कार्पोरेट गुरु से कम नहीं है बाबा रामदेवआई एन वी सी,
लखनऊ,
योग के साथ दवाओं का व्यापार करने वाले श्री रामदेव भारतीय संस्कृति और शालीनता के नाम पर कलंक हैं। जो व्यक्ति भाषा में सामान्य मर्यादा नहीं रख सकता, वह केवल कपड़ा रंगने से योग गुरू नहीं बन जाता। कंाग्रेस अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी जी के खिलाफ श्री राम देव द्वारा दिये गये वक्तव्य पर तीव्र प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रदेश कंाग्रेस के कम्युनिकेशन विभाग के चेयरमैन सत्यदेव त्रिपाठी ने कहा कि श्री रामदेव का पतंजलि योग का दवाओं का व्यापार किसी भी बड़े कार्पोरेट से कम नहीं है। श्री त्रिपाठी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी कार्पोरेट बाबा से विनम्र अनुरोध करना चाहेगी कि मोदी भक्ति में अपनी भाषा पर संयम बरतें। कांग्रेसजन अपनी संस्कृति और मर्यादा  को  कायम रखते हुए उनकी जैसी भाषा का इस्तेमाल नहीं करना चाहते, क्योंकि रामदेव जी लोकतंत्र में विचार स्वतंत्रता का दुरूपयोग कर रहे हैं। श्री त्रिपाठी ने कहा कि कार्पोरेट बाबा श्री राम देव को इतना भी ज्ञान नहीं है कि जगत जननी माता सीता जनकपुर से आयी थीं, जो कि विदेश(नेपाल) में है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here