमिका है। इसके दृष्टिगत प्रदेश में प्रत्येक दशा में कोविड-19 के 01 लाख 50 हजार टेस्ट प्रतिदिन किए जाएं। उन्होंने जनपद कानपुर नगर, वाराणसी, प्रयागराज तथा गोरखपुर में मेडिकल टेस्टिंग में वृद्धि करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि सभी जनपदों में वेंटीलेटर्स/एच0एफ0एन0सी0 (हाई फ्लो नेजल कैन्युला) को क्रियाशील रखा जाए। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये है कि अस्पतालों मंे जो भी नये उपकरण लगाये गये है उन्हें तत्काल क्रियाशील किया जाए। इस सम्बन्ध में आज शाम तक शासन को रिपोर्ट उपलब्ध कराई जाए। उन्होंने कोविड अस्पतालों में डायलिसिस मशीन की उपलब्धता सुनिश्चित किए जाने के निर्देश देते हुए कहा है कि हेपेटाइटिस-बी के मरीजों के लिए प्रत्येक जनपद में डेडिकेटेड डायलिसिस मशीन की व्यवस्था की जाए।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कोविड तथा नाॅन कोविड अस्पतालों में आॅक्सीजन के कम से कम 48 घण्टे के बैकअप की व्यवस्था रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि स्वास्थ्य विभाग तथा चिकित्सा शिक्षा विभाग चिकित्सालयों में कम से कम 48 घण्टे की आॅक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित करें। उन्होंने होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों से जनपदीय स्तर के साथ-साथ मुख्यमंत्री हेल्प लाइन के माध्यम से भी उनके स्वास्थ्य की निरन्तर जानकारी प्राप्त करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पर्याप्त कोविड बेड की व्यवस्था है यदि किसी को कोरोना संबंधी लक्षण दिखने पर कमांड कंट्रोल संेटर्स से सम्पर्क कर अपने स्वास्थ्य की जांच कराएं। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने स्वच्छता एव सेनिटाइजेशन के कार्य को प्रभावी ढंग से संचालित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि सितम्बर माह में वेक्टरजनित रोगों के प्रकोप की अधिक सम्भावना रहती है। इसके दृष्टिगत स्वच्छता एवं सेनिटाइजेशन की कार्यवाही में पूरी तत्परता बरती जाए। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये है कि नगर विकास विभाग, पंचायतीराज और स्वास्थ्य विभाग स्वच्छता एवं सेनेटाइजेंशन की उचित व्यवस्था सुनिश्चित करायें। उन्होंने राजकीय कर्मियों की कार्यालयों में समय से उपस्थिति सुनिश्चित कराने के निर्देश देते हुए कहा है कि इस सम्बन्ध में प्रभावी पर्यवेक्षण के साथ-साथ निरीक्षण किए जाएं। समय से उपस्थित न होने पर सम्बन्धित के खिलाफ कार्यवाही की जाए। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर सरकारी कार्यालयों एवं अनुभागों का लगातार निरीक्षण किया जाए। बिना कारण अनुपस्थित पाये जाने वाले कर्मचारियों पर कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित की जाए।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिए है कि नहरों को रोस्टर के अनुरूप पूरी क्षमता से संचालित किया जाए, ताकि किसानों को सिंचाई कार्य हेतु आवश्यकतानुसार पानी उपलब्ध हो सके। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कृषि विभाग को निर्देश दिये है कि किसानों को खाद की उपलब्धता निरन्तर सुनिश्चित कराने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा है कि इस कार्य में कोई शिथिलता न बरती जाए। बाढ़ प्रभावित इलाकों में फसलों को हुए नुकसान का सर्वे कराते हुए किसानों को शीघ्र मुआवजा वितरित किया जाए। प्रभावित क्षेत्रों में मकान के क्षतिग्रस्त होने की स्थिति में अनुमन्य राहत राशि का वितरण भी समयबद्ध ढंग से किया जाए। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये है कि मानक से अधिक फसलों के नुकसान होने पर फसल बीमा का भुगतान नियमानुसार सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये है कि प्राकृतिक आपदा से यदि कोई जनहानि होती है तो तत्काल 04 लाख की धनराशि उपलब्ध करायी जाये।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने आज से मण्डलीय समीक्षा बैठक शुरू कर दी है। आज सहारनपुर मण्डल की समीक्षा बैठक मुख्यमंत्री जी द्वारा की जायेगी तथा इसी क्रम में कल अयोध्या तथा अन्य मण्डलों की समीक्षा भी की जायेगी। मण्डलीय समीक्षा में 50 करोड़ रुपए से अधिक राशि की विकास परियोजनाओं के सम्बन्ध में मण्डलायुक्त प्रस्तुतिकरण देंगे। जिलाधिकारियों द्वारा भी अपने-अपने जनपद की विकास योजनाओं के सम्बन्ध में प्रस्तुतिकरण दिया जाएगा। उन्होंने स्मार्ट सिटी मिशन तथा अमृत योजना की परियोजनाओं में तेजी लाने तथा इनकी प्रगति की नियमित समीक्षा करने के निर्देश भी दिए हैं। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये है कि विकास कार्याें को तेजी से आगे बढ़ाया जाए तथा जो योजनाएं चल रही है उसे समय से पूरा किया जाए तथा जो योजनाएं अभी प्रारम्भ नहीं हुयी है उन्हें तत्काल प्रारम्भ किया जाए।
 श्री अवस्थी ने बताया कि पुलिस विभाग द्वारा की गयी कार्यवाही में अब तक धारा 188 के तहत 2,13,946 लोगों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज की गई। प्रदेश में अब तक 1,41,59,667 वाहनांे की सघन चेकिंग में 70,508 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 73,13,80,109 रूपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। आवश्यक सेवाओं हेतु कुल 4,34,117 वाहनों के परमिट जारी किये गये हैं। उन्होंने बताया कि कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 1207 लोगों के खिलाफ 890 एफआईआर दर्ज करते हुए 425 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। फेक न्यूज के अन्तर्गत अब तक 2426 मामलों में संज्ञान में लेते हुए कार्यवाही की गयी है। उन्होंने बताया कि अब तक प्रदेश में 89 एफआईआर दर्ज करते हुए 26 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश के कन्टेनमेंट जोन में 87,80,905 लोगों को चिन्हित किया गया है। इन कन्टेनमेंट जोन में कोरोनो पाॅजीटिव लोगों की संख्या 42,330 तथा इन्टीट्यूशल क्वारंटीन किये गये लोगों की संख्या 34,010 है। प्रदेश में हाॅटस्पाॅट वाले बस्तियों की अनुमानित जनसंख्या 92,73,792 के सापेक्ष 16,182 डोर स्टेप डिलिवरी मिल्क बूथ/मैन के द्वारा दूध वितरित किया गया है। निर्माण कार्यों से जुडे़ 18.25 लाख श्रमिकों, नगरीय क्षेत्र के 8.91 लाख श्रमिकों तथा ग्रामीण क्षेत्रों के 6.74 लाख निराश्रित व्यक्तियों को रु0 1,000-1,000ध्- के आधार पर कुल 33.90 लाख लोगों को 338.99 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है। निर्माण कार्यों से जुडे़ 17.14 लाख श्रमिकों को द्वितीय किश्त का भी भुगतान किया जा चुका है। कोविड-19 के सम्बंध में राहत आयुक्त कार्यालय में राज्य स्तर पर स्थापित एकीकृत आपदा नियंत्रण केन्द्र के टोल फ्री हेल्पलाइन नं0-1070 पर प्राप्त 1,19,937 काॅल्स में से 1,19,525 का निस्तारण किया गया है। उन्होंने बताया कि कल उत्तर प्रदेश राज्य परिवहन निगम द्वारा संचालित 6,731 बसों के माध्यम से 9,78,563 लोगों ने यात्रा की।
अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर प्रदेश में कोविड-19 टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। प्रदेश में कल एक दिन में 1,36,240 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 59,13,584 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में विगत 24 घंटंे में कोरोना के 5716 नये मामले आये है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 56,459 कोरोना के एक्टिव मामले हैं, जिसमें 28,609 लोग होम आइसोलेशन में है। प्रदेश में अब तक 1,81,364 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके है। उन्होंने बताया कि होम आइसोलेशन में रहने वाले लोग थर्मामीटर तथा पल्स आॅक्सीमीटर साथ रखें। उन्होंने बताया कि यदि किसी को खांसी, बुखार या सांस फूले तो तत्काल हेल्पलाइन नं0 हेल्पलाइन नं0 18001805145 अथवा सी0एम0 हेल्पलाइन नं0 1076 पर सम्पर्क करें।
श्री प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 84,542 क्षेत्रों में 3,08,425 टीम दिवस के माध्यम से 2,08,58,684 घरों के 10,44,97,878 लोगों का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि 56,459 एक्टिव मरीजों ने 28,609 लोग होम आइसोलेशन में है, अब तक कुल 1,08,056 लोग होम आइसोलेशन में थे, जिनमें 79,447 लोग पूर्ण रूप से स्वस्थ्य हो चुके है।
श्री प्रसाद ने बताया कि निजी चिकित्सालयों में भुगतान के आधार पर 2,796 लोग चिकित्सीय ईलाज करा रहे है, 262 लोग सेमीपेड (एल-1 प्लस) में ईलाज करा रहे है। उन्होंने बताया कि विभिन्न सरकारी कार्यालयों, विभिन्न प्रतिष्ठानों एवं उद्योंगों में 62,965 कोविड हेल्प डेस्क स्थापित किये गये है जिनके माध्यम से 7,11,592 लोगों का लक्षणात्मक चिन्हांकन किया जा गया है।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment