Close X
Thursday, April 22nd, 2021

कम्प्यूट्रिकृत जन्म व मृत्यु प्रमाण पत्र देने की प्रक्रिया मार्च तक पूरी : रामनिवास

chief secratory ram niwas, IAS ram niwas, ram niwas ias,आई एन वी सी न्यूज़ चंडीगढ़, हरियाणा के सभी जिलों में कम्प्यूट्रिकृत जन्म व मृत्यु प्रमाण पत्र देने की प्रक्रिया मार्च तक पूरी कर ली जाएगी। प्रथम चरण में पंचकूला तथा करनाल जिलों में इसकी शुरूआत की गई है। यह जानकारी हरियाणा स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री रामनिवास ने आज यहां सभी जिलों में सीविल सर्जन को वीडियों कांफ्रेंसिंग द्वारा दी। उन्होंने कहा कि जन्म व मृत्यु प्रमाण पत्रों को समय पर उपलब्ध न करवाने की शिकायतें स्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विज के पास भी आ रही है, इसलिए इस संबंध सभी सीविल सर्जन को औचक निरीक्षण करने को कहा गया है। उन्होंने कहा कि जन्म व मृत्यु प्रमाण पत्र आवेदन के एक सप्ताह में उपलब्ध करवाना होगा अन्यथा किसी भी प्रकार की लापरवाही बरतने वाले अधिकारी व कर्मचारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। श्री रामनिवास ने इस दौरान प्रदेश में स्वाइन फ्लू की स्थिति पर विचार विमर्श किया तथा ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओं’ योजना पर भी उचित कदम उठाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि प्रदेश में अभी तक स्वाइन फ्लू के कुल 41 मामलें सामने आये है, जिनमें से 7 की मौत हो चुकी है। इस संबंध में सभी सीविल सर्जन को उपचार में तेजी लाने के निर्देश दिये है। उन्होंने बताया कि जीन्द में स्वाईन फ्लू के 5 मामले सामने आये है, जिनमें से 2 लोगों की मौत हो चुकी है। इसी प्रकार फरीदाबाद में 10 मामले पोजिटिव है इनमें से 2 की मौत हो चुकी है तथा गुडग़ांव में 10 मामले पोजिटिव, फतेहाबाद में 3 पोजिटिव, हिसार में 7 पोजिटिव मामलों में से एक की मौत, झज्जर में एक पोजिटिव, रोहतक में एक मामले में से एक की मौत, सिरसा में 2 मामले पोजिटिव में से एक की मौत तथा कुरूक्षेत्र, सोनीपत तथा भिवानी में एक-एक मामला सामने आया है। उन्होंने जिलों के सीविल सर्जन को बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओं योजना पर उचित कदम उठाते हुए ऐसे गांवों की सूची तैयार करने को कहा है, जिनका लिंगानुपात 800 से कम है। ऐसे गांवों में हर 3 महीने की लिंगानुपात रिपोर्ट भेजने तथा उन गांवों मेें तैनात एएनएम तथा आशा वर्कर्स की जवाबदेही तय करने के निर्देश दिये है।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment