Close X
Monday, March 1st, 2021

ओमप्रकाश राजभर के बाद शिवपाल यादव भी मुलाकात करेंगे

लखनऊ. बिहार विधानसभा चुनाव में 5 विधायकों की जीत के बाद असदुद्दीन ओवैसी  की पार्टी एमआईएम  के हौसले बुलंद है. अब पार्टी ने अपनी निगाहें 2022 के विधानसभा चुनाव पर गड़ा दी है. सियासी जमीन और गठबंधन की तलाश में असदुद्दीन ओवैसी बुधवार को लखनऊ पहुंचे और ओमप्रकाश राजभर  की पार्टी से मुलाकात की. ओमप्रकाश राजभर से मुलाकात के बाद पीस पार्टी के नेता अब्दुल मन्नान से भी मुलाकात उन्होंने मुलाकात की. अब्दुल मन्नान ने पीस पार्टी छोड़कर एमआईएम ज्वाइन कर लिया.

शिवपाल यादव से भी मुलाकात की कही बात

मीडिया से बात करते हुए ओवैसी ने कहा कि राजनीति में जब दो लोग एक साथ मुलाकात करते हैं तो इसका मतलब तो आप समझते ही हैं. उन्होंने कहा कि हम ओम प्रकाश राजभर के साथ हैं. उत्तर प्रदेश में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के चीफ शिवपाल सिंह यादव से भी मुलाकात की चर्चाओं पर सवाल के जवाब में ओवैसी ने कहा शिवपाल राजनीति में एक बड़ा चेहरा है. उनसे भी मुलाकात करेंगे. उन्होंने कहा कि बिहार की कामयाबी में राजभर साहब का बड़ा योगदान रहा है और यही वजह है कि हमें कामयाबी मिली.


ममता बनर्जी पर टिप्पणी करते हुए असदुद्दीन ओवैसी ने कहा मैं उनको एक सजेशन देना चाहूंगा कि बिहार के लोगों की तौहीन ना करें और उनको देखना चाहिए कि उनकी पार्टी के लोग पार्टी छोड़कर जा रहे हैं. उन्हें अपनी पार्टी के बारे में सोचना चाहिए.
सीएम योगी को नसीहत

उत्तर प्रदेश में राजनीतिक टिप्पणी पर और राजनीति के सवाल पर ओवैसी कहा कि हैदराबाद में कहावत है गरीब की जोरू सबकी भाभी होती है. उन्होंने कहा कि हम बिहार में 20 सीट पर लड़े और जीते. बाकी सीटों पर वोट जोड़ दिया जाए तो बीजेपी को ज्यादा वोट पड़े. हमारी पार्टी ने कोई वोट नहीं काटा. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के हैदराबाद में जाकर निकाय चुनाव में प्रचार हैदराबाद का नाम बदलकर भाग्यनगर करने की बात कही थी.  इस पर ओवैसी ने कहा हम उत्तर प्रदेश में किसी भी चीज का नाम नहीं बदलेंगे. ओवैसी ने कहा कि योगी आदित्यनाथ और अमित शाह जिस वार्ड में भी प्रचार करने गए वहां पर बीजेपी हारी है.PLC

 

Comments

CAPTCHA code

Users Comment