Saturday, May 30th, 2020

किशोरियों का होगा विकार बढेगा शक्तिकरण - गीता भुक्कल

आई.एन.वी.सी,,
हरियाणा,,
हरियाणा की शिक्षा मंत्री श्रीमती गीता भुक्कल ने आज कहा कि राज्य सरकार ने सबला नामक किशोरियों के सशक्तिकरण के लिए राजीव गांधी योजना (आरजीएसईएजी) और प्रदेश में किशोरियों के कल्याण और सशक्तिकरण के लिए किशोरी शक्ति योजना जैसी महत्वाकांक्षी योजनाएं लागू की हैं।
             किशोरियों के सशक्तिकरण के लिए राजीव गांधी योजना 6 जिलों अम्बाला, हिसार, रेवाड्ी, रोहतक, यमुनानगर और कैथल में लागू की गई है जबकि किशोरी शक्ति योजना 87 समेकित बाल विकास सेवा (आईसीडीएस) परियोजनाएं क्रियान्वित की जा रही हैं।
             उन्होंने कहा कि आरजीएसईएजी को केन्द्र सरकार की एक पायलट परियोजना के रूप में लागू किया जा रहा है। इसका उद्देश्य किशोरियों का विकास और सशक्तिकरण करके उनके जीवन कौशल और व्यावसायिक कौशल का उन्नयन करके उन्हें सक्षम बनाना है। इस योजना का उद्देश्य स्वास्थ्य, स्वच्छता, पोषाहार, प्रजनन, स्वास्थ्य एवं शिशू देखभाल के बारे में जागरूकता उत्पन्न करना भी है। उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत 1.26 लाख स्कूल जाने वाली लड़कियों और स्कूल से बाहर लगभग 4000 लड़कियों को पौषाहार और स्व विकास के घटक प्रदान किये जाएंगे। उन्होंने बताया कि वर्ष 2012-13 के दौरान इस योजना के क्रियान्वयन के लिए 31.70 करोड़ रुपये की राशि प्रदान की गई है।
             उन्होंने कहा कि किशोरी शक्ति योजना का उद्देश्य 11 से 18 वर्ष आयु वर्ग की किशोर लड़कियों के स्वास्थ्य और पौषाहार में सुधार लाना है। उन्होंने कहा कि यह योजना स्वास्थ्य, स्वच्छता, पौषाहार, गृह प्रबन्धन और शिशू देखभाल सम्बन्धी जागरूकता को भी बढ़ावा देगी। इस योजना के तहत 6 महीनों की अवधि के लिए 10 प्रतिशत आंगनवाड़ी केन्द्रों में 1132 बालिका मंडल बनाकर सेवाएं प्रदान की गई हैं। उन्होंने बताया कि 45219 लड़कियों को व्यावसायिक प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि चालू वित्त वर्ष के दौरान इस योजना के क्रियान्वयन के लिए 4.20 करोड़ रुपये की राशि प्रदान की गई है।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment