सरफराज़ ख़ान

नारनौल (हरियाणा).  वन, पर्यटन, पर्यावरण, खेल एवं युवा मामले मंत्री किरण चौधरी ने कहा है कि पिछले लोकसभा चुनावों में जिन इलाकों में कांग्रेस पार्टी पिछड़ी थी उन सभी इलाकों में कांग्रेस उम्मीदवारों की पुन: समीक्षा होनी चाहिए, ताकि आने वाले विधानसभा चुनावों में कांग्रेस पार्टी भारी बहुमत के साथ प्रदेश में सरकार बनाएं तथा जिन लोगों ने पिछले लोकसभा चुनावों में कांग्रेस उम्मीदवार का विरोध किया था उन्होंने असल में कांग्रेस की नीतियों और कांग्रेस पार्टी का विरोध किया। इससे ये स्पष्ट संकेत मिलता है कि कांग्रेस के प्रतिनिधि होते हुए भी उनका कांग्रेस की नीतियों में कोई विश्वास नहीं है तथा वे कांग्रेस पार्टी को मजबूत करने से यादा अपने राजनैतिक स्वार्थो को अधिक महत्व देते हैं।

आज स्थानीय लोक निर्माण विश्राम गृह में आयोजित प्रेस-वार्ता में पत्रकारों से रूबरू होते हुए पर्यटन मंत्री ने बताया कि इलाके की प्राचीन धरोहरों को अंतर्राष्ट्रीय मानचित्र पर लाने का पुरजोर प्रयास किया जा रहा है। रानी तालाब तथा चोरगुबन्द जैसे ऐतिहासिक स्मारकों को पर्यटकों के लिए तैयार किया जा रहा है, ताकि विदेशी सैलानी इस इलाके की ओर आकर्षित हो। जिससे इलाके की अर्थव्यवस्था को सबसे बड़ा फायदा पहुंचेंगा। उन्होंने बताया कि आने वाले समय में भी ऐसी कल्याणकारी योजनाएं लाई जाएगी जिससे इस इलाके को आगे बढ़ने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि क्षेत्र के विकास के लिए ईमानदार नेतृत्व जरूरी है जो निष्ठा के साथ मतदाताओं का भरोसा कायम रखते हुए इलाके के विकास के लिए जी जान से कार्य करें। इसलिए ये बात लोगों को समझनी अति आवश्यक है कि सोच-समझकर अपने विधायक का चुनाव करें, जिससे इलाके का विकास सुनिश्चित हो। जिस प्रकार सांसद श्रुति चौधरी ने थोडे ही समय में इलाके की आवाज को राष्ट्रीय स्तर पर उठाकर इलाके के लिए अनेक योजनाएं लागू करवाई है उसी प्रकार कर्तव्यनिष्ठ विधायक का चुनाव करके इलाके का चहुमुंखी विकास सुनिश्चित करें।

 उल्लेखनीय है कि चौ. बंसीलाल व चौ. सुरेन्द्र सिंह की परम्परा को बरकरार रखते हुए श्रीमती किरण चौधरी मन्त्री पद सम्भालने के बाद लगातार दक्षिणी हरियाणा के लोगों के सम्पर्क में रही है। जिला महेन्द्रगढ़ में इससे पहले कभी-भी राय स्तरीय वन महोत्सव का आयोजन नहीं हुआ था, किन्तु किरण चौधरी ने वर्ष 2007 व 2008 में लगातार दो वर्षो तक राय स्तरीय वन महोत्सव जिला महेन्द्रगढ़ में आयोजित करवाया। महेन्द्रगढ़ जिला हरियाणा का सबसे पुराना जिला होने के बावजूद भी इस जिले में सुविधाओं का अभाव रहा है। यहां तक कि महेन्द्रगढ़ में लोगों के घूमने के लिए कोई पार्क नहीं था। किरण चौधरी ने वर्ष 2005 में महेन्द्रगढ़ को गुग्गल वाटिका हर्बल पार्क दिया। जिसमें प्रतिदिन अनेक लोग घूमने के लिए आते हैं तथा औषधीय पौधों की जानकारी हासिल करते हैं। इसी प्रकार नारनौल के निकट ढोंसी तीर्थधाम में हर्बल पार्क बनाने की मांग बहुत पुरानी थी। उन्होंने जिले का दूसरा च्यवन वाटिका हर्बल पार्क ढोंसी-कुलताजपुर में स्थापित करवाया तथा क्षेत्र के लोगों की वर्षो पुरानी मांग को पूरा किया। आज अनेक व्यक्ति प्रतिदिन इन हर्बल पार्को से लाभान्वित हो रहे हैं। इसके अलावा जिले के 43 गांवों में जोहड़ों का पुनरूध्दार करवाकर जल संरक्षण के कार्य में महत्वपूर्ण योगदान दिया।हैं।

  इस अवसर पर उनके साथ जिला कांग्रेस प्रमुख राव रामसिंह, रविन्द्र मटरू, देवेन्द्र हुडिना, सुरेन्द्र नंबरदार, ओमप्रकाश इंजीनियर, राव जगमाल सिंह, बीरमती प्रधान, मुन्नी चौधरी, कर्मबीर सिंह, कैलाश यादव, महेश सोढा, रामस्वरूप ठेकेदार, विनोद सैनी, संदीप यादव, प्रमोद तरेडिया, भगत सिंह, श्रीराम आजाद, विनोद गुप्ता प्रधान, जोगिन्द्र जेतिया प्रधान, डॉ. नामदेव प्रधान स्वर्णकार संघ, देवेन्द्र दीवान प्रधान पंजाबी सभा, घनश्याम दास पार्षद, बलदेव सिंह चहल पार्षद, धमेन्द्र भोजावास, रमेश अरोडा, राजकुमार सोनी पार्षद, छोटेलाल मार्केट कमेटी उपप्रधान, सूरज कुमार, सुशीला देवी, मंजू देवी, भगत सिंह, सरदार इंद्रपाल, रामसिंह सोनी, सतनाम वर्मा महासचिव, कैलाश सैनी, प्रवीण संघी, भूषण दयाल सोनी आदि अनेक वरिष्ठ कांग्रेसी नेता एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here