Saturday, August 15th, 2020

करेंगे हनुमान चालीसा का पाठ 

भोपाल. सियासत में इन दिनों सबसे बड़े राम भक्त होने की होड़ नेताओं के बीच लगी हुई है. 5 अगस्त को अयोध्या में होने वाले राम मंदिर निर्माण (Ram Mandir Construction) के भूमि पूजन कार्यक्रम को लेकर प्रदेश की सियासत में भी सबसे बड़ा राम भक्त होने की होड़ मच गई है. राम मंदिर निर्माण को कैश करा रही बीजेपी को जवाब देने के लिए एमपी कांग्रेस ने भी हिंदुत्व कार्ड (Hindutva Card) खेलना शुरू कर दिया है. पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) ने अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनाए जाने की शुरुआत का स्वागत करते हुए खुद को रामभक्त बताने की कोशिश की. और अब पीएम मोदी की मौजूदगी में होने वाले भूमि पूजन के कार्यक्रम से पहले कमलनाथ ने घर पर राम दरबार सजाने की तैयारी कर ली है. 4 अगस्त को कमलनाथ के सरकारी निवास पर हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa) का पाठ पढ़ा जाएगा,  जिसमें कमलनाथ और कांग्रेस के कुछ नेता शामिल रहेंगे.पीसीसी चीफ कमलनाथ ने कांग्रेस पार्टी के नेता और कार्यकर्ताओं को भी इस बात की सलाह दी है कि वह 4 अगस्त की शाम को घर में रहते हुए हनुमान चालीसा का पाठ करें. और प्रदेश के विकास और कोरोना से मुक्ति की कामना करें. कमलनाथ के हनुमान चालीसा के पाठ को कांग्रेस ने अब अयोध्या में होने वाले राम मंदिर निर्माण के भूमि पूजन कार्यक्रम का जवाब बना लिया है, और इसके लिए न सिर्फ कांग्रेस में कमलनाथ बल्कि कांग्रेस पार्टी के हर कार्यकर्ता को हनुमान चालीसा का पाठ करने की सलाह दी गई है.

छिंदवाड़ा में 101 फीट के हनुमान की प्रतिमा स्थापित की है
कमलनाथ के मीडिया कोऑर्डिनेटर नरेंद्र सलूजा का कहना है कि कमलनाथ हनुमान भक्त हैं. इसी कारण उन्होंने छिंदवाड़ा में 101 फीट के हनुमान की प्रतिमा स्थापित की है. और अब प्रदेश के हालातों को लेकर वो चिंतित हैं. इसी कारण से 4 अगस्त को हनुमान चालीसा का पाठ कर प्रदेश के विकास की कामना करेंगे. नरेंद्र सलूजा ने कांग्रेस नेताओं के राम भक्ति पर बीजेपी नेताओं के उठाए जा रहे सवालों पर जवाब देते हुए कहा है कि कांग्रेस के नेताओं को अपनी राम भक्ति का सर्टिफिकेट बीजेपी के नेताओं से नहीं चाहिए. कांग्रेस के नेताओं की पहल पर ही राम मंदिर निर्माण का रास्ता खुला है. पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी और पीवी नरसिम्हा राव ने राम मंदिर निर्माण को लेकर पहल की थी, लेकिन अब कांग्रेस नेताओं की राम भक्ति पर बीजेपी के नेताओं के पेट में दर्द हो रहा है.दरअसल, इससे पहले भोपाल सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर भी प्रदेशवासियों से हनुमान चालीसा का पाठ करने की अपील कर चुकी हैं. प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने प्रदेश के लोगों से शाम 7:00 बजे हर दिन अनुष्ठान करने का अनुरोध किया था. भोपाल सांसद का दावा है हनुमान चालीसा पाठ से जल्दी कोरोना से मुक्ति मिलेगी. भोपाल सांसद ने 5 अगस्त को अनुष्ठान कर इसका समापन राम लला की आरती के साथ करने की अपील की है. PLC.

 

सियासत दानों के केंद्र में राम और हनुमान हैं

बहराल सियासत में इन दिनों सियासत का केंद्र में राम और हनुमान हैं और यही कारण है कि राम नाम के सहारे अपनी सियासी नैया को पार लगाने की जुगत में सियासत दान जुट गए हैं. लेकिन प्रदेश की 27 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव के साथ कई राज्यों में होने वाले विधानसभा के चुनाव में राम किसकी नैया पार लगाएंगे यह देखना दिलचस्प होगा.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment