मुख्यमंत्री ने कहा, ईश्वर अल्लाह तेरो नाम, सबको सन्मति दे भगवान, उन्होंने विभाजनकारी ताकतों के खिलाफ लड़ने के लिए एकजुट होने की अपील की, जो देश को बांटना और लोगों पर अत्याचार करना चाहती है। ममता बोलीं, हम मिलकर इसे देश से हटा देंगे।’ उन्होंने कहा, ‘मैं आज वादा करती हूं कि जब तक मैं जीवित हूं मैं लोगों के लिए लड़ूंगी चाहे वे मुस्लिम हों या हिंदू या सिख या जैन। मुझे लड़ने की ताकत आपसे मिलती है।’

बीजेपी पर निशाना साधते हुए ममता ने कहा, ‘वो बंगाल में लोगों के बीच एकता के कारण ईर्ष्या करते हैं और इसलिए वे मुझे गाली देते हैं। वे मुझे अपमानित करते रहते हैं लेकिन मैं डरती नहीं हूं। मुझे पता है कि कैसे लड़ना है।’ उन्होंने कहा, ‘आपके अच्छे दिन भी आएंगे। मुझे ‘झूठे अच्छे दिन’ नहीं चाहिए, मैं देश में एकता चाहती हूं। मुझे ‘सारे जहां से अच्छा हिंदुस्तान हमारा’ चाहिए।’ उर्दू में अपनी छह किताबों का जिक्र करते हुए टीएमसी प्रमुख ने कहा कि वह मुस्लिम समुदाय के त्योहारों की बारीकियां जानती हैं और उन्हें दूसरे धर्मों के रीति-रिवाजों की भी जानकारी है। PLC.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here