Friday, December 13th, 2019

कहीं का विकास कहीं और दर्शाया - बिल्डर पुनीत गोधा ने की कॉलोनी निर्माण में यह चालबाजी

-२८९ की विकास अनुमति का विकास कार्य दर्शाया ३५९ में - बिल्डर पुनीत गोधा fraudहेमंत पटेल , आई एन वी सी ,

भोपाल,
80 फीट रोड पर ग्रीनपार्क कॉलोनी बसाने वाले बिल्डर पुनीत गोधा ने निर्माण के लिए कागजों में खासी चालबाजी की है। जिस जगह के लिए निर्माण की अनुमति ली, वह निर्माण अन्य स्थान पर किया। वहीं खसरा-36 (3.23 एकड़) को दोनों अनुमतियों में दर्शाया गया है। नगर निगम से पहली अनुमति (क्रमांक-२८९) दिनांक ३/०७/२००४ को ली गई। इसमें पुनीत गोधा ने सेमराकला-हिनोतिया काछियान की कुल ८ एकड़ भूमि पर निर्माण अनुमति ली। यह भूमि खसरा क्र-३६, ३८ एवं ४१ की है। इसके बाद दिनांक ६/२/२००६ को कुल रकबा १०.७९ एकड़ खसरा क्र- २१८, २१५, १४२ ग्राम सेमराकला और ३६ ग्राम हिनौतिया काछियान पर निर्माण की अनुमति (क्रमांक-३५९) ली। ेेदोनों ही अनुमतियों में ग्राम हिनोतिया काछियान के खसरा क्र-36 को जोड़ा गया। दरअसल, 36 नम्बर के खसरे को अनुमतियों में जोड़ पूरा खेल किया गया। इस (३६) खसरे को सिर्फ इसलिए दूसरी अनुमति (३५९) में जोड़ा गया, जिससे विकास कार्य को उक्त भूमि पर से ही बताया जा सके। इसके अलावा पुनीत गोधा ने एक और अनुमति (४६४) ग्राम सेमराकला के खसरा क्र.-२१८, २१५ एवं १४२ में कुल रकबा ६.३६ एकड़ पर ली। इस अनुमति फिर खसरा क्र.-142 को दर्शाया गया। गौर करने वाली बात यह है कि हर बार पुनीत गोधा ने खसरों को घुमाया, जबकि उनके द्वारा खरीदी गई जमीन की रजिस्ट्री में सभी खसरों की भूमियों के रकबों का स्पष्टिकरण है।-ये है रजिस्ट्री में ग्राम हिनोतिया काछियान क्र.    खसरा     कुल भूमि        ली गई भूमि १.    ३८    ०.६३        ०.३४ २.    ४१    ९.८५        १.०९ ३.    ३६    ६.४५        ३.२३ ४.    ९४/३७    ०.१८        ०.०५ ------------------------------------------------- ेयोग-     चारकिस्त    १७.११        ४.७१ ------------------------------------------------- ग्राम सेमराकला क्र.    खसरा     कुल भूमि        ली गई भूमि १.    २१८    ७.८४        ७.८४ २.    २१५    ७.७२        ६.०० ३.    १४२    ८.२६        १.४५ -------------------------------------------------- योग-     चारकिस्त    २३.८२        १५.२९ ----------------------------------------ये है बड़े सवाल..................... -जब तीन अनुमतियां ली गईं तो कॉलोनी में सुविधाएं भी अलग-अलग होनी चाहिए थी। -तीन ओवर हैड टेंक (पानी की टंकी) -तीन सीवेेज टेंक -२० एकड़ की कॉलोनी में मंदिर, खेल मैदान, स्कूल सामूदायीक भवन, डिस्पेंसरी आदि होनी चाहिए, जो नहीं है।
.......................- ये कागज़ात करते है पृष्टि -..........................
बिल्डर पुनीत गोधा 2
बिल्डर पुनीत गोधा 1
बिल्डर पुनीत गोधा

Comments

CAPTCHA code

Users Comment