Close X
Monday, October 26th, 2020

किरण चौधरी ने अधिकारियों को लगाई फटकार कहा -कोई लापरवाही बरदाश्त नहीं

संजय राय ,, आई,एन,वी,सी, हरियाणा,, हरियाणा की जन स्वास्थ्य मंत्री श्रीमती किरण चौधरी ने जन स्वास्थ्य इंजीनियरी विभाग के अधिकारियों से कहा है कि वे 31 मार्च 2013 तक चालू वित्त वर्ष के लक्ष्यों को पूरा करें। आज नई दिल्ली में प्रदेश के 14 सर्किलों में से 6 सर्किलों के अधिकारियों की बैठक में उन्होंने कहा कि इस मामले में कोई लापरवाही बरदाश्त नहीं की जाएगी। अगर कोई दिक्कत है, तो आप सीधे मुझे से बात कर सकते हैं।  बैठक में इंजीनियर इन चीफ श्री एस. के. बंसल, चण्डीगढ़ मुख्य कार्यालय के सभी चीफ इंजीनियर और 6 सर्किलों - गुड़गांव, झज्जर, पलवल, रोहतक, सोनीपत और रेवाड़ी के अधीक्षक अभियंता मौजूद थे। यह बैठक इन सर्किलों में विभिन्न कार्यों की प्रगति और खर्च की समीक्षा के लिए बुलाई गई थी।  श्रीमती चौधरी ने कहा कि हर महीने किये गए कार्य तथा खर्च की रिर्पोट दर्ज की जानी चाहिए। जो बजट मिला है और जो परियोजनाएं शुरू की गई हैं, वे पूरी होनी चाहिएं। यदि इसमें कोई अधिकारी लापरवाही करता है, तो उसके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। जिन अधिकारियों की रिपोर्ट अधूरी थी श्रीमती चौधी ने उन्हें समयबद्घ कार्यक्रम बनाकर कार्य पूरा करने और अगले महीने की बैठक में अपनी अंतिम रिपोर्ट के साथ आने को कहा।   बैठक में मुख्य रूप से जल आपूर्ति की समस्या पर चर्चा हुई। श्रीमती चौधरी ने कहा कि अनुसूचित जातियों के घरों को पानी की टंकी और कनेक्शन देने का जो लक्ष्य है, उसे पूरा किया जाना चाहिए। जहां खारे पानी की समस्या है या पानी का नियमित स्रोत नहीं है, वहां नहरी पानी पहुंचाने से सम्बन्धित कार्य को तेजी से पूरा किया जाना  चाहिए। उन्होंने नांगल चौधरी क्षेत्र में इस वर्ष की योजना में 64 गांवों को और अगले वर्ष की योजना में 54 गांवों को नहरी पानी उपलब्ध कराने के लिए पाईप लाईन बिछाने के काम को जल्दी पूरा करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि मेवात, झज्जर, भिवानी आदि क्षेत्रों में भी ये कार्य तेजी से किए जाने चाहिएं।  श्रीमती चौधरी ने कहा कि जल संरक्षण पुरस्कार योजना के अंतगत हर वर्ष 15 अगस्त और 26 जनवरी को ऐसे गांवों को पुरस्कार दिए जाते है, जहां 75 प्रतिशत घरों में पानी के कनेक्शन लग गये हों और 100 प्रतिशत टूटियां लग गई हों। पिछली 15 अगस्त को 25 गांवों को पुरस्कार दिया गया था। 2000 तक की आबादी वाले गांवों को 25 हजार रूपये का पुरस्कार दिया जाता है। इससे अधिक आबादी वाले गांवों को 30 हजार रूपये और 40 हजार रूपये के पुरस्कार देने की योजना है। 26 जनवरी 2013 को 300 गांवोें को पुरस्कार देने का लक्ष्य है। इसके लिए पहली जनवरी से 24 जनवरी तक विशेष अभियान शुरू किया गया है। बाद में संवाददाताओं से बातचीत में श्रीमती चौधरी ने बताया कि वे विभाग के कार्य की प्रगति की  समीक्षा के लिए हर तीन महीने बाद बैठक लेती हैं। उन्होंने कार्य की प्रगति को संतोषजनक बताया। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार से योजनाओं के लिए जो पैसा मिलता है, उसका उपयोग किया जाना चाहिए, ताकि अगले वर्ष और पैसा मिले। श्रीमती चौधरी ने कहा कि उन्हें लोगों से शिकायतें मिलती रहती हैं, जिन पर तुरन्त कार्यवाही की जाती है। लोहारू के लिए रेल लिंक के प्रश्न पर उन्होंने कहा कि यहां की सांसद श्रुति चौधरी इसके लिए प्रयास कर रही हैं। आरओबी और आरयूबी की 10 परियोजनएं स्वीकृत की जा चुकी हैं।  इंजीनियर इन चीफ श्री बंसल ने बताया कि अगले महीने सभी 14 सर्किलों की बैठक होगी

Comments

CAPTCHA code

Users Comment