Close X
Wednesday, November 25th, 2020

कांग्रेस का बोझ बाप-बेटे के कंधों पर

3 नंवबर को होने वाले बरोदा उपचुनाव के प्रचार के लिए प्रदेश के तीनों मुख्य दलों ने अलग-अलग रणनीति बनाई है। भाजपा ने अपने मंत्री-विधायकों को जातीय समीकरण के हिसाब से उतारकर हर वर्ग को साधने की कोशिश की है। भाजपा की ओर से हर दिन नया मंत्री भेजा जा रहा है। वहीं, हुड्‌डा का गढ़ माना जाने के कारण कांग्रेस प्रत्याशी के प्रचार जिम्मा पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह व उनके पुत्र दीपेंद्र ने उठा रखा है।

उनका सहयोग करने के लिए विधायक व पूर्व विधायकों को हलके में उतारा हुआ है। वहीं, इनेलो सुप्रीमो का पूरा परिवार ग्राउंड पर डोर टू डोर प्रचार में लगा है। इनमें दादा ओपी चौटाला से बेटा, पौत्र और बहुएं तक शामिल हैं। हालांकि सभी दलों ने बरोदा उपचुनाव में केंद्रीय नेताओं को प्रचार के लिए बुलाने से परहेज ही रखा है।

मुद्दा : भाजपा अपने किए विकास कार्य और कांग्रेस से 10 साल का हिसाब मांग रही है।

ये मैदान में उतरे : भाजपा के मंत्री जेपी दलाल इंचार्ज हैं। प्रदेशाध्यक्ष धनखड़, खेल मंत्री संदीप सिंह, कमलेश ढांडा, मूलचंद शर्मा, रणजीत सिंह, बनवारी लाल प्रचार करेंगे। सांसद नायब सैनी, दुष्यंत गौतम, कृष्णलाल पंवार, कैप्टन अभिमन्यु, रामबिलास शर्मा उतारे गए हैं।

मुद्दा : भाजपा से कांग्रेस 6 साल में किए कार्यों को लेकर जवाब मांग रही है।

ये मैदान में उतरे : कांग्रेस प्रत्याशी के प्रचार के लिए हुड्‌डा ग्रुप सक्रिय है, जबकि सुरजेवाला अब तक नहीं आए हैं, वे बिहार इलेक्शन के लिए गए हैं। वहीं, बड़े नेताओं में कुलदीप और किरण चौधरी भी नदारद हैं। सैलजा भी सिर्फ एक-दो बार आई हैं।

मुद्दा : इनेलो भाजपा और कांग्रेस दोनों को विकास के मुद्दे पर घेरने का कार्य कर रही है।

ये मैदान में उतरे : इनेलो के लिए दादा ओमप्रकाश चौटाला, उनके बेटे अभय चौटाला, पौत्र अर्जुन, करण और बहू सुनैना भी डोर-टू-डोर प्रचार में लगे हैं। खुद ओपी चौटाला बस में सवार होकर रोज 9 गावां में पहुंच रहे हैं। अभय ने भी 9 गांव बांटे हुए हैं। दलाल बारहे की पंचायत में अशोभनीय टिप्पणी के बाद माफी मांगने पर दलाल खाप ने कुलदीप शर्मा को माफ करने का एेलान कर इस विवाद को फिर से नहीं उठाने की अपील भी की। भाईचारे काे हमेशा की तरह से कायम रखने की आह्वान किया है। मांडोठी के दलाल भवन में हुई दलाल बारहे की पंचायत में दलाल खाप 84 के प्रधान भूप सिंह दलाल की अध्यक्षता में लिया गया माफी का फैसला तो सभी ने इस फैसले पर सहमति प्रकट की। दलाल खाप 84 के प्रधान भूप सिंह दलाल बोले, भविष्य में कोई भी नेता अशोभनीय टिप्पणी न करें नहीं तो होगी कड़ी कार्रवाई। दलाल बारहे की पंचायत दलाल खाप 84 के प्रधान भूप सिंह दलाल की अध्यक्षता में हुई। PLC.

 

Comments

CAPTCHA code

Users Comment