आई एन वी सी न्यूज़
जयपुर,
कला साहित्य और संस्कृति मंत्री डॉ. बी.डी. कल्ला ने शुक्रवार को जयपुर के जवाहर कला केन्द्र में कत्थक की शैलियों पर आधारित चार दिवसीय नृत्य श्रृंखला ‘नृत्यम‘ का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर अपने सम्बोधन में डॉ. कल्ला ने कहा कि कत्थक भारतीय संस्कृति को दर्शाने वाली नृत्य शैली है। ‘नृत्यम‘ भारतीय कलाओं और संस्कृति को आगे बढ़ाएगा और इसके माध्यम से ‘कत्थक‘ और इससे जुड़े कलाकारों को प्रोत्साहन मिलेगा।

कला, साहित्य और संस्कृति मंत्री ने कहा कि यह खुशी की बात है कि पहले वाणिज्यिक संस्था के रूप में काम कर रहा, जयपुर का जवाहर कला केन्द्र मौजूदा सरकार के समय सांस्कृतिक केन्द्र के रूप में अपनी पहचान बना रहा है। यहां लगातार आयोजित हो रहे कार्यक्रमों की श्रृंखला से लग रहा है कि भारतीय संस्कृति जवाहर कला केन्द्र में लौट रही है।

कार्यक्रम में श्री राजीव अरोड़ा ने कहा कि मुख्यमंत्री तथा कला, साहित्य और संस्कृति मंत्री की पहल से जवाहर कला केन्द्र के दरवाजे, कला प्रेमियो और कलाकारों के लिए खुले है। इस अवसर पर जवाहर कला केन्द्र के अतिरिक्त महानिदेशक श्री  फुरकान खान, श्री अर्जुन प्रजापति एवं जाकिर अली के अलावा कला प्रेमियों सहित गणमान्य लोग मौजूद थे। ‘नृत्यम‘ के तहत आगामी चार दिनों में कत्थक के चार प्रमुख घरानों की प्रस्तुतियां होगी।