Monday, October 14th, 2019
Close X

ओवैसी के गढ़ पर भाजपा की सेंध

हैदराबाद: बीजेपी ने एमआईएम प्रमुख असुद्दीन ओवैसी के गढ़ में सेंध लगाने के लिए 'मास्टर प्लान' तैयार किया है। हैदराबाद लोकसभा सीट पर पिछले तीस साल से ओवैसी परिवार का कब्जा है। ओवैसी 2004 से इस सीट से सांसद हैं। कांग्रेस ने अंतिम बार 1984 में यह सीट जीती थी। तेलंगाना बीजेपी अध्यक्ष के। लक्ष्मण ने पार्टी नेताओं को इस सीट पर 5 लाख नए सदस्य बनाने का लक्ष्य दिया है। अगर ये लक्ष्य पूरा हो जाता है तो बीजेपी महानगर पालिका समेत कई चुनावों में अपनी उपस्थिति और मजबूत कर पाएगी।


बीजेपी की ओर से फिलहाल सदस्यता अबियान चल रहा है। यह सदस्यता अभियान 20 अगस्त तक चलेगा। तेलंगाना बीजेपी द्वारा आयोजित कार्यकारिणी बैठक में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी। किशन रेड्डी और पूर्व केंद्रीय मंत्री बंडारू दत्तात्रेय ने भी हिस्सा लिया। यह बैठक पार्टी के सदस्यता अभियान की समीक्षा के लिए बुलाई गई थी। लक्ष्मण ने कहा कि हैदराबाद शहर में सदस्यों की संख्या बढ़ाए जाने की जरूरत है।


इस मौके पर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किशन रेड्डी ने कहा, "बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी इस पर ध्यान देंगे कि कितने लोग यहां बीजेपी की सदस्यता ले रहे हैं। इसलिए हमें इस बात को ध्यान में रखना चाहिए और सदस्यता अभियान बढ़ाना चाहिए। उन्होंने पहले ही कहा है कि दक्षिण भारत में कर्नाटक के बाद अब तेलंगाना में बीजेपी की सरकार बनना चाहिए। तेलंगाना का माहौल बीजेपी के पक्ष में है और हमें इसका लाभ उठाना चाहिए।"   


गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 6 जुलाई को वाराणसी में बीजेपी सदस्यता अभियान की शुरुआत की थी। बीजेपी एमएलसी रामचंदर ने कहा कि पार्टी नगर पालिका चुनावों की तैयारियों के ग्राउंड तैयार कर रही है। उन्होंने कहा, "हमारा प्लान हैदराबाद शहर में 8 लाख सदस्य बनाने का है। हमारे पास अभी 3।6 लाख सदस्य हैं और हम 4।5 लाख नए सदस्य बनाने के लिए प्रयासरत हैं। इस शहर के 1।5 लाख लोगों ने पार्टी की सदस्यता ली है और हम लक्ष्य पूरा करने की ओर तेजी से बढ़ रहे हैं। सदस्यता अभियान की अंतिम तारीख 11 अगस्त से बढ़कर 20 अगस्त हो गई है।" 
उन्होंने कहा, "हम नगर पालिका चुनाव जीतने का लक्ष्य लेकर चल रहे हैं जो आने वाले दिनों में होने वाले हैं। टीआरएस, कांग्रेस और टीडीपी काडर भी बीजेपी ज्वॉइन करना चाहते हैं।" 


बढ़ सकती हैं ओवैसी की मुश्किल
अगर बीजेपी 5 लाख नए सदस्य जोड़ने में कामयाब रही तो असदुद्दीन ओवैसी के लिए मुश्किल खड़ी हो सकती है। 2019 के चुनाव में ओवैसी ने करीब ढाई लाख से भी ज्यादा वोटों से जीत हासिल की थी। ओवैसी के खिलाफ टीआरएस ने पुस्ते श्रीकांत को जबकि बीजेपी ने डॉ। भगवंत राव को मैदान में उतारा था। PLC



 

Comments

CAPTCHA code

Users Comment