Close X
Sunday, September 20th, 2020

कालाबाजारी और जमाखोरी के खिलाफ सख्त कार्यवाही 

आई एन वी सी न्यूज़
लखनऊ ,
उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी ने आज यहां लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री जी ने आज बी0आर0डी0 मेडिकल काॅलेज, गोरखपुर का निरीक्षण किया एवं आई0सी0यू0 तथा एल-3 बेड को और बढ़ाने के निर्देश दिये है। मुख्य सचिव ने कल कानपुर में चिकित्सालयों का निरीक्षण कर वहां आई0सी0यू0 तथा एल-3 बेड बढ़ाने के निर्देश दिये है। अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना ने आज स्वयं मण्डलायुक्त एवं जिलाधिकारी के साथ आज लखनऊ के के0जी0एम0यू0 सहित अन्य सरकारी एवं निजी चिकित्सालयों का निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि एल-3 बेड बढ़ाने की कार्य योजना तैयारी की गयी है, जिसे आज मुख्यमंत्री जी के समक्ष प्रस्तुत की जाएगी।
श्री अवस्थी ने बताया कि पुलिस विभाग द्वारा की गयी कार्यवाही में अब तक धारा 188 के तहत 1,82,615 लोगों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज की गई। प्रदेश में अब तक 1,21,87,029 वाहनांे की सघन चेकिंग में 67,291 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 61,90,01,879 रूपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। आवश्यक सेवाओं हेतु कुल 3,48,739 वाहनों के परमिट जारी किये गये हैं। उन्होंने बताया कि कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 1,063 लोगों के खिलाफ 786 एफआईआर दर्ज करते हुए 390 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।
श्री अवस्थी ने बताया कि प्रदेश के 10,998 हाॅट स्पाॅट के 1106 थानान्तर्गत 14,14,817 मकानों के 84,96,210 लोगों को चिन्हित किया गया है। इन हाॅटस्पाॅट क्षेत्रों में कोरोना पाॅजिटिव लोगों की संख्या 44,773 है। इंस्टीट्यूशनल क्वारेंटाईन किये गये लोगों की संख्या 20,376 है। प्रदेश में हाॅटस्पाॅट वाले बस्तियों की अनुमानित जनसंख्या 82,65,158 के सापेक्ष 13,336 डोर स्टेप डिलिवरी मिल्क बूथ/मैन के द्वारा दूध वितरित किया गया है। डोर स्टेप डिलिवरी ‘फल, सब्जी आदि’ कुल 16,595 वाहन लगाये गये हैं। डोर स्टेप डिलिवरी वाले प्रोविजन स्टोर की संख्या 14,407 है। प्रोविजन स्टोर के माध्यम से डिलिवरी करने वालों की संख्या 14,486 है। हाॅट स्पाॅट क्षेत्रों में कुल 26 प्रचलित सामुदायिक किचन हैं। इन बस्तियों में 18,41,633 राशन कार्डो पर खाद्यान्न वितरण किया गया है। इसके अतिरिक्त सरकारी संस्थाओं/सामुदायिक किचन के माध्यम से 2,540 नागरिकों को लाभान्वित तथा धार्मिक/स्वैच्छिक संस्थाओं के माध्यम से 724 नागरिकों को लाभान्वित किया गया है।
श्री अवस्थी ने बताया कि निर्माण कार्यों से जुडे़ 18.23 लाख श्रमिकों, नगरीय क्षेत्र के 8.91 लाख श्रमिकों तथा ग्रामीण क्षेत्रों के 6.74 लाख निराश्रित व्यक्तियों को        रु0 1,000-1,000ध्- के आधार पर कुल 33.88 लाख लोगों को 338.82 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है। निर्माण कार्यों से जुडे़ 17.02 लाख श्रमिकों को द्वितीय किश्त का भी भुगतान किया जा चुका है। कोविड-19 के सम्बंध में राहत आयुक्त कार्यालय में राज्य स्तर पर स्थापित एकीकृत आपदा नियंत्रण केन्द्र के टोल फ्री हेल्पलाईन नं0 1070 पर प्राप्त 1,19,434 काॅल्स में से 1,18,904 का निस्तारण किया गया।
अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कोविड-19 टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। प्रदेश में कल एक दिन में 97,911 सैम्पल की जांच की गयी। इस प्रकार कोविड-19 की जांच में 34 लाख का आकड़ा पार करते हुए प्रदेश में अब तक 34,12,346 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में विगत 24 घंटंे में कोरोना के 4,583 नये मामले आये है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 49,347 कोरोना के एक्टिव मामले हैं, जिसमें 21,758 मरीज होम आइसोलेशन, 1627 लोग प्राइवेट हास्पिटल में तथा 196 मरीज सेमी पेड फैसिलिटी में तथा इसके अतिरिक्त शेष कोरोना संक्रमित एल-1, एल-2, एल-3 के कोरोना अस्पतालों में है। उन्होंने बताया कि अब तक कुल 39,678 लोग होम आइसोलेशन में भेजे गये है जिसमें से 17,920 लोग होम आइसोलेशन की अवधि पूरी करते हुए पूरी तरह से स्वास्थ्य हो चुके है। प्रदेश में अब तक 84,661 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि पूल टेस्ट के अन्तर्गत कल 3247 पूल की जांच की गयी, जिसमें 3083 पूल 5-5 सैम्पल के तथा 164 पूल 10-10 सैम्पल की जांच की गयी।
श्री प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में सर्विलांस की कार्यवाही के अन्तर्गत 2,40,833 सर्विलांस टीम द्वारा 1,69,12,280 घरों के 8,51,85,977 लोगों का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि अब तक प्रदेश में 61,831 कोविड हेल्प डेस्क स्थापित कर दिये गये है। इन कोविड हेल्प डेस्क के माध्यम से 6,43,991 से अधिक लक्षणात्मक लोग चिन्हित किये गये हैं। उन्होंने बताया कि आरोग्य सेतु ऐप पर अलर्ट जनरेट होने पर कन्ट्रोल रूम द्वारा फोन कर अब तक 8,42,800 लोगों से उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी प्राप्त की गयी। उन्होंने बताया कि प्रदेश में ई-संजीवनी पोर्टल का लगातार प्रयोग किया जा रहा है। कल 1523 लोगों ने ई-संजीवनी पोर्टल का प्रयोग करते हुए डाॅक्टरों से सलाह ली। इस प्रकार अब तक 24663 लोग ई-संजीवनी पोर्टल से लाभान्वित हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि जनपद बहराइच के लोगों ने ई-संजीवनी पोर्टल का प्रयोग सबसे ज्यादा किया है। जनपद हरदोई एवं मेरठ में भी लोग इस पोर्टल का प्रयोग ज्यादा संख्या में कर रहे है। उन्होंने बताया कि 01-11 अगस्त तक कोरोना पाॅजिविटी का प्रतिशत 4.8 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि जनपद कानपुर, गोरखपुर, देवरिया, महाराजगंज, लखनऊ में पाॅजिविटी का प्रतिशत सबसे ज्यादा है। जबकि हाथरस, बागपत, महोबा, कासगंज, बुलन्दशहर में पाॅजिविटी का प्रतिशत सबसे कम है।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment