Close X
Thursday, April 22nd, 2021

एनआरआई गुरप्रीत कंग देंगे प्रेरणा, अभीप्सित लिखेंगे किताब

आई एन वी सी न्यूज़
चंडीगढ़,  
  • कम उम्र में लेखन शैली से चर्चित हुए अभीप्सित अब लिखेंगे नई किताब
  • एनआरआई गुरप्रीत कंग ने किया अभीप्सित की किताब का कवर विमोचन

एक ओर इंटरप्रेन्योर और निवेशक और लेखक एनआरआई गुरप्रीत कंग और दूसरी ओर पंद्रह वर्षीय बाल लेखक अभीप्सित बाजपेयी। जब दोनों की जुगलबंदी हुई तो तैयार होने लगी एक नई किताब द लाइफ अंडरट्रायल। एक एेसी किताब जिसमें रोमांच, थ्रिल और एक्शन है। इस किताब को बेशक अभीप्सित लिख रहे हैं पर इसके लिए उनको प्रेरणा दे रहे हैं एनआरआई गुरप्रीत कंग। गुरप्रीत कंग अब तक दो किताबें लिख चुके हैं।

गुरप्रीत कंग ने बताया कि अभीप्सित की नई किताब की थीम एक एेसे युवक की कहानी है जो आर्थिक रूप से कमजोर है। यह युवक जिंदगी में हर बड़े मुकाम पर पहुंचना चाहता है पर उसके सामने नए चैलेंज आते है। शायद एेसे ही चैलेंज हरेक के जीवन में आते हों पर जिस युवक की कहानी है वह इन चैलेंज को फेस कर पाएगा या नहीं, यही एक रोमांच और थ्रिल की कहानी को जन्म देता है।

अभीप्सित ने बताया कि किताब लिखने में उन्होंने कई एेसे अनुभव डाले हैं जो कि वास्तविकता में लोगों के रहे हैं। इसके लिए उन्होंने गुरप्रीत कंग से भी प्रेरणा ली है। अभीप्सित ने बताया कि उनको दिन में एक घंटा मिलता है जिसमें वह अपनी किताब लिखते हैं। वह अपने आसपास होने वाली घटनाओं को अवश्य देखते हैं।

दो किताबें हुई हैं लांच
गुरप्रीत कंग ने बताया कि उनकी पहली किताब एब्सोल्यूट लिब्रेशन का विमोचन चंडीगढ़ के पूर्व प्रशासक के सलाहकार विजय देव ने किया था जबकि दूसरी किताब दो मना दा युद्ध का विमोचन प्रसिद्ध साहित्यकार सुरजीत पातर ने किया। उन्होंने कहा कि अब वह भी एक नई किताब लिख रहे हैं। उन्होंने बताया कि चंडीगढ़ में वह जब भी आते हैं तो उनको काफी अच्छा लगता है। उन्होंने कहा कि वह नाइजीरिया में हैं और अभी उनको ज्यादा समय नहीं मिलता है। लाकडाउन के दौरान तो स्थिति एकदम बदल गईं थीं। उस समय उन्होंने वर्क फ्राम होम ही किया।

प्रेरणा से लिखा नावलेट
चंडीगढ़ के होटल माउंटव्यू में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में गुरप्रीत कंग ने कहा कि उनको अभीप्सित चार साल पहले सेक्टर-35 के एक होटल में मिले थे। वहां अभीप्सित को उन्होंने अपनी किताब एब्सोल्यूट लिब्रेशन दी थी। कुछ दिन बाद ही अभीप्सित का फोन आया तो अभीप्सित ने बताया कि उनकी पूरी किताब उसने पढ़ी है। एक बच्चे से एेसी बात सुनकर उनको थोड़ा आश्चर्य हुआ। दो तीन बार अभीप्सित से बातचीत के दौरान उनको लगा कि यह क्रिएटिव है तो उन्होंने एक दिन कहा कि आप भी किताब लिखें। बस उसी दिन से अभीप्सित ने किताब लिखनी शुरू की और एक किताब द डार्क मिस्ट्री लिख चुके हैं।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment