Close X
Sunday, October 25th, 2020

ऑनलाइन परीक्षा देनी है या ऑफलाइन छात्र कूद तय करे 

गुजरात टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी की तरफ से कहा गया है कि ऑनलाइन और ऑफलाइन परीक्षा पर निर्णय छात्रों के सुझाव पर लिया जाएगा। जीटीयू की तरफ से कहा गया है कि सभी छात्रों से एप्लीकेशन मंगाया जाएगा और उनके चुने हुए फॉर्मेट के आधार पर ऑनलाइन या ऑफलाइन परीक्षा की तैयारी की जाएगी। यूनिवर्सिटी ने छात्राें काे तीन दिन में अपने सुझाव देने को कहा है। हालांकि इससे पहले भी यूनिवर्सिटी की तरफ से छात्राें काे परीक्षा के लिए सुझाव मांगे गए थे, तब जिन छात्रों ने ऑनलाइन परीक्षा के लिए अपनी सहमति दी थी वाे ऑनलाइन परीक्षा में शामिल ही नहीं हुए।

इसलिए इस बार यूनिवर्सिटी के लिए बड़ी चुनौती हाेगी। एप्लीकेशन के मुताबिक यूनिवर्सिटी तय करेगी कि परीक्षा कब और कैसे लेनी है, क्योंकि यूजीसी की तरफ से आदेश दिया गया है कि अंतिम वर्ष के छात्रों की परीक्षा लेना अनिवार्य है। इसके लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही छूट यूनिवर्सिटी और कॉलेजों को दी गई है। इसलिए अब इसके आधार पर परीक्षा की तैयारी की जा रही है। परीक्षा को लेकर छात्र अभी भी असमंजस में हैं। गुजरात में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। इससे ऑफलाइन परीक्षा देने से डर रहे हैं। छात्रों के पास ऑनलाइन परीक्षा देने का साधन नहीं है।  

निर्णय: 30 जुलाई काे ऑनलाइन और 17 अगस्त काे ऑफलाइन परीक्षा

यूनिवर्सिटी की तरफ से ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही परीक्षाओं की तैयारी की गई है, जिसमें छात्रों की तरफ से उनका आवेदन मंगाया गया है। जो छात्र ऑनलाइन परीक्षा देना चाहते हैं उन्हें 30 जुलाई काे परीक्षा में शामिल होना पड़ेगा और जो छात्र ऑफलाइन परीक्षा देना चाहते हैं उन्हें 17 अगस्त काे परीक्षा में शामिल होना पड़ेगा। इसके लिए यूनिवर्सिटी की तरफ से 21 जुलाई से लेकर 24 जुलाई तक छात्रों के पास से आवेदन मंगाए गए हैं और उनके आवेदन के आधार पर छात्रों को अलग किया जाएगा और परीक्षा में शामिल किया जाएगा।

इसके पहले फेल हो चुका है प्लान

यूनिवर्सिटी की तरफ से इसके पहले भी ऑनलाइन परीक्षा लेने की प्लानिंग की गई थी और सभी छात्रों से उनका मंतव्य मंगाया गया था, लेकिन बाद में ऐसे कई छात्र निकले जो कि ऑनलाइन परीक्षा देने के लिए रजिस्ट्रेशन करवा चुके थे, लेकिन बाद में परीक्षा देने आए ही नहीं। इस बार भी यूनिवर्सिटी को यह डर सता रहा है।

ऐसे होगी परीक्षा

ऑनलाइन परीक्षा के लिए जिन छात्रों ने अपनी सहमति जताई होगी। उन्हें यूनिवर्सिटी के नियम के मुताबिक अपने मोबाइल और लैपटॉप लेकर परीक्षा में बैठना होगा। इसके लिए एमसीक्यू प्रश्न के आधार पर परीक्षा देनी होगी। वहीं ऑफलाइन के लिए भी एमसीक्यू आधारित परीक्षा भी ली जाएगी। छात्र को मोबाइल से परीक्षा देनी है या लैपटॉप से इसकी भी जानकारी यूनिवर्सिटी को देनी होगी, जिसके आधार पर यूनिवर्सिटी की तरफ से तैयारी की जाएगी और सभी छात्रों को प्रश्न पत्र उनके तय किए गए हैंडसेट पर ही वहीं आ कर आ जाएगा। पीएलसी।PLC.

 

Comments

CAPTCHA code

Users Comment