Saturday, May 30th, 2020

कडाउन में भी बच्चों, महिलाओं और बुजुर्गाें की समुचित देखभाल के पुख्ता इंतजाम 

आई एन वी सी न्यूज़

रायपुर,
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल लॉकडाउन के दौरान प्रदेश में महिलाओं, बच्चों, बुजुर्गाें सहित सभी जरूरतमंद लोगों के स्वास्थ्य और पोषण का पूरा ध्यान रख रहे हैं। इसके लिए महिला बाल विकास एवं समाज कल्याण मंत्री श्रीमती अनिला भेंडि़या के मार्गदर्शन में समुचित प्रबंध किए जा रहे हैं। आंगनबाडि़यों के बंद होने से महिलाओं को पूरक पोषण आहार एवं बच्चों के लिए आहार (सूखा राशन) देने की व्यवस्था आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिकाओं के माध्यम से की गई है। कुपोषित महिलाओं एवं बच्चों को भी सूखा पोषण आहार घर-घर तक पहुंचाया जा रहा है। राज्य सरकार द्वारा पंेशनधारियों का ध्यान रखते हुए मार्च माह तक की राशि हितग्राहियों के खाते में डाल दी गई है, अग्रिम 3 माह की पेंशन डालने की व्यवस्था की जा रही है। हितग्राहियों को केन्द्रीय गरीब कल्याण योजना के तहत राहत पैकेज देने की भी व्यवस्था पूरी कर ली गई है।
 मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के तहत गर्म भोजन की वैकल्पिक व्यवस्था के तहत प्रदेश के 3.34 लाख चिन्हांकित हितग्राहियों को लॉकडाउन अवधि का सूखा राशन और 24.3 लाख हितग्राहियों को पूरक पोषण आहार का वितरण किया गया है। इनमें 2.22 लाख गर्भवती, 2.36 लाख शिशुवती महिलाएं और 15 हजार किशोरी बालिकाएं भी शामिल है। लॉकडाउन में 22 हजार 500 जरूरतमंद लोगों के भोजन की व्यवस्था समाज कल्याण विभाग द्वारा की गई है। विभाग की कोशिश है कि कोई भी महिला, दिव्यांग, वृद्धजन एवं आम जरूरतमंद लोग भूखे न रहंे। वृद्धाश्रम एवं बालगृह में भी कोरोना महामारी के संक्रमण से बचाव के लिए उचित साफ-सफाई एवं जरूरी सावधानियों को ध्यान में रखा जा रहा है। बच्चों एवं बुजुर्गाें की स्वास्थ्य जांच सहित उनके उचित खान-पान की व्यवस्था की गई है। शासकीय एवं अशासकीय दिव्यांग कल्याण संस्थाओं में अध्ययनरत बच्चों की पढ़ाई का लॉकडाउन के दौरान नुकसान न हो इसे ध्यान में रखते हुए दिव्यांग तथा विशेष आवश्यकता वाले बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई को ऑनलाइन पढ़ाई करायी जा रही है। संस्थाओं को समय-समय पर सेनिटाईज भी किया जा रहा है।
कोरोना संक्रमण से बचने के लिए सभी सुरक्षा मानकों का पालन करते हुए अधिकारियों सहित मैदानी अमले द्वारा पूरी कर्तव्यनिष्ठा के साथ काम किया जा रहा है। आंगनबाड़ी के कार्यकर्ता घर-घर जाकर पूरी सावधानी बरतते हुए अपना योगदान दे रही हैं। श्री भूपेश बघेल के निर्देशानुसार आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं एवं सहायिकाओं द्वारा महिलाओं एवं बच्चों को सूखा राशन पहुंचाने के साथ-साथ पालकों को मोबाईल के माध्यम से बच्चों के लिए कई मनोरंजक एवं ज्ञानवर्धक चीजें भी सिखा रही हैं। मुख्यमंत्री श्री बघेल के अथक प्रयासों से आज पूरे प्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थिति नियंत्रण में है। प्रत्येक विभाग की लगातार निगरानी रखी जा रही है। जिसकी प्रशंसा प्रदेश सहित पूरे भारत देश में हो रही है।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment